Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजदाऊद ने 'राहुल' बन दलित लड़की से मंदिर में की शादी, बेटी के जन्म...

दाऊद ने ‘राहुल’ बन दलित लड़की से मंदिर में की शादी, बेटी के जन्म के बाद मारपीट कर बोला – अब मुस्लिम बनो: जान से मारने की धमकी भी

पीड़िता जिले के पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुँची। यहाँ उसने शिकायत देते हुए खुद को अम्बेडकरनगर के ही मालीपुर थाना क्षेत्र की निवासी बताया।

उत्तर प्रदेश के अम्बेडकरनगर जिले में ‘लव जिहाद’ का मामला सामने आया है। यहाँ एक हिन्दू धर्म की दलित महिला ने दाऊद नाम के युवक पर हिन्दू नाम से खुद को प्रेम के जाल में फँसाने का आरोप लगाया है। पीड़िता के मुताबिक, शादी के बाद न सिर्फ उसकी बेरहमी से पिटाई की गई बल्कि दाऊद ने उस पर इस्लाम कबूलने का भी दबाव बनाया। पुलिस ने मामले का संज्ञान लिया है और जाँच शुरू कर दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार (9 सितंबर, 2023) को पीड़िता जिले के पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुँची। यहाँ उसने शिकायत देते हुए खुद को अम्बेडकरनगर के ही मालीपुर थाना क्षेत्र की निवासी बताया। पीड़िता के मुताबिक, उसी जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र में आने वाले गाँव मिर्जापुर कोड़रा का दाऊद उसे लगभग 3 वर्ष पूर्व मिला था। यह मुलाकात फोन पर हुई बातचीत से शुरू हुई थी। तब पीड़िता के बार-बार मना करने पर भी दाऊद उसे फोन करता रहा।

मुलाकात के दौरान दाऊद ने अपना नाम ‘राहुल’ बताया था। बातचीत का सिलसिला चल पड़ा और इस दौरान ‘राहुल’ बने दाऊद ने पीड़िता को प्यार के जाल में फँसा लिया। मालीपुर के ही एक मंदिर में दाऊद ने पीड़िता से हिन्दू विधि-विधान से शादी भी कर ली।

बताया जा रहा है कि शादी बाद आरोपित लड़की को ले कर अकबरपुर चला गया। यहाँ एक किराए के मकान में वो पीड़िता को ले कर साथ रहा। इस बीच महिला ने एक बच्ची को भी जन्म दिया। फिलहाल बेटी की उम्र लगभग 2 वर्ष है। शिकायत में पीड़िता ने आगे बताया कि नवंबर 2022 से आरोपित उसके साथ मारपीट करने लगा। एक दिन आरोपित ने पीड़िता का फोन भी छीन लिया। यहाँ से वो पीड़िता को अपने साथ अपने गाँव ले गया। शिकायत में बताया गया है कि तब पहली बार पीड़िता को आरोपित के मुस्लिम होने का शक हुआ।

शिकायत कॉपी

पीड़िता का कहना है कि आरोपित के घर वाले इस्लामी तौर-तरीके अपना रहे थे जहाँ से उसे राहुल के दाऊद होने का पता चला। इसी के बाद पीड़िता को इस्लाम कबूलने का दबाव दिया जाने लगा। शिकायत में बताया गया है कि धर्मांतरण न करने पर उसे न सिर्फ मारा-पीटा जाने लगा बल्कि जान से मारने की धमकियाँ भी दी जाने लगी। दाऊद और उसके परिवार के चंगुल से किसी तरह बच कर निकली महिला ने जिले के पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र दिया है। पुलिस अधीक्षक ने संबंधित थाने को जाँच और कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शुक्र है मीलॉर्ड ने भी माना कि वो इंसान हैं! चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने को मद्रास हाई कोर्ट ने नहीं माना था अपराध, अब बदला...

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को अपराध नहीं बताने वाले फैसले को मद्रास हाई कोर्ट के जज एम. नागप्रसन्ना ने वापस लिया और कहा कि जज भी मानव होते हैं।

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -