Tuesday, September 28, 2021
Homeदेश-समाज'भाई (दाऊद) के घर से बात कर रहा हूँ, कराची से रॉकेट मारूँगा': रिपोर्ट...

‘भाई (दाऊद) के घर से बात कर रहा हूँ, कराची से रॉकेट मारूँगा’: रिपोर्ट में दावा- छोटा शकील ने किया कॉल, परमबीर सिंह से जुड़ा मामला

"देखो एक बात क्लियर बताओ। पाकिस्तान का तो तुझे पता ही है न.. क्या है पाकिस्तान? इधर बम बाँधेगा और उधर जाएगा। उड़ा देगा तेरे को और ख़त्म हो जाएगी बात।"

मुंबई पुलिस ने एक कॉल ट्रांसक्रिप्ट जुटाया है, जो अंडरवर्ल्ड के अपराधी छोटा शकील का बताया जा रहा है। छोटा शकील ने फोन कर के मुंबई के एक कारोबारी को धमकी दी थी। मुंबई के पुलिस कमिश्नर रहे परमबीर सिंह और उनके कुछ साथी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ दर्ज रंगदारी के मामले में उस कारोबारी का नाम आया था। छोटा शकील ने श्याम सुंदर अग्रवाल की तरफ से उक्त कारोबारी को धमकी दी थी।

‘मिड डे’ की खबर के अनुसार, उसके द्वारा एक्सेस किए गए ट्रांसक्रिप्ट से ये चीजें पता चली हैं। छोटा शकील से कनेक्शन को लेकर श्याम सुंदर अग्रवाल को मुंबई पुलिस ने महाराष्ट्र के सख्त कानून MCOCA (Maharashtra Control of Organised Crime Act) के तहत बुक किया था। अब मुंबई पुलिस SIT को शक है कि अग्रवाल के खिलाफ वाला मामला फर्जी था। परमबीर सिंह के खिलाफ शिकायतकर्ताओं में एक अग्रवाल का भी नाम है।

मुंबई पुलिस का कहना है कि दाऊद इब्राहिम के करीबी गुर्गे छोटा शकील के ये रिकॉर्डिंग्स हाल के ही हैं। संजय पुनमिया नाम के कारोबारी को फोन पर धमकी मिली थी। जिस फोन नंबर से कॉल किया गया था, वो मुंबई पुलिस के क्राइम क्राइम ब्रांच में दर्ज है और छोटा शकील का ही है। छोटा शकील कराची से इस नंबर का इस्तेमाल रंगदारी माँगने में कर रहा है। इस फोन कॉल में जो आवाज़ है, वो भी उसकी ही बताई जा रही है।

हालाँकि, MCOCA कोर्ट में ये साबित किया जाना है कि ये छोटा शकील की ही आवाज़ है, जिसके लिए उसकी आवाज़ के एक सैम्पल से इसे मैच कराया जाएगा। लेकिन, लॉकडाउन की वजह से इसमें देरी हो रही है। पुनमिया को ये फोन कॉल नवंबर-दिसंबर 2016 में किए गए थे। उन्हें कहा गया था कि वो अपने बिजनेस पार्टनर श्याम सुंदर अग्रवाल के साथ एक डील पर हस्ताक्षर करें। कुछ संपत्तियों को लेकर ये डील होनी थी।

फरवरी 2021 में पीड़ित कारोबारी ने जुहू पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई, जिसके आधार पर FIR दर्ज किया गया। परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी मामलों की जाँच कर रही DCP निमित गोयल के नेतृत्व वाली SIT इस बात की जाँच में लगी है कि 2016 के मामले की FIR 2021 में क्यों हुई। शक है कि ये FIR फर्जी है और बिजनेस डील पर साइन करने हेतु दबाव बनाने के लिए ऐसा किया गया है।

SIT द्वारा जिन अधिकारियों की जाँच की जा रही है, उन्होंने ही इस FIR को दर्ज किया था। मैरीन ड्राइव थाने में परमबीर सिंह के खिलाफ मामला चल रहा है। पिछले महीने उसने पुनमिया और सुनील जैन को गिरफ्तार भी किया था। शक है कि पुलिस अधिकारियों ने ही छोटा शकील को कहा होगा कि वो ऐसा दिखाए कि अग्रवाल की तरफ से फोन कॉल कर रहा है। दाऊद इब्राहिम के भाई इक़बाल कसकर के खिलाफ अग्रवाल ने ही शिकायत दर्ज कराई थी।

इकबाल को 2017 में ठाणे पुलिस ने धर-दबोचा था। उस समय परमबीर सिंह वहाँ के पुलिस कमिश्नर थे और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा ठाणे के रंगदारी निरोधी सेल के प्रमुख थे। हाल ही में एंटीलिया बम केस और कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में शर्मा को NIA ने गिरफ्तार किया था। अग्रवाल के भतीजे शरद की शिकायत के बाद सिंह के खिलाफ कोपरी पुलिस थाने में पिछले महीने एक और FIR हुई थी। छोटा शकील और संजय पुनमिया में कुछ इस तरह बात हुई थी:

संजय पुनमिया: हैलो
छोटा शकील: हैलो, संजय बोल रहा है?
संजय पुनमिया: हाँ जी, संजय बात कर रहा हूँ।
छोटा शकील: पहचाना तूने?
संजय पुनमिया: जी
छोटा शकील: तो तूने श्याम को अंदर क्यों कराया?
संजय पुनमिया: मैंने थोड़ी न शिकायत की है।
छोटा शकील: मैं भाई (दाऊद) के घर से बात कर रहा हूँ। तेरे को इधर कराची से ही रॉकेट मारूँगा।
संजय पुनमिया: आप थोड़ा तमीज से बात कर सकते हो न?
छोटा शकील: तेरे को तमीज सिखाएँगे, तू औकात में आ जा। (छोटा शकील का कोई गुर्गा: मुंबई नॉर्मल होगी तो तेरे को फिर से ठोकते हैं।)

जहाँ तक शरद द्वारा दर्ज FIR की बात है, उन्होंने आरोप लगाया था कि परमबीर सिंह के बँगले पर एक DCP ने उनसे 20 करोड़ रुपए की रंगदारी की माँग की थी। साथ ही कहा था कि रुपए देने पर उसके खिलाफ MCOCA नहीं लगाया जाएगा। तब सिंह ठाणे के कमिश्नर थे। शरद का कहना है कि पुनमिया के जरिए उन्होंने 9 करोड़ रुपए दिए भी थे। जब छोटा शकील ने धमकी भरे कॉल किए, तब 2016 में सिंह ठाणे के और 2020 में मुंबई के पुलिस कमिश्नर थे। 2016 के एक दूसरे कॉल में कुछ इस तरह से बातचीत हुई:

संजय पुनमिया: हैलो
छोटा शकील: हाँ संजय, संजय दत्त का छोटा भाई
संजय पुनमिया: हैलो
छोटा शकील: हाँ, बेटा तू सँभल जा
संजय पुनमिया: मैं कर रहा हूँ न सेटलमेंट। मुझे 2-4 दिन का समय दो। आप एकदम क्यों परेशान कर रहे हो मुझे?
छोटा शकील: नहीं, नहीं नहीं नहीं… देखो एक बात क्लियर बताओ। पाकिस्तान का तो तुझे पता ही है न.. क्या है पाकिस्तान?
संजय पुनमिया: अरे मुझे क्या करना है कौन हिंदुस्तान में है और कौन पाकिस्तान में?
छोटा शकील: इधर बम बाँधेगा और उधर जाएगा। उड़ा देगा तेरे को और ख़त्म हो जाएगी बात।
संजय पुनमिया: अरे मैं आपको कुछ बोल रहा हूँ?
छोटा शकील: तू आराम से सेटल कर। आज रात तक फोन कर के मुझे बता। समझ गया?

इसके बाद कारोबारी संजय पुनमिया को छोटा शकील का तीसरा धमकी भरा फोन कॉल नवंबर 2020 में आया था। जहाँ तक अग्रवाल की बात है, उसके खिलाफ भी मुंबई और ठाणे पुलिस में 19 FIR दर्ज हैं। 2016 में कई करोड़ के जमीन के घोटाले में उसे ठाणे क्राइम ब्रांच ने उसे गिरफ्तार भी किया था। उसी साल नवंबर में इस घोटाले का खुलासा हुआ था। SIT अब इस पूरे मामले को जोड़ कर जाँच कर रही है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe