Wednesday, September 29, 2021
Homeदेश-समाजअमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, SDRF की 3 टीमें तैनात: होंजार गाँव में...

अमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, SDRF की 3 टीमें तैनात: होंजार गाँव में लोगों को बचाने पहुँची सेना, देखें वीडियो

पवित्र अमरनाथ गुफा में लगातार बारिश और बादल फटने की सूचना के मद्देनजर गंड और कंगन के क्षेत्रों में आम जनता को सिंध नदी से दूर रहने के लिए कहा गया है। आशंका है कि पानी के प्रवाह में अचानक वृद्धि हो सकती है।

जम्मू-कश्मीर के पहलगाम में अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने की खबर आ रही है। राहत की बात ये है कि आपदा प्रबंधन अधिकारियों ने अभी तक इस घटना में किसी के घायल होने या जान जाने की बात नहीं कही है। प्राकृतिक आपदा के समय गुफा में एक भी यात्री मौजूद नहीं था।

अधिकारियों ने बताया है कि गुफा के पास पहले से ही राज्य आपदा मोचन बल (SDRF) की दो टीमें वहाँ मौजूद थीं। इसके अलावा गांदरबल से एक अतिरिक्त टीम को तैनात किया गया है। मालूम हो कि अमरनाथ गुफा दक्षिण कश्मीर में 3,880 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।

कंगन के एसडीपीओ ने बताया कि पवित्र अमरनाथ गुफा में लगातार बारिश और बादल फटने की जानकारी के मद्देनजर गंड और कंगन के क्षेत्रों में आम जनता को सिंध नदी से दूर रहने के लिए कहा गया। आशंका है कि पानी के प्रवाह में अचानक वृद्धि हो सकती है। SDRF की एक और टीम को गांदरबल से घटनास्थल के लिए भेज दिया गया है।

इससे पहले बुधवार की सुबह ही जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले के एक सुदूर गाँव में बादल फटने से 7 लोगों की मौत की खबर आई थी। वहीं 17 के घायल होने का मालूम चला था। अधिकारियों ने बताया कि दाचन तहसील के होंजार गाँव में सुबह करीब 4:30 बजे बादल फटने के कारण एक पुल के अलावा छोटी नदी के किनारे बने 6 मकान और 1 राशन की दुकान भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। इलाके में पुलिस, सेना और SDRF का संयुक्त राहत अभियान चल रहा है, ये टीमें लापता 14 लोगों की तलाश में जुटी हैं।

जानकारी के लिए बता दूँ कि बादल फटने से होंजार गाँव अचानक बाढ़ की चपेट में आ गया था। बचाव की कमान संभालते ही भारतीय सेना ने भोजन और राशन का प्रबन्ध कर दिया है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर कहा है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में बादल फटने की घटना के कारण पैदा हुई स्थिति पर करीब नजर रख रही है और प्रभावित क्षेत्रों में हर संभव मदद पहुँचाई जा रही है। इधर, गृह मंत्री अमित शाह ने भी जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह से बात की और स्थिति के बारे में जानकारी हासिल की है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उमर खालिद को मिली मुस्लिम होने की सजा’: कन्हैया के कॉन्ग्रेस ज्वाइन करने पर छलका जेल में बंद ‘दंगाई’ के लिए कट्टरपंथियों का दर्द

उमर खालिद को पिछले साल 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था, वो भी उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के मामले में। उसपे ट्रंप दौरे के दौरान साजिश रचने का आरोप है

कॉन्ग्रेस आलाकमान ने नहीं स्वीकारा सिद्धू का इस्तीफा- सुल्ताना, परगट और ढींगरा के मंत्री पदों से दिए इस्तीफे से बैकफुट पर पार्टी: रिपोर्ट्स

सुल्ताना ने कहा, ''सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के साथ एकजुटता दिखाते हुए’ इस्तीफा दे रही हूँ।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
125,039FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe