Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजतिरंगा जलाने की बात, महिला प्रिंसिपल को गाली: गणतंत्र दिवस पर किशनगंज के सरकारी...

तिरंगा जलाने की बात, महिला प्रिंसिपल को गाली: गणतंत्र दिवस पर किशनगंज के सरकारी स्कूल में राष्ट्रीय ध्वज का अपमान, मोहम्मद आबिद की तलाश

स्कूल का नाम उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय है। यह किशनगंज के कोचाधामन प्रखंड के धनपुरा में पड़ता है। शिकायत किशनगंज के जिला शिक्षा पदाधिकारी और प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी कोचाधामन को भेजी गई है।

बिहार (Bihar) के किशनगंज में 26 जनवरी 2022 (बुधवार) को एक सरकारी स्कूल में तिरंगा (राष्ट्रध्वज) जलाने के प्रयास की शिकायत की गई। आरोपित का नाम आबिद हुसैन है। शिकायत स्कूल की महिला प्रिंसिपल ने दर्ज कराई है। उन्होंने आरोपित पर गाली-गलौज का भी आरोप लगाया है। शिकायत का पत्र भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वायरल हो रहे शिकायती पत्र में लिखा है, “26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर कोविड गाइडलाइन्स का पालन करते हुए कुछ बच्चों और अतिथियों की मौजूदगी में झंडोत्तोलन किया जा रहा था। तभी गाँव घनपुरा का रहने वाला मोहम्मद आबिद हुसैन स्कूल में पहुँच गया। आबिद ने वहाँ गाली-गलौज की। उसने राष्ट्रीय ध्वज जलाने की धमकी दी। वो राष्ट्र ध्वज को उतार कर फेंकने की कोशिश करने लगा। उसने मुझे जातिसूचक गालियाँ दीं। मुझे धक्का दिया गया। मुझे से कहा गया कि तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरे बजाए अपने आप से झंडा फहराने की। अगर वहाँ मौजूद लोग बीच-बचाव न करते तो अनर्थ हो जाता। आबिद को भी स्कूल के नाइट गार्ड द्वारा झंडोत्तोलन की सूचना दी गई थी।”

स्कूल का नाम उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय है। यह किशनगंज के कोचाधामन प्रखंड के धनपुरा में पड़ता है। शिकायत किशनगंज के जिला शिक्षा पदाधिकारी और प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी कोचाधामन को भेजी गई है। पत्र में आबिद हुसैन पर FIR दर्ज करने की माँग की गई है।

ऑपइंडिया ने शिकायतकर्ता प्रिंसिपल मंजू कुमारी से बात की। उन्होंने बताया, “मैं साल 2003 से इसी स्कूल में पढ़ा रही हूँ। इस से पहले ऐसी घटना नहीं हुई थी। आरोपित आबिद हुसैन किस नेता के करीब है इस पर मुझे कुछ नहीं कहना है। बहुत पहले उनसे जमीन खरीद कर स्कूल बना था। लेकिन अभी भी आबिद इसे अपनी जमीन बताते हैं। मैंने उन्हें 5 बार फोन कर के गणतंत्र दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बुलाया था। लेकिन उन्होंने फोन बंद कर दिया था। उनका ही भाई इज़हार आलम इसी स्कूल में नाइट गार्ड है। उससे संदेश भी भिजवाया लेकिन जवाब आया कि आबिद आप से बहुत नाराज हैं। गणतंत्र दिवस के दिन आबिद ने अचानक ही आकर तिरंगे को जलाने की धमकी दी और मुझे जातिसूचक और भद्दी-भद्दी गालियाँ देने लगे थे। सबने बीच-बचाव कर जैसे-तैसे मामले को शांत करवाया। कल पुलिस आई थी उन्हें खोजने के लिए। हम पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट हैं।”

ऑपइंडिया को किशनगंज के पुलिस अधीक्षक इनामुल हक ने बताया, “खुद को न बुलाए जाने से नाराज एक व्यक्ति ने ऐसी हरकत की है। हमने केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं। मैं खुद भी घटनास्थल पर गया था। रात में पुलिस ने दबिश भी दी है। जल्द ही आरोपित को पकड़ लिया जाएगा। किसी भी हाल में ऐसी घटनाओं को सहन नहीं किया जाएगा। लॉ एन्ड आर्डर की स्थिति मौके पर सामान्य है। मामले में कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिन्होंने इमरजेंसी लगाई वे संविधान के लिए न दिखाएँ प्यार’: कॉन्ग्रेस को PM मोदी ने दिखाया आईना, आपातकाल की 50वीं बरसी पर देश मना...

इमरजेंसी की 50वीं बरसी पर पीएम मोदी ने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही लोगों को याद दिलाया कि कैसे उस समय लोगों से उनके अधिकार छीने गए थे।

इधर केरल का नाम बदलने की तैयारी में वामपंथी, उधर मुस्लिम संगठनों को चाहिए अलग राज्य: ‘मालाबार स्टेट’ की डिमांड को BJP ने बताया...

केरल राज्य को इन दिनों जहाँ 'केरलम' बनाने की माँग जोरों पर है तो वहीं इस बीच एक मुस्लिम नेता ने माँग की है कि मालाबार को एक अलग राज्य बनाया जाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -