Sunday, April 14, 2024
Homeदेश-समाजBMC ने कराई अपनी किरकिरी: कोविड वैक्सीन के लिए जारी किया था ग्लोबल टेंडर,...

BMC ने कराई अपनी किरकिरी: कोविड वैक्सीन के लिए जारी किया था ग्लोबल टेंडर, किसी ने नहीं लगाई बोली

बीएमसी ने टीकों की खरीद के लिए सख्त शर्तें लगाई थीं। शर्तों में से एक यह थी कि बोली लगाने वाले वैक्सीन निर्माता को वर्क ऑर्डर जारी होने की तारीख से 3 सप्ताह के भीतर खुराक देनी होगी। वैक्सीन निर्माताओं के लिए 1 करोड़ वैक्सीन खुराक की डिलीवरी के लिए इतना कम समय पर्याप्त नहीं था।

वैक्सीन निर्माताओं द्वारा एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट (ईओआई) जमा करने की अंतिम तिथि मंगलवार (18 मई 2021) को समाप्त हो गई है। वहीं, बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के हाथ सिर्फ निराशा ही लगी। टीकाकरण प्रक्रिया को तेजी लाने के लिए BMC ने बुधवार (12 मई 2021) को विदेशों में वैक्सीन निर्माताओं से एक करोड़ खुराक की खरीद के लिए ग्लोबल टेंडर जारी किया था। ऐसा करने वाला यह देश का पहला नगर निगम बन गया, लेकिन इसे किसी वैक्सीन निर्माता से एक भी बोली नहीं मिली।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीएमसी ने टीकों की खरीद के लिए सख्त शर्तें लगाई थीं। शर्तों में से एक यह थी कि बोली लगाने वाले वैक्सीन निर्माता को वर्क ऑर्डर जारी होने की तारीख से 3 सप्ताह के भीतर खुराक देनी होगी। वैक्सीन निर्माताओं के लिए 1 करोड़ वैक्सीन खुराक की डिलीवरी के लिए इतना कम समय पर्याप्त नहीं था।

गौरतलब है कि अधिकांश वैश्विक कंपनियाँ टीकों की बढ़ती माँग को पूरा करने के लिए संघर्ष कर रही हैं और मौजूदा ऑर्डर के पीछे भाग रही हैं। भले ही बीएमसी ने फाइजर, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन जैसी कोविड वैक्सीन के विदेशी निर्माताओं के लिए अपना टेंडर खोल रखा था, लेकिन ऐसी सभी कंपनियों को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) से पहले मंजूरी लेने होती है।

नगरीय निकाय ने वैक्सीन निर्माताओं के लिए यह शर्त भी रखी थी कि बीएमसी के पास ये सुविधाएँ उपलब्ध नहीं होने की स्थिति में उन्हें भंडारण सुविधाओं की व्यवस्था करनी होगी। ऐसी कठोर शर्तों, स्वीकृत कार्यों के लंबित होने, लचीलेपन की कमी और वितरण प्रक्रिया जटिल होने के कारण वैक्सीन निर्माताओं ने भी इस प्रस्ताव को लेकर खास रूचि नहीं दिखाई।

उल्लेखनीय है कि फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए बेहद कम तापमान की आवश्यकता होती है। फाइजर कोविड-19 वैक्सीन के भंडारण के लिए शून्य से 70 डिग्री सेल्सियस कम तापमान चाहिए होता है। भारत के ज्यादातर हिस्सों में कोल्ड चेन में सबसे कम शून्य से 25 डिग्री सेल्सियस नीचे तक के तापमान में टीके रखे जा सकते हैं। देश के कस्बों, गाँवों और सुदूर क्षेत्रों में इतने कम तापमान वाली कोल्ड स्टोरेज चेन नहीं हैं, ऐसे में वैक्सीन को वहाँ तक पहुँचाना बेहद कठिन होता है।

इसके अलावा बीएमसी टेंडर में यह भी शर्त रखी गई थी कि कंपनियों को कोई एडवांस भुगतान नहीं किया जाएगा और वैक्सीन की डिलीवरी में देरी होने पर उन पर जुर्माना भी लगाया जाएगा।

बता दें कि मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर के 13 मई 2021 को कहा था कि टीके के लिए ग्लोबल टेंडर जारी करने वाले हम दुनिया के पहले नगर निगम हैं। उन्होंने बताया कि टेंडर जमा करने की अंतिम तिथि 18 मई है वर्क ऑर्डर पूरा होने के बाद, उन्हें 3 सप्ताह से कम समय में टीके वितरित करने होंगे। इसके लिए आईसीएमआर (ICMR) और डीसीजीआई (DCGI) के दिशानिर्देशों को पूरा करना है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ईरान ने ड्रोन-मिसाइल से इजरायल पर किए हमले: भारत आ रहे यहूदी अरबपति के मालवाहक जहाज को भी कब्जे में लिया, 17 भारतीय हैं...

ईरान ने इजरायल पर ड्रोन और मिसाइल से हवाई हमले किए हैं। इससे पहले एक मालवाहक जहाज को जब्त किया था, जिस पर 17 भारतीय सवार थे।

सलमान खान के घर के बाहर चली गोलियाँ, दो बंदूकधारी फरार: पुलिस CCTV देख जाँच में जुटी, एक्टर की बढ़ाई गई सुरक्षा

सलमान खान के गैलेक्सी अपार्टमेंट के बाहर गोलियाँ चली हैं। बताया जा रहा है कि हमलावर बाइक पर सवार होकर आए थे जिन्होंने अपार्टमेंट के बाहर 2-3 राउंड गोलियाँ चलाईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe