Wednesday, December 7, 2022
Homeदेश-समाजकॉन्ग्रेसियों ने BJP सांसद व भाजपा कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, बरसाए ईंट-पत्थर: 9...

कॉन्ग्रेसियों ने BJP सांसद व भाजपा कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, बरसाए ईंट-पत्थर: 9 बार के कॉन्ग्रेस MLA पर आरोप

भाजपा सांसद के वहाँ पहुँचने पर नारेबाजी शुरू हो गई। कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं की संख्या अधिक थी। प्रमोद तिवारी 9 बार रामपुर खास से विधायक रहे हैं और पिछले दो बार से उस सीट पर उनकी बेटी का कब्ज़ा है।

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता की पिटाई की गई है। 9 बार के विधायक प्रमोद तिवारी और कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं पर इस घटना को अंजाम देने के आरोप लगे हैं। सांगीपुर में ‘गरीब कल्याण मेला’ के दौरान कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला कर दिया। सांसद संगम लाल गुप्ता पर भी हमला हुआ और उनके कपड़े फाड़ डाले गए, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें किसी तरह निकाल लिया।

भाजपा सांसद की गाड़ी और और काफिले में शामिल लगभग आधा दर्जन वाहनों को लाठी-डंडों व ईंट-पत्थर से मार कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया। सांसद पर हमले की सूचना के बाद पुलिस भी आनन-फानन में वहाँ पहुँची। इस दौरान एक इंस्पेक्टर पर भी हमला किया गया। शनिवार (25 सितंबर, 2021) को हुए हमले में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं पर भाजपा वालों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटने के भी आरोप हैं।

कार्यक्रम में आए लोगों ने किसी तरह वहाँ से भाग कर अपनी जान बचाई, लेकिन वहाँ घंटों अफरातफरी का माहौल बना रहा। कार्यक्रम में पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी और उनकी बेटी और कांग्रेस की विधायक आराधना मिश्रा मोना मौजूद थीं। भाजपा सांसद के वहाँ पहुँचने पर नारेबाजी शुरू हो गई। कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं की संख्या अधिक थी। प्रमोद तिवारी 9 बार रामपुर खास से विधायक रहे हैं और पिछले दो बार से उस सीट पर उनकी बेटी का कब्ज़ा है।

सांसद गुप्ता के समर्थकों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया और गाड़ी के पास ही सांसद को भी घेर लिया गया। पुलिस के आने पर प्रमोद तिवारी भाजपा कार्यकर्ताओं की ही शिकायत करने लगे। किसी तरह सांसद को भीड़ से बाहर निकाला गया। उनका कहना है कि कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने जानलेवा हमला किया था। उन्होंने बताया कि 50-60 लोग पूर्व-नियोजित साजिश के तहत ईंट-पत्थर लेकर उनका इंतजार ही कर रहे थे।

सांसद ने बताया, “जब इंस्पेक्टर सांगीपुर ने गुंडों को हटाने का प्रयास किया तो वह कोतवाल सांगीपुर को जमीन पर पटक कर मारने लगे। जब मैंने इसका विरोध किया तो हमलावरों ने मेरे ऊपर धावा बोल दिया। सुरक्षाकर्मियों ने किसी तरह हमलावरों के चंगुल से छुड़ाकर मुझे बाहर निकाला। मुझे भी काफी चोट लगी है और मेरे कपड़े फाड़ डाले गए हैं। हमारी कई गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। हमारे समर्थकों और भाजपा कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी तमिल संगमम: जीवंत परंपराओं को आत्मसात करने की विशेषता ही भारतीय सांस्कृतिक संपूर्णता का आधार

प्रथम तमिल संगम मदुरै में हुआ था जो पाण्ड्य राजाओं की राजधानी थी और उस समय अगस्त्य, शिव, मुरुगवेल आदि विद्वानों ने इसमें हिस्सा लिया था।

AAP को बहुमत, लेकिन भाजपा का ही होगा मेयर? LG नॉमिनेट करेंगे 12 पार्षद और बदल जाएगा खेल?- MCD पर इस दावे में कितना...

MCD चुनाव के बाद AAP की मुश्किलें खत्म नहीं हुईं। मेयर और MCD चुनावों में दल-बदल कानून लागू नहीं होने के कारण क्रॉस वोटिंग की गुंजाइश है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
237,221FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe