Saturday, April 13, 2024
Homeदेश-समाजDM के बाद अब छत्तीसगढ़ के SDM की 'गुंडई' - पहले थप्पड़ मारा, फिर...

DM के बाद अब छत्तीसगढ़ के SDM की ‘गुंडई’ – पहले थप्पड़ मारा, फिर सड़क पर करवाई उठक-बैठक… कोई कार्रवाई नहीं

छत्तीसगढ़ के सूरजपुर का कलेक्टर रणबीर शर्मा थप्पड़ मारता है। SDM भला पीछे कैसे रहता। सूरजपुर के ही भैयाथान के एसडीएम प्रकाश सिंह राजपूत ने भी थप्पड़ मारा। मन नहीं भरा तो बीच सड़क पर उठक-बैठक भी करवाई।

छत्तीसगढ़ के सूरजपुर में कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा एक युवक को थप्पड़ मारने का मामला चल ही रहा था कि इसी बीच एक और वीडियो सामने आया है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा ये वीडियो सूरजपुर के ही भैयाथान के एसडीएम प्रकाश सिंह राजपूत का है। एसडीएम ने लॉकडाउन के दौरान सड़क पर दिख गए एक युवक को पहले तो थप्पड़ जड़ा, फिर उससे बीच सड़क पर उठक-बैठक भी करवाई। बताया जा रहा है कि अभी तक SDM पर कार्रवाई करने की कोई बात सामने नहीं आई है।

इस वीडियो में लोग सीएम भूपेश बघेल को टैग कर ट्विटर पर शेयर कर रहे हैं। वीडियो में आप देख सकते हैं कि एसडीएम लॉकडाउन का पालन करवाने के लिए कैसे सड़क पर दादागिरी पर उतर आए हैं। वह लोगों से उठक-बैठक करवा रहे हैं और सबको भगा रहे हैं। इसी बीच एसडीएम को ये युवक मिल गया, जिसको उन्होंने बीच सड़क पर थप्पड़ जड़ दिया। इतना ही नहीं उसके बाद उससे सबके सामने उठक-बैठक भी करवाई। इस दौरान वह युवक हाथ जोड़कर माफी माँगता नजर आया।

दरअसल, इससे पहले छत्तीसगढ़ में ही शनिवार (मई 22, 2021) की दोपहर को कलेक्टर साहब की दबंगई देखने को मिली थी। कलेक्टर रणबीर सिं​ह ने सड़क पर निकले एक युवक का मोबाइल पटककर तोड़ दिया और इसके बाद उसको थप्पड़ जड़ दिया था। हालाँकि, घटना का वीडियो वायरल होने के बाद कलेक्टर साहब रणबीर शर्मा ने अपने व्यवहार के लिए माफी माँगी है।

रणबीर शर्मा ने अपने बयान में कहा, “उसने कहा कि वह टीकाकरण के लिए बाहर गया था, लेकिन उनके पास कोई उचित दस्तावेज नहीं था। बाद में उसने कहा कि वह अपनी दादी से मिलने जा रहा है। जब उसने दुर्व्यवहार किया तो मैंने गुस्से में उसे थप्पड़ मार दिया। वह 23-24 साल का था, 13 साल का नहीं। मुझे खेद है और अपने व्यवहार के लिए क्षमा चाहता हूँ।”

इस मामले को लेकर राज्य की किरकिरी होने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि किसी भी अधिकारी का शासकीय जीवन में इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है। बता दें कि कलेक्टर शर्मा पर साल 2015 में रिश्वतखोरी का आरोप भी लग चुका है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘राष्ट्रपति आदिवासी हैं, इसलिए राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में नहीं बुलाया’: लोकसभा चुनाव 2024 में राहुल गाँधी ने फिर किया झूठा दावा

राष्ट्रपति मुर्मू को राम मंदिर ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करने वाले एक प्रतिनिधिमंडल ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के लिए औपचारिक रूप से आमंत्रित किया गया था।

‘शबरी के घर आए राम’: दलित महिला ने ‘टीवी के राम’ अरुण गोविल की उतारी आरती, वाल्मीकि बस्ती में मेरठ के BJP प्रत्याशी का...

भाजपा के मेरठ लोकसभा सीट से उम्मीदवार और अभिनेता अरुण गोविल जब शनिवार को एक दलित के घर पहुँचे तो उनकी आरती उतारी गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe