Monday, September 27, 2021
Homeदेश-समाजदरभंगा धमाका: नजीर के घर से भागा दाढ़ी वाला युवक कौन, आतंकी कनेक्शन भी...

दरभंगा धमाका: नजीर के घर से भागा दाढ़ी वाला युवक कौन, आतंकी कनेक्शन भी खँगाल रही पुलिस

एक और चौंकाने वाली बात सामने आई है कि नजीर के घर में एक भी खिड़कियाँ नहीं थी। अंदर-बाहर जाने के लिए सिर्फ एक दरवाजा था। इसकी वजह से उसके घर के अंदरक्या हो रहा है, इसकी जानकारी किसी को भी नहीं होती थी। पड़ोसियों ने बताया कि हमेशा संदिग्ध व्यक्तियों का उसके घर आना-जाना होता था।

बिहार के दरभंगा जिले में शुक्रवार (जून 5, 2020) को हुए धमाके को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है। 7 जून 2020 को प्रकाशित अखबार में इस हादसे को लेकर कई तरह के चौंकाने वाले खुलासे किए गए हैं। आरोपित मोहम्मद नजीर के घर से भागे संदिग्ध शख्स की पहचान से लेकर इसके आतंकी कनेक्शन तक की जाँच की जा रही है।

बता दें स्थानीय लोगों ने शनिवार (जून 6, 2020) को प्रदर्शन भी किया। निष्पक्ष जाँच की माँग कर रहे लोगों ने पुलिस के कामकाज पर सवाल उठाए।

साभार: दैनिक जागरण

जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक लोग प्रशासन से मुआवजे की माँग भी कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि मोहम्मद नजीर के घर हुए धमाके से पड़ोसियों का लाखों का नुकसान हुआ है। इसलिए क्षति की भरपाई के लिए मुआवजा दिया जाना चाहिए। उन्होंने तो यहाँ तक कह दिया कि यदि सरकार मुआवजा नहीं देगी तो आंदोलन जारी रहेगा। कुछ लोगों ने आरोपित नजीर के चल और अचल संपत्ति को जब्त कर क्षति की भरपाई कराने की माँग की।

बताया जा रहा है कि अगर नजीर के घर के पिछले भाग की जगह अगले हिस्से में ब्लास्ट हुआ होता तो पूरा शहर दहल जाता। कई लोगों की जानें चली जाती। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार लोगों ने आरोप लगाया कि नजीर अपने घर के पिछले भाग में ही काली करतूत करता था, इसीलिए विस्फोट भी उसी तरफ हुआ।

लोगों ने आतंकी गतिविधि का आशंका जाहिर करते हुए बड़ी एजेंसी से जाँच करवाने की माँग की। लोगों का कहना है कि जिस तरह से बम विस्फोट हुआ और तीन किलोमीटर तक का इलाका दहल गया, वह कोई साधारण बम नहीं हो सकता है। किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए नजीर अपने घर में बम बना रहा था। हो सकता है कि नजीर आंतकी गतिविधि से भी जुड़ा हो। उन्होंने अंदेशा जताया कि नजीर के घर की खुदाई करने पर कई और संदिग्ध सामान बरामद हो सकते हैं।

साभार: दैनिक जागरण

बता दें कि लोगों के आक्रोश के बीच एफएसएल और बम डॉग स्क्वॉयड की टीम ने नजीर के घर से भारी मात्रा में बारूद बरामद किया। इसके साथ ही सुतली लपेटे दो कार्टन बम और मिट्टी के नीचे से दो बोरा बारूद युक्त पाउडर बरामद हुए। इस बोरे में बम भी थे, जिसे पानी में रख दिया गया। इसके अलावा जाँच के दौरान उसके घर से सोना और चाँदी के ढाई किलो जेवरात और लैपटॉप जब्त किए। फिलहाल पुलिस लैपटॉप को खँगाल रही है।

साभार: दैनिक जागरण

मीडिया रिपोर्ट में एक और चौंकाने वाली बात सामने आई है कि नजीर के घर में एक भी खिड़कियाँ नहीं थी। अंदर-बाहर जाने के लिए सिर्फ एक दरवाजा था। इसकी वजह से उसके घर के अंदर कौन आ-जा रहा है और घर के अंदर क्या हो रहा है, इसकी जानकारी किसी को भी नहीं होती थी। पड़ोसियों ने बताया कि हमेशा संदिग्ध व्यक्तियों का उसके घर आना-जाना होता था।

बताया जा रहा है कि बम ब्लास्ट के बाद एक संदिग्ध युवक को जख्मी हालत में नजीर के घर से भागते हुए देखा गया। पड़ोसियों का कहना है कि वो मुहल्ले का नहीं था। स्थानीय लोग जब वीडियो बना रहे थे तो उसका चेहरा कैद हो गया था। दैनिक जागरण के अनुसार लाल टीशर्ट, जींस पैंट पहने दाढ़ी वाला युवक नंगे पॉंव भागा था और कुछ ही पल में गायब हो गया।

पूछताछ में नजीर ने दावा किया है कि घटना के वक़्त वह और उसकी पत्नी मुजफ्फरपुर अपने रिश्तेदार के यहाँ गए थे। उसका बेटा गुलाब नदाफ भी घर पर नहीं था। घर पर सिर्फ तीन बच्चे थे।

ऐसे में यह सवाल उठता है कि आखिर वह शख्स था कौन? और नजीर की अनुपस्थिति में उसके घर में क्या कर रहा था? पुलिस इसकी जॉंच में जुटी है। वहीं आइजी अजिताभ कुमार ने दैनिक जागरण को बताया कि यह बम कोई बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए बनाया जा रहा था या फिर इसके तार किसी आतंकी संगठन से जुड़ा है, इस दिशा में पुलिस जाँच कर रही है।

गौरतलब है कि शनिवार (जून 6, 2020) की अखबारों में नजीर के घर में अवैध पटाखे बनाने की बात सामने आई थी और ऑपइंडिया को भी कुछ चश्मदीदों ने बताया था कि मोहम्मद नजीर काफी समय से पटाखा बनाने का कारोबार घर में ही कर रहा था। हालाँकि फिलहाल स्थिति पूरी तरह से स्पष्ट होना बाकी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

‘टोटी चोर’ के बाद मार्केट में AC ‘चोर’, कन्हैया ‘क्रांति’ कुमार का कॉन्ग्रेसी अवतार

एक 'आंगनबाड़ी सेविका' का बेटा वातानुकूलित सुख ले! इससे अच्छे दिन क्या हो सकते हैं भला। लेकिन सुख लेने के चक्कर में कन्हैया कुमार ने AC ही उखाड़ लिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,737FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe