Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजविशु भाटी की हत्या के बाद मेरठ के गाँव में बवाल; अनस, अशफाक, अकरम...

विशु भाटी की हत्या के बाद मेरठ के गाँव में बवाल; अनस, अशफाक, अकरम सहित कई पर FIR, नाराज ग्रामीणों ने घर और खेतों में लगाई आग

SSP मेरठ के मुताबिक गाँव मिश्रित आबादी वाला है इसके चलते फ़ोर्स की तैनाती कर दी गई है। बताया जा रहा है कि घटना के बाद नाराज ग्रामीणों ने आरोपितों के खेतों में आग लगा दी है। बताया जा रहा है कि घटना के बाद नाराज ग्रामीणों ने आरोपितों के खेतों में आग लगा दी है। कुछ आरोपितों के घरों में भी आगजनी की खबर है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut, Uttar Pradesh) में विशु भाटी नाम के एक व्यक्ति की हत्या के बाद तनाव फैल गया है। हत्या का आरोप अनस, अशफाक, शाह नजीम, अकरम, मोहम्मद कैफ और ग्राम प्रधान गजेंद्र पर लगा है। इसके अलावा 3 अज्ञात में भी दर्ज हैं। घटना के बाद आरोपितों के खेतों में आग लगा दी गई है। हालात काबू करने के लिए मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस फ़ोर्स तैनात किया गया है। अब तक 4 आरोपितों को हिरासत में लेने की बात कही जा रही है। घटना रविवार (9 अप्रैल 2023) की है।

जानकारी के मुताबिक, मामला मेरठ के थाना क्षेत्र हस्तिनापुर का है। यहाँ का रहने वाला रामवीर का 24 वर्षीय बेटा विशु भाटी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता था। विशु के घर वालों का आरोप है कि घटना के दिन वह गाँव के स्कूल में था। इसी दौरान मुस्लिम समाज के कुछ लोग आए और विशु को गोली मार दी। पीड़ित परिवार का आरोप है कि कुछ समय पहले गाँव में एक झगड़ा हुआ था, जिसमें मुस्लिमों की गलती के बावजूद पुलिस ने गुर्जरों पर केस दर्ज किया था। हत्या की वजह पुराना झगड़ा बताया जा रहा है।

पीड़ित परिवार का कहना है कि पहले के झगड़े में मुस्लिमों की तरफ से मज़हबी नारेबाजी की गई थी। इस नारेबाजी का वीडियो बनाया गया था, जिस पर गुर्जरों की तरफ से आपत्ति जताने के बाद विवाद की शुरुआत हुई थी।

पीड़ितों की तरफ से बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद दोनों पक्षों में समझौता भी हो गया था, लेकिन उसी केस की रंजिश रखते हुए विशु भाटी की हत्या कर दी गई। हत्या के बाद पीड़ित परिवार ने शव रखकर सड़क को भी जाम किया था, जिसे प्रशासन ने बातचीत से खुलवा दिया।

वहीं, मेरठ पुलिस के मुताबिक अब तक मामले में 6 लोगों को नामजद करते हुए 4 संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। SSP मेरठ के मुताबिक गाँव मिश्रित आबादी वाला है इसके चलते फ़ोर्स की तैनाती कर दी गई है। बताया जा रहा है कि घटना के बाद नाराज ग्रामीणों ने आरोपितों के खेतों में आग लगा दी है। कुछ आरोपितों के घरों में भी आगजनी की खबर है। इन हालातों से निबटने के लिए गाँव में फायर ब्रिगेड के वाहनों को भी तैनात किया गया है।

फिलहाल गाँव में तनावपूर्ण शांति है। फरार आरोपितों की धरपकड़ के प्रयास किए जा रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केंद्र सरकार की नौकरी के मजे? अब 15 मिनट से ज्यादा की देरी पर आधे दिन की छुट्टी: ऑफिस टाइमिंग को लेकर कड़ा फैसला

भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DoPT) ने आदेश जारी किया है कि जिन दफ्तरों के खुलने का समय 9 बजे है, वहाँ अधिकतम 15 मिनट का ही ग्रेस पीरियड मिलेगा।

ईदगाह का गेट निकाले जाने उग्र हुई भीड़ ने जला डाला दुकान और ट्रैक्टर, पुलिस पर भी पत्थरबाजी: जोधपुर में धारा-144 लागू, 40 आरोपित...

ईदगाह के पीछे की दीवार से 2 दरवाजों को निकाले जाने का काम शुरू किया गया था। पुलिस ने बताया कि बस्ती में रहने वाले कुछ लोगों ने इसका विरोध किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -