Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाजदेवरिया के जिस देवेश दुबे के माँ-बाप, भाई-बहन सबको मार डाला, उन्होंने अखिलेश यादव...

देवरिया के जिस देवेश दुबे के माँ-बाप, भाई-बहन सबको मार डाला, उन्होंने अखिलेश यादव से मिलने से किया इनकार: कहा- सपा राज में ही हुआ हमारा उत्पीड़न

गाँधी जयंती के दिन देवरिया में 2 अक्टूबर को 15 साल के गाँधी दुबे, 10 साल की नंदिनी दुबे, उनके पिता और माता के साथ ही एक अन्य बहन को प्रेम यादव के परिवार के लोगों ने मार डाला था।

देवरिया के फतेहपुर नरसंहार में मारे गए अपने माँ-बाप, भाई-बहन को खोने वाले पीड़ित परिवार के देवेश दुबे ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने से इनकार कर दिया। दरअसल, अखिलेश यादव ने कहा था कि वो देवरिया के दोनों पीड़ित परिवारों से मुलाकात करेंगे। इसके बाद वो आज देवरिया के फतेहपुर गाँव पहुँचे। उन्होंने देवेश दुबे के परिजनों की तस्वीर पर माला चढ़ाकर श्रद्धांजलि दी, इसके बाद वो प्रेम चंद यादव के घर चले गए और परिवार से मुलाकात की।

सपा राज में हुआ था उत्पीड़न, किस मुँह से मिलने आ रहे?

देवेश दुबे का कहना है कि साल 2014 में प्रेम चंद यादव ने दबंगई से हमारी जमीन का बैनामा करा लिया था, हमारी कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई थी। हम उस दिन को भुला नहीं पा रहे हैं। देवेश दुबे का कहना है कि अखिलेश यादव के राज में ही हमारा उत्पीड़न हुआ, हमारी जमीन का फर्जी तरीके से बैनामा करा लिया गया। अब सबकुछ खत्म हो गया है, तो वो किस मुँह से मिलने आ रहे हैं। मैं उनसे नहीं मिलने वाला। देवेश ने कहा कि कई सपा नेताओं ने उनसे संपर्क कर कहा था कि वो अखिलेश यादव से मिल लें, लेकिन मैंने तय किया है कि मैं अखिलेश यादव से नहीं मिलूँगा।

अखिलेश यादव ने दी मृतकों को श्रद्धांजलि, प्रेमचंद यादव के परिवार से मिले

अखिलेश यादव देवरिया जिले के फतेहपुर गाँव पहुँचे और सबसे पहले दुबे परिवार के मृतकों को श्रद्धांजलि दी। वो पीड़ित परिवार के जर्जर घर में भी गए। इसके कुछ देर बाद वो वहाँ से निकले और दूसरे टोले में स्थित प्रेम चंद यादव के घर पहुँचे और परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने प्रेमचंद यादव की पत्नी और बच्चों से मुलाकात की, साथ ही हत्याकांड में आरोपित रामजी यादव के भी परिजनों से मिले और हरसंभव मदद का भरोसा दिया। मृतक प्रेमचंद यादव समाजवादी पार्टी के नेता थे और जिला पंचायत सदस्य रहे थे।

प्रेमचंद यादव की बेटी ने की ये अपील

इस मामले में प्रेमचंद यादव की बेटी ने मीडिया से अपील की थी कि उनका घर न गिराया जाए। ये घर उनके दादा ने बनवाया था, जो फौजी थे। उन्होंने कहा कि पहले सभी घरों की पैमाइश हो, और कानून के मुताबिक जो सही हो वो किया जाए। अकेले उनके घर पर बुलडोजर न चलाया जाए, वर्ना वो रहेंगे कहाँ? प्रेम चंद यादव की बेटी ने अखिलेश यादव के आने पर कहा कि वो दोनों पक्षों को न्याय दिलाएँ। उनके (दुबे परिवार) के साथ तो बहुत लोग खड़े हैं, हमारे साथ कोई नहीं खड़ा। बेटी ने कहा कि जैसे पापा अब तक हमारा ख्याल रखते थे, अब अखिलेश यादव हमारा ख्याल रखें।

गाँधी जयंती के दिन दुबे परिवार का हुआ था नरसंहार

बता दें कि गाँधी जयंती के दिन देवरिया में 2 अक्टूबर को 15 साल के गाँधी दुबे, 10 साल की नंदिनी दुबे, उनके पिता और माता के साथ ही एक अन्य बहन को प्रेम यादव के परिवार के लोगों ने मार डाला था। दुबे परिवार के सभी लोगों को पहले बुरी तरह पीटा गया, फिर गोली मारी गई और गला काट दिया गया। एक भाई गंभीर रूप से घायल था, जिसकी जान बच गई। इस नरसंहार के समय सबसे बड़े बेटे देवेश श्राद्ध कर्म करवाने के लिए घर से बाहर गए हुए थे, इसलिए बच गए

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -