Saturday, October 1, 2022
Homeदेश-समाजअयोध्या में जिस जमीन पर बन रही मस्जिद वो हमारी: दिल्ली की 2 बहनें,...

अयोध्या में जिस जमीन पर बन रही मस्जिद वो हमारी: दिल्ली की 2 बहनें, रानी और रमा हाईकोर्ट पहुँचीं

याचिकाकर्ताओं का कहना है कि जब तक यह विवाद निपटान अधिकारी के सामने लंबित है, तब तक इसे सुन्नी वक्फ बोर्ड के हवाले किए जाने से रोक लगाई जानी चाहिए।

दिल्ली की दो बहनों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में उन्होंने उस पाँच एकड़ जमीन पर अपना दावा बताया है, जिसे सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या के पास मस्जिद निर्माण के लिए आवंटित किया गया था। याचिका बुधवार (3 फरवरी 2021) को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ में दायर की गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ इस याचिका पर सुनवाई 8 फरवरी को हो सकती है। 

याचिका दायर करने वाली बहनों का नाम रानी कपूर (रानी बलूजा) और रमा रानी पंजाबी है। इन्होंने अपनी याचिका में लिखा है कि उनके पिता ज्ञान चंद्र पंजाबी विभाजन के दौरान 1947 में पंजाब से भारत आए और तत्कालीन फैजाबाद (अब अयोध्या) जिले में बस गए। बहनों ने याचिका में दावा किया है कि उनके पिता को नाजुल विभाग ने धन्नीपुर गाँव में लगभग 28 एकड़ ज़मीन लगभग पाँच साल के लिए आवंटित की थी। ये जमीन तय अवधि से ज़्यादा समय तक उनके पास थी। 

बहनों का याचिका में कहना है कि उनके पिता का नाम राजस्व रिकॉर्ड में शामिल किया गया था। कुछ समय बाद उनका नाम हटा दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने तत्कालीन आयुक्त के समक्ष अपील की थी जिसे बाद में स्वीकृति दी गई थी। याचिका के मुताबिक़ अधिकारियों ने चकबंदी प्रक्रिया के दौरान उनके पिता का नाम फिर से हटा दिया था। दोनों बहनों ने अधिकारी द्वारा जारी किए गए इस आदेश के खिलाफ निपटान अधिकारी, अयोध्या (सदर) के समक्ष अपील की थी। 

इस अपील को संज्ञान में लिए बिना अधिकारियों ने उनकी कुल 28 एकड़ ज़मीन में से 5 एकड़ ज़मीन मस्जिद के निर्माण के लिए वक्फ बोर्ड को आवंटित कर दी है। याचिकाकर्ताओं का कहना है कि जब तक यह विवाद निपटान अधिकारी के सामने लंबित है, तब तक इसे सुन्नी वक्फ बोर्ड के हवाले किए जाने से रोक लगाई जानी चाहिए। नवंबर 2019 में रामजन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद निर्माण के लिए धन्नीपुर गाँव में 5 एकड़ जमीन आवंटित की गई थी।       

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

4G से 10 गुना तेज़ इंटरनेट के लिए हो जाइए तैयार, कीमत भी ज़्यादा नहीं: PM मोदी ने लॉन्च किया 5G, कहा – नई...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (1 अक्टूबर, 2022) को 5जी सर्विस लॉन्च कर दी है। कई उद्योगपति इस कार्यक्रम का हिस्सा रहे, सरकार को सराहा।

दीपावली पर PFI ने रची थी देश भर में बम ब्लास्ट की साजिश: आसपास के सामान से IED बनाने की दे रहा था ट्रेनिंग,...

PFI आसपास मौजूद सामान से IED बनाने की ट्रेनिंग दो रहा था। उसकी योजना दशहरा पर देश भर में बम विस्फोट और संघ नेताओं की हत्या करने की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,524FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe