Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजअमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, SDRF की 3 टीमें तैनात: होंजार गाँव में...

अमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, SDRF की 3 टीमें तैनात: होंजार गाँव में लोगों को बचाने पहुँची सेना, देखें वीडियो

पवित्र अमरनाथ गुफा में लगातार बारिश और बादल फटने की सूचना के मद्देनजर गंड और कंगन के क्षेत्रों में आम जनता को सिंध नदी से दूर रहने के लिए कहा गया है। आशंका है कि पानी के प्रवाह में अचानक वृद्धि हो सकती है।

जम्मू-कश्मीर के पहलगाम में अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने की खबर आ रही है। राहत की बात ये है कि आपदा प्रबंधन अधिकारियों ने अभी तक इस घटना में किसी के घायल होने या जान जाने की बात नहीं कही है। प्राकृतिक आपदा के समय गुफा में एक भी यात्री मौजूद नहीं था।

अधिकारियों ने बताया है कि गुफा के पास पहले से ही राज्य आपदा मोचन बल (SDRF) की दो टीमें वहाँ मौजूद थीं। इसके अलावा गांदरबल से एक अतिरिक्त टीम को तैनात किया गया है। मालूम हो कि अमरनाथ गुफा दक्षिण कश्मीर में 3,880 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।

कंगन के एसडीपीओ ने बताया कि पवित्र अमरनाथ गुफा में लगातार बारिश और बादल फटने की जानकारी के मद्देनजर गंड और कंगन के क्षेत्रों में आम जनता को सिंध नदी से दूर रहने के लिए कहा गया। आशंका है कि पानी के प्रवाह में अचानक वृद्धि हो सकती है। SDRF की एक और टीम को गांदरबल से घटनास्थल के लिए भेज दिया गया है।

इससे पहले बुधवार की सुबह ही जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले के एक सुदूर गाँव में बादल फटने से 7 लोगों की मौत की खबर आई थी। वहीं 17 के घायल होने का मालूम चला था। अधिकारियों ने बताया कि दाचन तहसील के होंजार गाँव में सुबह करीब 4:30 बजे बादल फटने के कारण एक पुल के अलावा छोटी नदी के किनारे बने 6 मकान और 1 राशन की दुकान भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। इलाके में पुलिस, सेना और SDRF का संयुक्त राहत अभियान चल रहा है, ये टीमें लापता 14 लोगों की तलाश में जुटी हैं।

जानकारी के लिए बता दूँ कि बादल फटने से होंजार गाँव अचानक बाढ़ की चपेट में आ गया था। बचाव की कमान संभालते ही भारतीय सेना ने भोजन और राशन का प्रबन्ध कर दिया है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर कहा है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में बादल फटने की घटना के कारण पैदा हुई स्थिति पर करीब नजर रख रही है और प्रभावित क्षेत्रों में हर संभव मदद पहुँचाई जा रही है। इधर, गृह मंत्री अमित शाह ने भी जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह से बात की और स्थिति के बारे में जानकारी हासिल की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -