Saturday, February 4, 2023
Homeदेश-समाजजौनपुर में दलितों के घरों को जलाया: आलम, जावेद सहित सभी आरोपितों पर NSA...

जौनपुर में दलितों के घरों को जलाया: आलम, जावेद सहित सभी आरोपितों पर NSA लगाने का CM योगी का आदेश

शहबाज नामक लड़के का दलित बस्ती के बच्चों से बकरियाँ चराने को लेकर विवाद हो गया था। इसके बाद रात में मुस्लिम पक्ष के सैकड़ों लोगों ने मिलकर लाठी-डंडों से लैस दलित बस्ती में हमला बोल दिया। इस दौरान आरोपितों ने हवाई फायरिंग, वाहनों में तोड़फोड़ और कई घरों को आग के हवाले कर दिया। घटना में एक भैंस, 3 बकरियाँ जल कर राख हो गईं।

उत्तर प्रदेश के जिला जौनपुर में सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के भदेठी गाँव में मामूली से विवाद के बाद मुस्लिम समुदाय द्वारा दलित बस्ती को आग के हवाले करने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपनाया है। मामले का संज्ञान लेते हुए सीएम योगी ने अधिकारियों को सभी आरोपितों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

गाँव में अभी तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है, जिसके कारण बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ पीएसी के जवान तैनात हैं। सीएम योगी ने मामले का संज्ञान लेते हुए दलितों के घर फूँकने के मुख्य आरोपी नूर आलम और जावेद सिद्दीकी समेत सभी आरोपितों पर तत्काल एनएसए के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

साथ ही सीएम ने इलाके के थाना प्रभारी के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है। वहीं सीएम योगी सभी दलित पीड़ितों को तत्काल आवास योजना के तहत आवास और अन्य सरकारी मदद देने की बात कही है।

बुधवार (10 जून, 2020) को गाँव भदेठी पहुँचे मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, आईजी विजय सिंह मीना ने हालात का जायजा लिया और पीड़ित परिवारों से मिलकर उन्हें न्याय का भरोसा दिलाया। साथ ही उन्होंने बताया कि पुलिस से आरोपियों पर एनएसए के तहत कार्रवाई करने को कहा गया है।

आईजी ने बताया कि विवाद दिन में भी हुआ था। इसके बाद दोनों गुटों ने समझौता कर लिया। बाद में कुछ लोगों के बहकाने पर एक पक्ष ने रात में दूसरे पक्ष की बस्ती में घुसकर तोड़फोड़ और आगजनी की। पुलिस के द्वारा सभी को चिह्नित किया जा रहा है। फिलहाल हालात नियंत्रण में है और अब तक 35 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। अन्य की तलाश की जा रही है।

दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक घटना में पुलिस ने 57 नामदज, जबकि 100 अज्ञात लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए 35 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही पुलिस शेष आरोपितों की तलाश में रात-दिन छापेमारी कर रही है। इतना ही नहीं, घटना के बाद पुलिस की कार्रवाई से डरे-सहमे कुछ लोगों ने गाँव से पलायन करना भी शुरू कर दिया है।

दरअसल जौनपुर जिले के सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के गाँव भदेठी में मंगलवार (9 जून, 2020) को गाँव के ही शहबाज नामक लड़के का दलित बस्ती के बच्चों से बकरियाँ चराने को लेकर विवाद हो गया था। इसके बाद दोनों समुदाय के लोगों में दिन में कहासुनी हो गई, लेकिन रात में मुस्लिम पक्ष के सैकड़ों लोगों ने मिलकर लाठी-डंडों से लैस दलित बस्ती में हमला बोल दिया।

इस दौरान आरोपितों ने हवाई फायरिंग, वाहनों में तोड़फोड़ और कई घरों को आग के हवाले कर दिया था। घटना में एक भैंस और तीन बकरियाँ जल कर राख हो गईं। वहीं एक सिलेंडर में लगी आग के बाद हुए विस्फोट से भारी नुकसान हुआ।

हालात को काबू करने के लिए कई थानों की पुलिस फोर्स को रात में ही तैनात कर दिया गया था। घटना के बाद गाँव भदेठू पहुँचे जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह व पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने घटना स्थल मुआयना किया और स्थिति को नियंत्रण करने में लगे रहे, जिसके बाद जिलाधिकारी ने हिंसा फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई करने की बात कही।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान ने Wikipedia को किया बैन, ‘ईशनिंदा’ वाले कंटेंट हटाने को राजी नहीं हुई कंपनी

पाकिस्तान ने कथित ईशनिंदा से संबंधित कंटेंट को लेकर देश में विकिपीडिया को बैन कर दिया है। इससे पहले उसे 48 घंटे का समय दिया था।

‘ये मुस्लिम विरोधी कार्रवाई’: असम में बाल विवाह के खिलाफ एक्शन से भड़के ओवैसी, अब तक 2200 गिरफ्तार – इनमें सैकड़ों मौलवी-पुजारी

असम सरकार की कार्रवाई के तहत दूल्हे और उसके परिजनों के अलावा पंडितों और मौलवियों को भी गिरफ्तार किया जा रहा है। ओवैसी बोले - ये मुस्लिम विरोधी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,756FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe