Wednesday, January 19, 2022
Homeदेश-समाज'बार-बार पढ़ाते ह्यूमन प्रजनन तंत्र, पोर्न दिखाते... कहते यही भविष्य में काम आएगा': MP...

‘बार-बार पढ़ाते ह्यूमन प्रजनन तंत्र, पोर्न दिखाते… कहते यही भविष्य में काम आएगा’: MP में छात्राओं की शिकायत पर शिक्षक गिरफ्तार

छात्राओं ने आरोप लगाया है कि आरोपित शिक्षक आए दिन उन्हें केवल ह्यूमन रिप्रोडक्टिव चैप्टर ही पढ़ाता और कहता था कि यही भविष्य में उनके काम आने वाला है।

मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) के गुना (Guna) जिले से मानवता को शर्मसार करने वाली वारदात सामने आई है। यहाँ एक सरकारी स्कूल का बायोलॉजी विभाग का शिक्षक पढ़ाई के बहाने छात्राओं के साथ छेड़छाड़ (Eve teasing) करता था। उस पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं। पीड़ित छात्राओं की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए गुरुवार (23 दिसंबर 2021) को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपित शिक्षक का नाम प्रदीप सोलंकी है, छात्राओं को पढ़ाने के नाम पर उनसे छेड़छाड़ करता था और उन्हें पोर्न फिल्म दिखाता था। इस घटना को लेकर छात्राओं ने आरोप लगाया है कि आरोपित शिक्षक आए दिन उन्हें केवल ह्यूमन रिप्रोडक्टिव चैप्टर (प्रजनन तंत्र) ही पढ़ाता और कहता था कि यही भविष्य में उनके काम आने वाला है। 12वीं की कक्षा में बायोलॉजी विभाग में केवल 7 छात्राएँ हैं, जिनमें से 6 लड़कियों ने बुधवार (22 दिसंबर 2021) को कैंट थाने में इसकी शिकाय़त की।

इसके अलावा छात्राओं ने हॉस्टल के वॉर्डन को भी पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने शिक्षक की करतूत का खुलासा किया है। छात्राओं ने बताया है कि शिक्षक केवल एक ही चैप्टर बार-बार पढ़ाते हैं और पढ़ाते वक्त पोर्न वीडियो भी दिखाते थे। एक छात्रा के मुताबिक, आरोपित शिक्षक क्लासरूम की जगह बायोलॉजी की लैब में अधिक क्लास लेते थे। वह कहते हैं कि बहुत जल्द प्रिंसिपल बनने वाला हूँ मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ नहीं पाएगा। छात्रा ने बताया कि एक जब वो अपनी दोस्त के साथ प्रैक्टकल की कॉपी लेने के लिए गई थी तो आरोपित ने उसकी दोस्त से छेड़छाड़ की। वो किसी तरह से वहाँ से बचकर भागी।

टीचर के निलंबन का प्रस्ताव

आरोपित शिक्षक की करतूत सामने आने के बाद बाल कल्याण समिति की टीम भी स्कूल की जाँच करने के लिए पहुँची। जाँच टीम के आने की खबर मिलते ही स्कूल की पुरानी छात्राएँ भी वहाँ पहुँच गई। उन्होंने खुलासा किया कि आरोपित शिक्षक उनके साथ भी वैसी ही हरकतें करता था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

‘एक्सप्रेस प्रदेश’ बन रहा है यूपी, ग्रामीण इलाकों में भी 15000 Km सड़कें: CM योगी कुछ यूँ बदल रहे रोड इंफ्रास्ट्रक्चर

योगी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में 5 वर्षों में 15,246 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया। उत्तर प्रदेश में जल्द ही अब 6 एक्सप्रेसवे हो जाएँगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,216FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe