Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजतबलीगी की तबाही: महाराष्ट्र, कर्नाटक जैसे राज्यों में भी गए मरकज में जुटे विदेशी,...

तबलीगी की तबाही: महाराष्ट्र, कर्नाटक जैसे राज्यों में भी गए मरकज में जुटे विदेशी, 1 दिन में कोरोना के 227 नए मामले

62 इंडोनेशियाई और मलेशियाई तबलीगी जमात की इमारत में जमे हुए थे और उन्होंने कर्नाटक का भी दौरा किया था। उनमें से 12 लोगों को चिह्नित कर लिया गया है और उन्हें क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया गया है। महाराष्ट्र के अहमदनगर में भी 34 ऐसे लोगों को चिह्नित किया गया है। इनमें से 29 विदेशी हैं।

दिल्ली का निजामुद्दीन भारत में कोरोना वायरस का नया हॉटस्पॉट बन गया है। वहाँ मजहबी कार्यक्रमों में शामिल हुए ढाई हजार लोगों की पहचान में मुश्किलें आ रही है। तमिलनाडु के इरोड जिला प्रशासन ने कहा है कि जो भी लोग वहाँ पर शामिल हुए थे, उन सभी को ख़ुद से आगे आकर कोरोना वायरस की जाँच करानी चाहिए। जिले के 4 ऐसे इलाक़े हैं, जहाँ समुदाय विशेष की जनसंख्या ज्यादा है। उन चारों इलाक़ों में पुलिस ने घेराबंदी कर दी है। दिक्कत ये है कि तबलीगी जमात में शामिल हुए उन्हीं लोगों की जानकारियाँ पता चली हैं, जो ट्रेन या बस से गए थे। जमात की इरोड शाखा को कहा गया है कि वह सभी लोगों के नाम जुटाएँ और पुलिस को दें।

झारखंड में पिछले एक सप्ताह में 37 लोग निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होकर लौटे हैं। वरिष्ठ अधिकारियों ने आदेश दिया है कि इन सभी की जाँच की जाए। दिल्ली पुलिस ने झारखंड पुलिस को 46 लोगों की सूची दी है, जो तबलीगी जमात के कार्यक्रम में गए थे। राँची के हिन्दपीढ़ी के एक मस्जिद से भी 24 लोगों को बरामद किया गया था, ऐसे में वहाँ इस ख़बर के बाद हड़कंप मचा हुआ है। राँची के अलग-अलग भाग से अब तक 28 विदेशी पकड़े जा चुके हैं।

कर्नाटक सरकार ने बताया है कि 62 इंडोनेशियाई और मलेशियाई लोग तबलीगी जमात की इमारत में जमे हुए थे और उन्होंने कर्नाटक का भी दौरा किया था। उनमें से 12 लोगों को चिह्नित कर लिया गया है और उन्हें क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया गया है। राज्य का गृह मंत्रालय पूरे मामले पर नज़र रख रहा है। महाराष्ट्र के अहमदनगर में भी 34 ऐसे लोगों को चिह्नित किया गया है। इनमें से 29 विदेशी हैं। इनमें से 14 के जाँच परिणाम आ गए हैं और 2 कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं। उन दोनों के अलावा 3 अन्य लोग भी संक्रमित हुए हैं, जो उनके संपर्क में आए।

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि तबलीगी ने जो भी किया, वो तालिबानी आतंकवाद से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे आपराधिक कृत्यों को माफ़ नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि तबलीगी जमात ने कई अन्य लोगों की जान पर भी संकट खड़ा कर दिया है। नकवी ने कहा कि ऐसे लोगों और संगठनों के ख़िलाफ़ सख्त क़दम उठाए जाने चाहिए, जो सरकार के आदेशों की अवहेलना करते हैं। इधर दिल्ली में पूरे निजामुद्दीन क्षेत्र को सैनिटाइज्ड करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। पुलिस और साउथ दिल्ली के निगम कर्मचारी मिल कर सैनिटाइजर का स्प्रे करने में लगे हुए हैं।

7 लोगों के ख़िलाफ़ एफआईआर भी दर्ज की गई है। मंगलवार (मार्च 31, 2020) को देश भर में कोरोना संक्रमण के 227 नए मामले आए, जिनमें से अधिकतर तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं। झारखंड और असम में भी अब संक्रमण के पहले मामले की पुष्टि हुई है। दोनों के तार निजामुद्दीन के मरकज से जुड़े हुए हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़िए नहीं जान पाएँगे दुकान ‘अब्दुल’ या ‘अभिषेक’ की, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- बताना होगा सिर्फ मांसाहार/शाकाहार के बारे में,

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कांवड़ रूट पर दुकानदारों के नाम दर्शाने वाले आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है।

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -