Wednesday, May 25, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षावरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता के भाई समेत 12 के ख़िलाफ हिजबुल आतंकियों को पनाह देने...

वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता के भाई समेत 12 के ख़िलाफ हिजबुल आतंकियों को पनाह देने का आरोप, FIR दर्ज

कॉन्ग्रेस नेता के छोटे भाई शफी सरूरी समेत सभी आरोपितों पर हिजबुल मुजाहिद्दीन से जुड़े होने का एवं आतंकियों को संसाधन मुहैया कराने और पनाह देने का आरोप है। बताया जा रहा है कि इन लोगों ने जिन आतंकियों को पनाह दी हैं, उसमें हिजबुल आतंकी जहाँगीर सरूरी और ओसामा भी शामिल हैं।

जम्मू कश्मीर पुलिस ने किश्तवाड़ा जिले में खूंखार आतंकियों को पनाह देने के मामले में एक दर्जन लोगों पर केस दर्ज किया है। इसमें वरिष्ठ कॉन्ग्रेसी नेता और पूर्व मंत्री जीएम सरूरी के भाई का नाम भी शामिल हैं। ये केस कॉन्ग्रेसी नेता के भाई शफी सरूरी के अलावा मसूद मट्टू, मोहम्मद मुजफ्फर शाह, ग़ुलाम मोहम्मद कमल, तौसीफ गुंडना और सैय्यद अहमद पर दर्ज हुआ है। इस केस में 6 और अन्य लोगों के नाम हैं, जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।

कॉन्ग्रेस नेता सरूरी ने बताया, “मुझे इसके बारे (एफआईआर में शफी का नाम) में पता चला तो मैं हैरान था। हमारे लोग ऐसी बात कभी नहीं कर सकते। कल मैं यह पता लगाने की कोशिश करूँगा कि क्या मामला है।”

बता दें कि कॉन्ग्रेस नेता के छोटे भाई शफी सरूरी समेत सभी आरोपितों पर हिजबुल मुजाहिद्दीन से जुड़े होने का एवं आतंकियों को संसाधन मुहैया कराने और पनाह देने का आरोप है। बताया जा रहा है कि इन लोगों ने जिन आतंकियों को पनाह दी हैं, उसमें हिजबुल आतंकी जहाँगीर सरूरी और ओसामा भी शामिल हैं। सभी के ख़िलाफ़ गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

अधिकारियों की मानें तो कि शफी और 5 अन्य लोग मसूद अहमद मट्टू, मोहम्मद मुजफ्फर शाह, गुलाम मोहम्मद, तौसीफ अहमद गंडना और सैयद अहमद का नाम एफआईआर (संख्या: 229/2019) में शामिल है और उन पर हिजबुल मुजाहिदीन के सक्रिय आतंकवादियों को शरण देने और उनकी आवाजाही की व्यवस्था को अंजाम देने का आरोप है।

पुलिस का कहना है कि जहाँगीर सरूरी और ओसामा ने कुछ दूसरे आतंकियों के साथ मिलकर चिनाब घाटी इलाके में आतंकवाद को दोबारा से कायम करने की साजिश रची थी। जिनमें ओसामा को सुरक्षाबलों ने शनिवार को रामबन जिले में हुए ऑपरेशन के दौरान 3 आतंकियों के साथ मार गिराया था।

जानकारी के अनुसार मारे गए सभी आतंकी वरिष्ठ भाजपा नेता अनिल परिहार और आरएसएस पदाधिकारी चंद्रकांत शर्मा की हत्या के जिम्मेदार थे। इस पूरे मामले में कॉन्ग्रेस नेता के भाई का कहना है कि जिस घर में आतंकी ठहरे हुए थे, उसे उन्होंने ही किराए पर दिया था और इस बारे में उन्होंने पुलिस को भी बताया। पुलिस का कहना है कि मामले में आगे की जाँच जारी हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकियों ने कश्मीरी अभिनेत्री की गोली मार कर हत्या की, 10 साल का भतीजा भी घायल: यासीन मलिक को सज़ा मिलने के बाद वारदात

जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने कश्मीरी अभिनेत्री अमरीना भट्ट की गोली मार कर हत्या कर दी है। ये वारदात केंद्र शासित प्रदेश के चाडूरा इलाके में हुई, बडगाम जिले में स्थित है।

यासीन मलिक के घर के बाहर जमा हुई मुस्लिम भीड़, ‘अल्लाहु अकबर’ नारे के साथ सुरक्षा बलों पर हमला, पत्थरबाजी: श्रीनगर में बढ़ाई गई...

यासीन मलिक को सजा सुनाए जाने के बाद श्रीनगर स्थित उसके घर के बाहर उसके समर्थकों ने अल्लाहु अकबर की नारेबाजी की। पत्थर भी बरसाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,823FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe