Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजहिंसाग्रस्त बंगाल में BJP नेता की हत्या: अपराधियों ने पहले रॉड से कार का...

हिंसाग्रस्त बंगाल में BJP नेता की हत्या: अपराधियों ने पहले रॉड से कार का शीशा तोड़ा, उसके बाद अंधाधुन गोलियाँ बरसाईं, 2 साथी भी घायल

राजू दिसंबर 2021 में हुए विधानसभा चुनाव से पहले तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गए थे। वाम मोर्चे के शासन के दौरान राजू पर सिलपांचल में कोयला तस्करी का आरोप लगाया गया था। तृणमूल सरकार में उनके खिलाफ कई मामले भी दर्ज हुए। उन्हें तस्करी के आरोप में गिरफ्तार भी किया गया था।

बंगाल में रामनवमी पर शुरू हुई हिंसा के बीच भाजपा के एक नेता की हत्या कर दी गई है। पूर्व वर्धमान जिले में शनिवार (1 अप्रैल 2023) की देर रात राजू झा उर्फ राकेश की मारकर हत्या कर दी गई। इस हमले में भाजपा नेता के दो अन्य साथी भी घायल हुए हैं।

दुर्गापुर के रहने वाले कारोबारी राजू कोलकाता जा रहे थे। रास्ते में शक्तिगढ़ थाना क्षेत्र के अमरा के एक मिठाई दुकान पर कुछ खाने के लिए रुके। इसी दौरान हमलावर आए और उन पर अंधाधुन गोलियाँ बरसा दीं। राजू की मौके पर ही मौत हो गई।

फायरिंग के दौरान भगदड़ मच गई। कहा जा रहा है कि उन्हें पाँच गोलियाँ लगी हैं। वहीं, उनके साथी ब्रथिन मुखर्जी की हालत गंभीर है। राजू कोयला और होटल के कारोबार से जुड़े थे। उन्हें कोयला तस्करी के मामले में गिरफ्तार भी किया गया था।

पुलिस ने बताया कि राजू दुकान के बाहर अपनी कार में इंतजार कर रहे थे, तभी एक कार में दो बदमाश वहाँ पहुँचे। एक आरोपित ने रॉड से उनकी कार का शीशा तोड़ दिया और दूसरे ने उन पर गोली बरसानी शुरू कर दीं। इस दौरान राजू के साथ मौजूद दो अन्य लोग भी घायल हो गए। उनका इलाज किया जा रहा है।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि राजू अपने दो साथियों के साथ सफेद फॉर्च्यूनर गाड़ी में बैठे थे। हमलावर नीले रंग की गाड़ी से आए थे। उसके बाद ड्राइविंग सीट के बगल वाली सीट पर बैठे राजू पर गोलियाँ बरसा दीं।

राजू दिसंबर 2021 में हुए विधानसभा चुनाव से पहले तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए थे। वाम मोर्चे के शासन के दौरान राजू पर सिलपांचल में कोयला तस्करी का आरोप लगाया गया था। तृणमूल सरकार में उनके खिलाफ कई मामले भी दर्ज हुए।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया है। बर्धमान के एसपी कामनासिस सेन ने बताया कि आरोपितों ने किस मकसद से हत्या की, अभी इसका पता नहीं चला है। आरोपितों की पहचान करने की कोशिश की जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तिब्बत को संरक्षण देने के लिए अमेरिका ने बनाया कानून, चीन से दो टूक – दलाई लामा से बात करो: जानिए क्या है उस...

14वें दलाई लामा 1959 में तिब्बत से भागकर भारत आ गये, जहाँ उन्होंने हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में निर्वासित सरकार स्थापित की थी।

बिहार में निर्दलीय शंकर सिंह ने जदयू-राजद को हराया, बंगाल में 25 साल की मधुपूर्णा बनीं MLA, हिमाचल में CM सुक्खू की पत्नी जीतीं:...

उप-मुख्यमंत्री व भाजपा नेता विजय सिन्हा ने कहा कि शंकर सिंह भी हमलोग से ही जुड़े हुए उम्मीदवार थे। 'नॉर्थ बिहार लिबरेशन आर्मी' के थे मुखिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -