Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजहिस्ट्रीशीटर अशोक यादव के घर पर UP पुलिस का बुलडोजर, 1 घंटे में मिट्टी...

हिस्ट्रीशीटर अशोक यादव के घर पर UP पुलिस का बुलडोजर, 1 घंटे में मिट्टी में मिला दी तीन मंजिला इमारत: कॉन्स्टेबल की कर दी थी हत्या

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में एक पुलिस कॉन्स्टेबल की हत्या करने वाले ईनामी हिस्ट्रीशीटर अशोक यादव उर्फ मुन्ना यादव के घर पर बुलडोजर चल गया है। गुरुवार (4 जनवरी 2024) को गिराए गए इस घर को लेकर प्रशासन ने कहा कि यह अवैध रूप से बनाया गया था। किलेनुमा बनाए गए इस घर का नक्शा पास नहीं कराया गया था।

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में एक पुलिस कॉन्स्टेबल की हत्या करने वाले ईनामी हिस्ट्रीशीटर अशोक यादव उर्फ मुन्ना यादव के घर पर बुलडोजर चल गया है। गुरुवार (4 जनवरी 2024) को गिराए गए इस घर को लेकर प्रशासन ने कहा कि यह अवैध रूप से बनाया गया था। किलेनुमा बनाए गए इस घर का नक्शा पास नहीं कराया गया था।

इससे एक दिन पहले राजस्व विभाग की टीम ने धरनीधीरपुर नगरिया गाँव में स्थित अशोक यादव के बंकरनुमा घर से सारा सामान निकलवाकर बटाईदार को सौंप दिया गया था। बता दें कि 25 दिसंबर 2023 को एक नोटिस की तामील कराने गए पुलिस कॉन्स्टेबल सचिन राठी पर अशोक यादव और उसके बेटे ने फायरिंग कर दी थी। इसमें राठी की मौत हो गई थी।

इस मामले में पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर अशोक यादव, उसकी पत्नी और नाबालिग बेटे को पहले ही गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। अशोक यादव ने अपने घर के चारों तरफ कई सीसीटीवी कैमरे लगवा रखे थे। वह इन्हीं सीसीटीवी कैमरों में देखकर ही उसने पुलिस बल पर गोलियाँ चला दी थी।

जिस दिन सचिन राठी पर फायरिंग की गई थी, उसी दिन कुछ देर बाद ही पुलिस ने मुन्ना यादव और उसके बेटे के पैर में गोली मारकर दोनों को पकड़ लिया था। इसके साथ ही उसकी पत्नी को भी गिरफ्तार कर लिया गया था। अशोक यादव और उसके बेटे को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में बेटे को बाल सुधार गृह भेज दिया गया था।

अशोक यादव के घर पर बुलडोजर चलाने की कार्रवाई सिपाही सचिन राठी हत्याकांड के 11वें दिन की गई है। तीन मंजिल के इस घर को एक घंटे में गिरा दिया गया। बताते चलें कि सचिन राठी की दो महीने बाद ही शादी होने वाली थी। उनकी मंगेतर भी उत्तर प्रदेश पुलिस में सिपाही के पद पर तैनात हैं। घटना के बाद से मंगेतर और सचिन राठी के घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -