Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाज57 विदेशी तबलीगी बिहार में गिरफ्तार: आए थे टूरिस्ट वीजा पर लेकिन कर रहे...

57 विदेशी तबलीगी बिहार में गिरफ्तार: आए थे टूरिस्ट वीजा पर लेकिन कर रहे थे इस्लाम का प्रचार, मस्जिद था ठिकाना

किर्गिस्तान निवासी 17 जमाती पर्यटन वीजा पर भारत आए थे लेकिन वीजा नियमों का उल्लंघन करते हुए धार्मिक प्रचार कर रहे थे। इन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई और उन्हें जेल भेज दिया गया है।

दिल्ली मरकज से बड़ी संख्या में निकाले गए जमातियों के बाद से देश भर में जमातियों को खोजने का अभियान जारी है। कुछ इसी तरह बिहार में चलाए जा रहे अभियान के तहत बिहार पुलिस ने मंगलवार को विभिन्न जिलों में मौजूद तबलीगी जमात से जुड़े 57 विदेशी जमातियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इन जमातियों को पुलिस ने मस्जिद में छिपने, पुलिस को सूचना न देने और वीजा नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

लगातार मस्जिदों में की जा रही छापेमारी के दौरान मंगलवार को बिहार पुलिस ने प्रदेश के विभिन्न जिलों की मस्जिदों में छिपे बैठे तबलीगी जमात से जुड़े 57 विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार कर लिया। इन सभी विदेशी नागरिकों पर वीजा नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है। गिरफ्तार किए गए सभी विदेशियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है। इसके बाद सभी को अदालत में पेश किया जाएगा।

अमर उजाला की खबर के मुताबिक पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उपेंद्र शर्मा ने बताया कि किर्गिस्तान निवासी कुल 17 लोग पर्यटन वीजा पर भारत आए थे और वीजा नियम का उल्लंघन करते हुए धार्मिक प्रचार कार्य कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इन लोगों के खिलाफ विदेशी अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई और उन्हें जेल भेज दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक 23 मार्च को पुलिस ने इन लोगों को पटना के दीघा और फुलवारीशरीफ थाना क्षेत्र से हिरासत में लेकर उनकी पटना एम्स में मेडिकल जाँच कराई थी और कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं पाए जाने पर सभी को क्वारंटाइन किया गया था।

वहीं किशनगंज के पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष ने बताया कि पर्यटन वीजा पर देश में आए 10 इंडोनेशिया और एक मलेशिया के नागरिक को वीजा नियम का उल्लंघन किए जाने और किशनगंज आने की जानकारी स्थानीय पुलिस को नहीं देने के मामले में इनके विरुद्ध सदर थाने में प्राथमिकी दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

उन्होंने कहा कि 31 मार्च को इनकी मेडिकल जाँच कराई गई थी, जिसकी रिपोर्ट चार दिनों के बाद आई और जाँच में सभी में कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं पाया गया था। वहीं अररिया जिला में वीजा के नियमों का उल्लंघन के आरोप में तब्लीगी जमात से जुड़े 18 विदेशियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधीक्षक धूरत सायली ने बताया कि गिरफ्तार किए गए विदेशियों में नौ मलेशियाई और नौ बांग्लादेशी शामिल हैं।

इनमें से 9 मलेशियाई नागरिकों के खिलाफ अररिया नगर थाने में जबकि 9 बांग्लादेशी नागरिकों के विरूद्ध नरपतगंज थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। दिल्ली से अररिया पहुँचे इन मलेशियाई नागरिकों की 24 मार्च को मेडिकल जाँच कराई गई थी और उनमें कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए गए थे, इसके बाद भी सभी को क्वरंटाइन किया गया था, लेकिन क्वरंटाइन का पीरियड समाप्त होते ही पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CPI(M) सरकार ने महादेव मंदिर पर जमाया कब्ज़ा, ताला तोड़ घुसी पुलिस: केरल में हिन्दुओं का प्रदर्शन, कइयों ने की आत्मदाह की कोशिश

श्रद्धालुओं के भारी विरोध के बावजूद केरल की CPI(M) सरकार ने कन्नूर में स्थित मत्तनूर महादेव मंदिर का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया है।

राम ‘छोकरा’, लक्ष्मण ‘लौंडा’ और ‘सॉरी डार्लिंग’ पर नाचते दशरथ: AIIMS वाले शोएब आफ़ताब का रामायण, Unacademy से जुड़ा है

जिस वीडियो को लेकर विवाद है, उसे दिल्ली AIIMS के छात्रों ने शूट किया है। इसमें रामायण का मजाक उड़ाया गया है। शोएब आफताब का NEET में पहला रैंक आया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,325FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe