Wednesday, December 1, 2021
Homeदेश-समाजशादीशुदा गुलज़ार ने राज चौधरी के नाम से दिया हिन्दू लड़की को झाँसा: अश्लील...

शादीशुदा गुलज़ार ने राज चौधरी के नाम से दिया हिन्दू लड़की को झाँसा: अश्लील वीडियो, ब्लैकमेलिंग, कई शहरों में हुआ दुष्कर्म

कुछ दिन बाद गुलज़ार उसे घर से भगा ले गया। इसमें गुलज़ार की मदद उसके दोस्त संजीव ने की। गुलज़ार पीड़िता को ले कर रुद्रपुर, मेरठ, दिल्ली और गुरुग्राम गया। इस बीच पीड़िता के साथ लगातार दुष्कर्म होता रहा।

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले से लव जिहाद का मामला आया है। यहाँ आरोपित गुलज़ार अहमद है जो जोगी नवादा का रहने वाला है। गुलज़ार पर आरोप है कि उसने शादीशुदा होते हुए भी दूसरे समुदाय की युवती के साथ शादी का झाँसा देकर दुष्कर्म किया। गुलज़ार पर अपना धर्म छिपाने का भी आरोप है। पीड़िता का कहना है कि पोल खुल जाने पर भी गुलज़ार ने उसके बनाए अश्लील वीडियो के नाम पर उसे लम्बे समय तक ब्लैकमेल किया।

युवती के अनुसार पहले गुलज़ार अहमद उसकी बहन के संपर्क में था। आरोप यह भी है कि गुलज़ार पीड़िता से राज़ चौधरी नाम से मिला था। धीरे-धीरे उसकी भी जान-पहचान गाढ़ी होती चली गई। 2 जनवरी 2018 को गुलज़ार ने पीड़िता को जन्मदिन मनाने के बहाने एक रेस्टोरेंट में बुलाया। फिर बहाने से उसे अपने एक दोस्त सुरेश के घर ले गया। यहाँ पर बियर पिला कर उसके साथ दुष्कर्म किया गया। जब पीड़िता ने विरोध किया तब शादी की बात कह कर उसे चुप करा दिया।

कुछ दिन बाद गुलज़ार उसे घर से भगा ले गया। इसमें गुलज़ार की मदद उसके दोस्त संजीव ने की। गुलज़ार पीड़िता को ले कर रुद्रपुर, मेरठ, दिल्ली और गुरुग्राम गया। इस बीच पीड़िता के साथ लगातार दुष्कर्म होता रहा। कुछ दिन बाद पीड़िता को गुलज़ार के विवाहित होने की जानकारी हुई। तब गुलज़ार अहमद ने अपनी पत्नी को तलाक दे कर उससे शादी की बात कही। थोड़े समय के बाद जब पीड़िता को गुलजार के मुस्लिम समुदाय से होने की जानकारी हुई तो वो नाराज हुई।

इसके बाद गुलज़ार ने उसको अश्लील फोटो और वीडियो के बहाने ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। आख़िरकार पीड़िता ने पुलिस में इसकी शिकायत की और न्याय माँगा। बरेली पुलिस के इंस्पेक्टर कोतवाली हिमांशु निगम के मुताबिक युवती ने इस मामले में गुरुग्राम में निल क्राइम नंबर पर गुलजार अहमद और संजीव के खिलाफ केस दर्ज कराया था। अब यह मुकदमा ट्रांसफर होने के बाद कोतवाली में दर्ज किया गया है। मामले की जाँच चल रही है और जो भी दोषी पाया जाएगा उसके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,754FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe