Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाज15 साल की दलित लड़की से रासुद्दीन ने किया बलात्कार, अस्पताल में जूझ रही...

15 साल की दलित लड़की से रासुद्दीन ने किया बलात्कार, अस्पताल में जूझ रही पीड़िता: परिवार बोला – मुकदमा वापस लेने का बनाया जा रहा दबाव

पास के गाँव जवाहर नगर का रहने वाला 25 वर्षीय रासुद्दीन पुत्र सफीक वहाँ आया और नाबालिग बालिका को दबोच कर उसके साथ क्रूरता से बलात्कार किया।

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में रासुद्दीन नाम के एक युवक ने एक 15 वर्षीय नाबालिग दलित बालिका के साथ बलात्कार किया। बच्ची के साथ बलात्कार के कारण उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है जबकि आरोपित से पूछताछ चल रही है।

जानकारी के अनुसार, शनिवार (23 दिसम्बर, 2023) को मुरादाबाद के थाना मझोला के लोदीपुर गाँव की रहने वाली एक नाबालिग दलित बालिका अपनी साथियों के साथ घास काटने के लिए खेतों की तरफ गई हुई थी। यहाँ पर वह अपने साथियों से थोड़ी दूर पर घास काट रही थी।

इसी बीच पास के गाँव जवाहर नगर का रहने वाला 25 वर्षीय रासुद्दीन पुत्र सफीक वहाँ आया और नाबालिग बालिका को दबोच कर उसके साथ क्रूरता से बलात्कार किया। बलात्कार के कारण बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गई है। नाबालिग को मुरादाबाद के जिला अस्पताल में भारती करवाया गया है जहाँ उसका गंभीर हालत में इलाज चल रहा है।

बच्ची के परिजनों ने रासुद्दीन के विरुद्ध मुरादाबाद के मझोला थाने में मामला दर्ज करवाया है। रासुद्दीन के विरुद्ध बलात्कार की धारा 376 और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (POCSO) एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। पीड़िता के भाई ने बताया है कि रासुद्दीन से अभी पुलिस पूछताछ कर रही है।

इस घटना की FIR की कॉपी ऑपइंडिया के पास मौजूद है। पीड़ित नाबालिग के भाई ने ऑपइंडिया से बातचीत में बताया है कि रासुद्दीन के परिचित एक-दो लोग उन पर मुकदमा वापस लेकर समझौता करने की बात कह रहे हैं। हालाँकि, परिजन पीड़ित पर कड़ी कार्रवाई चाहते हैं।

मुरादाबाद पुलिस ने इस मामले में बताया है कि घटना का मुकदमा दर्ज किया जा चुका है और इस पर कार्रवाई की जा रही है। बच्ची के साथ इस घटना के परिजनों में काफी रोष व्याप्त है और वह रासुद्दीन पर कड़ी कार्रवाई की माँग कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -