Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजमाँ दुर्गा की मंदिर में घुसे, प्रतिमा की ऊँगलियाँ तोड़ी, चक्र फेंका-उखाड़ दिया ध्वज:...

माँ दुर्गा की मंदिर में घुसे, प्रतिमा की ऊँगलियाँ तोड़ी, चक्र फेंका-उखाड़ दिया ध्वज: हिंदू संगठनों का प्रदर्शन, बरेली पुलिस ने दर्ज की FIR

पुजारी निर्मान सिंह ने बताया है कि मंगलवार को जब सुबह वे मंदिर आए तो माँ दुर्गा की मूर्ति के बाएँ हाथ की ऊँगलियाँ और सीमेंट से बना चक्र असामाजिक तत्वों द्वारा तोड़ दिया गया था। प्रतिमा का मुकुट भी निकाल कर फर्श पर फेंक दिया गया था।

उत्तर प्रदेश के बरेली में एक मंदिर में घुस कर मूर्तियों को क्षतिग्रस्त करने का मामला सामने आया है। यह मंदिर दुर्गा माता का है। प्रतिमा की ऊँगलियों को तोड़ दिया गया। चक्र फेंक दिया गया। हिंदू संगठनों ने घटनास्थल पर पहुँच कर विरोध-प्रदर्शन किया। पुजारी की तहरीर पर पुलिस ने FIR दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है। घटना मंगलवार (23 मई 2023) की है।

घटना बरेली के थाना हाफिजगंज इलाके की है। मंदिर गाँव रिठौरा में बना है। यहाँ के पुजारी निर्मान सिंह ने पुलिस में घटना की शिकायत दर्ज करवाई है। निर्मान सिंह के मुताबिक वे मंदिर में रोज सुबह की पूजा और संध्या की आरती करने आते हैं। घटना के दिन का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि मंगलवार को जब सुबह वे मंदिर आए तो माँ दुर्गा की मूर्ति के बाएँ हाथ की ऊँगलियाँ और सीमेंट से बना चक्र असामाजिक तत्वों द्वारा तोड़ दिया गया था। प्रतिमा का मुकुट भी निकाल कर फर्श पर फेंक दिया गया था।

शिकायत कॉपी

शिकायत में बताया गया है कि मंदिर में लगे ध्वज को भी उखाड़ कर फेंक दिया गया था। मंदिर परिसर में लगे केले के पौधे को भी क्षतिग्रस्त किया गया है। शिकायत में स्थानीय निवासियों ने भी दस्तखत करते हुए आरोपितों पर कानूनी कार्रवाई की माँग की है। क्षतिग्रस्त मूर्तियों के वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। घटना की जानकारी मिलती ही आसपास के श्रद्धालुओं के साथ मौके पर हिन्दू संगठन के कार्यकर्ता भी पहुँच गए। इन सभी ने पुलिस से आरोपितों की पहचान कर उन पर कड़ी कार्रवाई की माँग की।

इस मामले में बरेली पुलिस ने थाना हाफिजगंज में FIR दर्ज कर ली है। पुलिस का कहना है कि कानूनी कार्रवाई की जा रही है। आरोपित की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं। फ़िलहाल अभी तक किसी गिरफ्तारी की सूचना नहीं है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termshttps://hindi.opindia.com/miscellaneous/dharma-culture/know-about-tamil-nadu-thanjavur-brihadeshwara-temple-amazing-facts/ https://hindi.opindia.com/opinion/political-issues/nehru-israel-palestine-policy-islamic-country-indian-muslims/ साल 1920 की जनगणना में जैन बाहुल्य था हुसैनपुर कला गाँव अब जैन विहीन हैं 100 साल में 300% बढ़ी है मुस्लिम आबादी न सिर्फ जैन बल्कि हिन्दू भी हुए हैं कम साल 1974 में डकैती पड़ी वहां के नामी जैन व्यापारी के घर 3 साल बाद फिर डकैती पड़ी दूसरे जैन व्यापारी के यहाँ साल 1992 में जैन पिता-पुत्र की हत्या हुई कुछ जैन लड़कियां लव जिहाद की शिकार हुईं इसके बाद वहां से पलायन शुरू हो गया जैनियों का इन तीनों घटनाओं में आस-पास के लोग तो मुसलमानों का हाथ बता रहे लेकिन खुद जैन कभी खुल कर नहीं बोला ये बात बरेली, मंदिर में तोड़फोड़, बरेली मंदिर तोड़फोड़, बरेली न्यूज, bareilly, temple, idol vandialised, bareilly temple attack
ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20000 महिलाओं को रेप-मौत से बचाने के लिए जब कॉन्ग्रेसी मंत्री ने RSS से माँगी थी मदद: एक पत्र में दर्ज इतिहास, जिसे छिपा...

पत्र में कहा गया था कि आरएसएस 'फील्ड वर्क' के लिए लोगों को अत्यधिक प्रशिक्षित करेगा और संघ प्रमुख श्री गोलवरकर से परामर्श लिया जा सकता है।

कागज तो दिखाना ही पड़ेगा: अमर, अकबर या एंथनी… भोले के भक्तों को बेचना है खाना, तो जरूरी है कागज दिखाना – FSSAI अब...

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि कांवड़ रूट में नाम दिखने पर रोक लगाई जा रही है, लेकिन कागज दिखाने पर कोई रोक नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -