Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजCAA का विरोध करने वाले पहुँचे तो समर्थन में हनुमान चालीसा पढ़ रहे 19...

CAA का विरोध करने वाले पहुँचे तो समर्थन में हनुमान चालीसा पढ़ रहे 19 लोगों को छत्तीसगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार

देश में एक तरफ सीएए के ख़िलाफ लोगों का जगह-जगह प्रदर्शन जारी है। वहीं दूसरी ओर बड़ी संख्या में लोग सीएए के समर्थन में रैलियाँ निकाल रहे हैं। इसी बीच बीते दिनों छत्तीसगढ़ के रिवर व्यू पर बड़ी संख्या में लोग सीएए के समर्थन भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगा रहे थे। तभी....

छत्तीसगढ़ में सीएए के समर्थन में हनुमान चालीसा पढ़ रहे लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई पुलिस ने उस समय में की, कि जब वहाँ लोग बड़ी संख्या में सीएए के ख़िलाफ रैली निकालते हुए सरकार के ख़िलाफ नारेबाजी कर रहे थे। दोनों ओर से समर्थकों के एक साथ मिलने पर भिड़ंत की आशंका को देखते हुए पुलिस ने 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। मामला मंगलवार (21 जनवरी) की रात का है।

देश में एक तरफ सीएए के ख़िलाफ लोगों का जगह-जगह प्रदर्शन जारी है। वहीं दूसरी ओर बड़ी संख्या में लोग सीएए के समर्थन में रैलियाँ निकाल रहे हैं। इसी बीच बीते दिनों छत्तीसगढ़ के रिवर व्यू पर बड़ी संख्या में लोग सीएए के समर्थन भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगा रहे थे। बाद में ये सभी लोग एक स्थान पर बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करने लगे। इस दौरान सीएए के खिलाफ रैली निकाल रहे दूसरे पक्ष के लोग भी प्रदर्शन करते हुए वहाँ पहुँच गए और देखते ही देखते दोनों ओर से समर्थन और विरोध में नारे लगाने लगे।

इसकी जानकारी जैसे ही क्षेत्रीय पुलिस मिली, तो वह तत्काल मौके पर पहुँची गई। इतना ही नहीं पुलिस ने चंद मिनटों के भीतर समर्थन में बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे लोगों को गिरफ्तार कर लिया। जहाँ से सभी को सिटी कोतवाली थाने लाया गया। इसके बाद पुलिस ने सीएए के समर्थन में हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे 19 के खिलाफ धारा 151 के तहत कार्रवाई कर दी, हालाँकि, पुलिस ने सभी को मुचलके पर छोड़ दिया।

एएसपी सिटी ओपी शर्मा का कहना है कि जो लोग समर्थन में आए थे, उन्होंने सभा करने या रैली निकालने की अनुमति नहीं ली थी। इसलिए शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए उन्हें गिरफ्तार किया गया था। वहीं आरएसएस कार्यकर्ता मनीष राय का कहना था कि एक दिन पहले ही अनुमति लेने का आवेदन दिया था, जिसके बाद मंगलवार को ही एएसपी ओपी शर्मा ने खुद ही दोपहर दो बजे अनुमति मिलने की सूचना दी थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,739FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe