Friday, August 6, 2021
Homeदेश-समाजहिन्दुओं से आजादी: फैक्ट चेकर BoomLive ने किया फर्जी Fact-Check: खुद ही देखिए...

हिन्दुओं से आजादी: फैक्ट चेकर BoomLive ने किया फर्जी Fact-Check: खुद ही देखिए वीडियो

'फैक्ट-चेकिंग' वेबसाइट BoomLive ने जामिया में हुई हिंसा के दौरान हिन्दुओं के ख़िलाफ़ लगाए गए नारे की ऑपइंडिया की ख़बर का ग़लत fact-check किया। जबकि वीडियो में AMU के परिसर में हिन्दुत्व, सावरकर, भाजपा, ब्राह्मणवाद और जातिवाद की कब्र खोदने के नारे लगा रहे हैं।

‘फैक्ट-चेकिंग’ वेबसाइट BoomLive ने जामिया में हुई हिंसा के दौरान हिन्दुओं के ख़िलाफ़ लगाए गए नारे की ऑपइंडिया की ख़बर का ग़लत fact-check किया। इस ख़बर में ऑपइंडिया ने दावा किया था कि जामिया मिलिया इस्लामिया में ‘हिन्दुओं से आज़ादी’ के नारे लगाए गए थे। वहीं, BoomLive ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में 12 दिसंबर को लगाए नारे का एक fact-check किया। इसमें मुस्लिम भीड़ को ‘हिन्दुओं की कब्र खुदेगी’ ‘AMU की छाती पर’ नारे हिन्दू-विरोधी नारे लगाते सुना जा सकता है।

उपरोक्त वीडियो में मुस्लिम भीड़ तंत्र एक सुर में यह कहता दिखता है कि वे AMU के परिसर में हिन्दुत्व, सावरकर, भाजपा, ब्राह्मणवाद और जातिवाद की कब्र खोदेंगे।

जबकि बहुतों ने ‘हिन्दुत्व’ के रूप में ‘हिन्दुओं’ शब्द का इस्तेमाल किया। BoomLive ने इस ख़बर का fact-check किया लेकिन, इसमें उन्होंने इस बात का उल्लेख नहीं किया कि यह वीडियो कल का नहीं बल्कि संभवतः पिछले सप्ताह का है।

वहीं, ऑपइंडिया ने जो वीडियो शेयर किया, वह रविवार को नई दिल्ली के जामिया नगर में हुए विरोध-प्रदर्शनों का था। इसका उल्लेख ऑपइंडिया ने YouTube पर भी किया और साथ ही लेख में भी इस वीडियो को अपलोड किया।

जामिया नगर में शूट किए गए इस वीडियो के छठे सेकंड में आप सुन सकते हैं कि एक व्यक्ति यह कहता दिखता है कि वो मोदी, अमित शाह और हिन्दुओं से ‘आज़ादी’ लेकर रहेंगे। 

जबकि BoomLive ने अपने fact-check में ऑपइंडिया पर निशाना साधते हुए लिखा कि ख़बर में इस बात का उल्लेख नहीं किया कि जो वीडियो लगा हुआ है वो जामिया नगर का है या AMU का।

बता दें कि BoomLive को फेसबुक द्वारा ’स्पॉट फ़ेक न्यूज़’ के लिए भुगतान और अधिकार दिया जाता है और इसी वजह से वो ख़बरों को गंभीरता से लिए बिना ही केवल प्रोपेगेंडा फ़ैलाने में व्यस्त रहते हैं।

जामिया और AMU में हिंसक प्रदर्शन पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, कहा- सुनेंगे पर पहले हिंसा रुकनी चाहिए

रेडियो मिर्ची की RJ सायमा ने पहले लोगों को पुलिस मुख्यालय घेरने के लिए बुलाया, फिर ट्वीट डिलीट कर भागी

उपद्रव, उत्तेजक नारों के बाद जामिया कैंपस में दाखिल हुई दिल्ली पुलिस, काबू में हालात

जामिया में लगे ‘हिंदुओं से आजादी’ के नारे; AAP विधायक अमानतुल्लाह कर रहा था हिंसक भीड़ की अगुवाई

पुलिस ने लगाई बसों में आग: अमानतुल्लाह का बचाव करने के लिए सिसोदिया ने फैलाया झूठ

जामिया में मजहबी नारे ‘नारा-ए-तकबीर’, ‘ला इलाहा इल्लल्लाह’ क्यों लग रहे? विरोध तो सरकार का है न?


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,173FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe