Friday, August 6, 2021
Homeदेश-समाज15 वर्षीय छात्रा को मैथ टीचर मो. दानिश बहलाकर ढाई महीने से था फरार,...

15 वर्षीय छात्रा को मैथ टीचर मो. दानिश बहलाकर ढाई महीने से था फरार, पुलिस की सख्ती से हुआ गिरफ्तार

पुलिस ने मोहम्मद दानिश की अम्मी और अब्बू को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इसके बाद दो महीना 13 दिन के बाद पुलिस ने आखिरकार मोहम्मद दानिश और उसके परिवार को गिरफ्तार कर लिया।

लव जिहाद का खेल पटना में भी जारी है। पटना पुलिस ने एक नाबालिग छात्रा को अपने प्यार में फँसाकर भगा ले जाने वाले शिक्षक मोहम्मद दानिश को सोमवार (दिसंबर 2, 2019) को गिरफ्तार किया। मोहम्मद दानिश लगभग ढाई महीने से फरार था। पुलिस ने उसे पटना के दानापुर इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। दानिश के साथ नाबालिग छात्रा को भी गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि नाबालिग छात्रा दूसरे धर्म की है। फिलहाल दोनों को पुलिस सुरक्षा में सोमवार को दानापुर कोर्ट में पेशी के लिए भेज दिया गया है।

लड़की के घरवालों के मुताबिक मामला लव जिहाद का है। उनका आरोप है कि दानिश ने लड़की का धर्म परिवर्तन कराकर उसके साथ शादी रचाने के लिए उसे लेकर भागा था। जानकारी के मुताबिक लगभग दो महीने पहले दानापुर खगौल से मोहम्मद दानिश नाम का मैथ टीचर अपनी ही 15 वर्षीय स्टूडेंट, जो कि दूसरे धर्म की बताई जाती है को लेकर फरार हो गया था और उसका धर्मांतरण कराने की भी फिराक में था।

इसके बाद लड़की के पिता ने स्थानीय थाने में शिक्षक मोहम्मद दानिश और उसके परिवार वालों के खिलाफ 17 सितंबर को पुत्री के अपहरण का मामला दर्ज कराया था। आरोप है कि नाबालिग छात्रा को मोहम्मद दानिश ने बहला फुसला कर शादी की नीयत से अगवा कर फरार हो गया था। पुलिस ने दानिश के घर पर इश्तेहार भी चिपकाया था। इसके बाद दानिश के परिजन घर में ताला बंद कर फरार चल रहे थे।

बाद में पुलिस ने मोहम्मद दानिश की अम्मी और अब्बू को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इसके बाद दो महीना 13 दिन के बाद पुलिस ने आखिरकार मोहम्मद दानिश और उसके परिवार को गिरफ्तार कर लिया। वहीं दानिश युवती से किसी भी तरह का धर्म परिवर्तन और शादी करने से इंकार कर रहा है। दानिश का कहना है कि उसने लड़की को दो महीने तक अपने साथ रखा और उसे कोलकात्ता घुमाता रहा। फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले को जाँच का विषय बता रही है। पुलिस का कहना है कि हर बिंदु को ध्यान में रखते हुए जाँच की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,169FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe