Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाज'SHO ने रेप पीड़िता से 15-20 बार किया बलात्कार': राजस्थान में 4 पुलिस वाले...

‘SHO ने रेप पीड़िता से 15-20 बार किया बलात्कार’: राजस्थान में 4 पुलिस वाले निलंबित, FIR में भी हेरफेर

इस शिकायत के बाद आरोपित पुलिसकर्मी का ट्रांसफर कोटा रेंज कर दिया गया था। डिप्टी SP गोगाराम ने बताया कि बाद में दरोगा शंभू ने बाद में महिला के साथ राजीनामा कर लिया था।

राजस्थान के नागौर जिले में पुलिस की कार्यशैली से महिलाओं की सुरक्षा पर एक बार फिर से सवाल खड़े हो गए हैं। यहाँ एक महिला द्वारा पुलिसकर्मी के विरुद्ध दर्ज करवाई गई FIR में घोर लापरवाही बरतने के आरोप में एक SHO और 2 सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया गया है। SHO पर ऒंन ड्यूटी शराब के नशे में भी रहने का आरोप है। यह कार्रवाई 1 मई, 2022 (रविवार) को की गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नागौर के SP राममूर्ति जोशी ने इस कार्रवाई की पुष्टि की है। उन्होंने बताया, “28 अप्रैल, 2022 को अजमेर रेंज पुलिस ऑफिस में हाजिर हो कर खुनखुना थानाक्षेत्र की एक विवाहिता महिला ने अपने साथ रेप की शिकायत दर्ज करवाई थी। इस शिकायत पर 30 अप्रैल, 2022 को खुनखुना थाने में केस भी दर्ज हो गया। इस दौरान पाया गया कि अजमेर ऑफिस में दिए गए लिखित बयान का उल्लेख खुनखुना थाने में दर्ज FIR में था ही नहीं। इसे गंभीर लापरवाही मानते हुए SHO धर्मपाल मीणा के साथ और उसी थाने के HM क्राईम बंशी लाल, हेड कांस्टेबल ओम प्रकाश और कम्प्यूटर ऑपरेटर सुरेश को सस्पेंड कर दिया गया है।”

रिपोर्ट के मुताबिक महिला द्वारा अगस्त 2021 में ही खुनखुना थाने के पूर्व SHO रह चुके सब इंस्पेक्टर शंभूदयाल मीणा के खिलाफ शिकायत दी गई थी। तब शिकायत में कहा गया था, “साल 2018 में जब मैं थाने पर एक शिकायत करने गई थी तब तत्कालीन SHO शंभूदयाल मीणा ने मेरा नंबर ले लिया था। बाद में सब इंस्पेक्टर शंभू दयाल ने मुझ से लगातार बातें की और एक दिन डीडवाना के एक होटल में बुला कर मेरा रेप किया। फिर मेरे मना करने के बाद भी SHO मीणा ने मुझ से 15-20 बार अलग-अलग समय पर रेप किया।” इस केस में बाद में आरोप लगानी वाले महिला और सब इंस्पेक्टर शंभूदयाल मीणा का समझौता हो गया था। यह समझौता टूटने के बाद महिला फिर से शिकायत करने थाने पहुँची थी।

इस शिकायत के बाद आरोपित पुलिसकर्मी का ट्रांसफर कोटा रेंज कर दिया गया था। डिप्टी SP गोगाराम ने बताया कि बाद में दरोगा शंभू ने बाद में महिला के साथ राजीनामा कर लिया था। कुछ समय बाद राजीनामे से मुकरने के बाद महिला फिर से शंभूदयाल पर केस दर्ज करवाने थाने पहुँची थी।

नशे में धुत मिले थे SHO

अधिकारियों को थाना प्रभारी खुनखुना के अक्सर नशे में होने की शिकायत की थी। इसी शिकायत के चलते एडिशनल SP डीडवाना विमन सिंह नेहरा ने डीडवाना DSP गोगाराम को जाँच करने के निर्देश दिए थे। शनिवार (30 अप्रैल, 2022) को देर रात SHO धर्मपाल मीणा नाकाबंदी पर मौजूद थे। इसी दौरान जब DSP गोगाराम जाँच करने पहुँचे तब SHO उन्हे नशे में मिले। धर्मपाल मीणा का मेडिकल करवाया गया जिसमें उनके नशे में होने की पुष्टि हुई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -