Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजमाँ माटी मानुष के नाम पर वोट... और माँ को मार रहे TMC के...

माँ माटी मानुष के नाम पर वोट… और माँ को मार रहे TMC के गुंडे: BJP कार्यकर्ता की माँ होना पीड़िता का एकमात्र दोष

भाजपा की मंडल कमिटी के सदस्य गोपाल और उनकी माँ पर बंदूक के पिछले भाग का इस्तेमाल करते हुए हमला किया गया और इतना पीटा गया कि दोनों के चेहरे सहित शरीर के कई अंगों पर गहरी चोट आई है।

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक बदले की दुर्भावना से प्रेरित होकर हिंसा की एक और घटना सामने आई है। शुक्रवार (फरवरी 26, 2021) की रात एक भाजपा कार्यकर्ता और उनकी बुजुर्ग माँ की जम कर पिटाई की गई।

हिंसा की इस घटना का आरोप सत्ताधारी TMC के गुंडों पर लगा है। ये घटना तब सामने आई है, जब पश्चिम बंगाल में होने वाले 8 चरण के विधानसभा चुनावों के लिए तारीखों के ऐलान के बाद ममता बनर्जी खुद को ‘बंगाल की बेटी’ बता कर मैदान में हैं।

रात 1:30 में हुई उक्त घटना नॉर्थ दमदम शहर स्थित निमता के वार्ड संख्या-6 की है। पीड़ित का नाम गोपाल मजूमदार है। उन पर और उनकी माँ पर बंदूक के पिछले भाग का इस्तेमाल करते हुए हमला किया गया और इतना पीटा गया कि दोनों के चेहरे सहित शरीर के कई अंगों पर गहरी चोट आई है।

निमता पुलिस थाने में इस मामले में FIR दर्ज की जा चुकी है। पीड़ित भाजपा कार्यकर्ता ने 3 TMC गुंडों पर हिंसा का आरोप लगाया।

गोपाल मजूमदार ने कहा कि तीनों उनके घर में घुस गए और मारपीट शुरू कर दी। आरोप है कि उन्होंने पहले घर में घुस कर अपशब्दों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया और पूछने लगे कि भाजपा में उक्त कार्यकर्ता की क्या भूमिका है।

पीड़ित ने बताया कि कुछ गुंडे घर के बाहर भी खड़े थे, जिन्हें वो पहचान नहीं पाए। उन्होंने बताया कि गुंडों ने उनकी माँ को धक्का देकर गिरा दिया और मारपीट के बाद घर से निकल कर चले गए।

बंगाल भाजपा के कार्यकर्ता और उनकी बुजुर्ग माँ पर हमला

पीड़ित ने बताया, “मैं भाजपा की मंडल कमिटी का सदस्य हूँ। सबसे पहले तो उन्होंने हाथों का इस्तेमाल कर के मुझे मारा, फिर रिवॉल्वर के हुड का इस्तेमाल कर के मेरे सिर पर जोरदार वार किया। जब मैं जमीन पर गिर गया तो उन्होंने मुझे लात-घूसों से मारना शुरू कर दिया।”

एक स्थानीय व्यक्ति ने बताया कि इस क्षेत्र में TMC के गुंडों के आतंक का बोलबाला है और गोपाल मजूमदार के बाद उन्होंने अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं को भी निशाना बनाया है।

गोपाल की माँ ने रोते हुए बताया कि गुंडों ने उनकी भी पिटाई की। उन्होंने बताया कि वो गुंडे तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ता थे और उन्होंने उनके बेटे के भाजपा में जुड़े होने की वजह से हमला किया।

पीड़ित बुजुर्ग महिला ने बताया कि वो लोग शाम से ही घर के बाहर मँडरा रहे थे। बंगाल भाजपा ने हिंसा पीड़ित महिला की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि बंगाल की ‘असली बेटियों’ की यही हालत है। इस मामले में TMC के एक कमल शाह का नाम सामने आया है।

एक स्थानीय भाजपा नेता ने बताया कि कमल शाह ने धमकी दी थी कि भाजपा नहीं छोड़ने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। उक्त नेता ने इस घटना के खिलाफ मार्च निकालने का ऐलान करते हुए कहा कि कमल शाह ने इलाके में आतंक का माहौल बना रखा है और उसके इशारे पर ही भाजपा कार्यकर्ता गोपाल के साथ हिंसा हुई।

भाजपा के कई नेताओं ने सोशल मीडिया के माध्यम से इस घटना पर अपना रोष व्यक्त किया। उधर शुक्रवार की रात को TMC के गुंडे भाजपा के गोदाम में घुस गए और पार्टी की पब्लिसिटी गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया। इस मामले में कोलकाता पुलिस के समक्ष एक आधिकारिक शिकायत भी दर्ज करा दी गई है।

घटना फूल बागान पुलिस थाने की है। भाजपा की चुनावी गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया और साथ ही वहाँ रखी कई कीमती वस्तुओं को भी उठा कर ले गए। जहाँ ये घटना हुई, उसी जगह कदापारा इलाके में भाजपा का दफ्तर है। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe