Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजअंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के गुर्गे इकबाल मिर्ची की जब्त की गई इमारत में...

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के गुर्गे इकबाल मिर्ची की जब्त की गई इमारत में शिफ्ट होगा ईडी का नया दफ्तर

मिर्ची और उसके परिवार को इस इमारत की दो मंजिलें दी गई थीं, जिसमें एक मंजिल 9,000 वर्ग फुट में और दूसरी 5,000 वर्ग फुट में फैली हुई है। मिर्ची, उसकी बीवी हाजरा और दोनों बेटे आसिफ और जुनैद मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल थे।

प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के खास गुर्गे इकबाल मिर्ची की मौत के कई सालों बाद महाराष्ट्र के वर्ली में स्थित उसकी इमारत में अपना नया दफ्तर शिफ्ट करने वाला है। एक समय यह इमारत ड्रग्स तस्कर इकबाल मेमन उर्फ इकबाल मिर्ची की प्रॉपर्टी थी।

इकबाल मिर्ची (Iqbal Mirchi) डीएचएफएल (DHFL) मामले की जाँच कर रही ईडी का जोनल ऑफिस मुंबई की प्राइम लोकेशन वर्ली के सीजे हाउस (Ceejay House) के दो फ्लोर में शिफ्ट हो रहा है। प्रीमियम रियल एस्टेट का निर्माण राकांपा (NCP) नेता प्रफुल्ल पटेल की कंपनी ने किया था और उन्होंने उस जमीन का एक हिस्सा लिया था, जहाँ मिर्ची का पब स्थित था।

मिर्ची और उसके परिवार को इस इमारत की दो मंजिलें दी गई थीं, जिसमें एक मंजिल 9,000 वर्ग फुट में और दूसरी 5,000 वर्ग फुट में फैली हुई है। मिर्ची, उसकी बीवी हाजरा और दोनों बेटे आसिफ और जुनैद मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल थे। पिछले साल फरवरी में इन्हें ‘भगोड़ा आर्थिक अपराधी अधिनियम 2018 कानून’ के तहत ‘भगोड़े आर्थिक अपराधी’ घोषित किया गया था। आदेश के बाद ईडी के अधिकारियों ने मिर्ची की 15 संपत्तियों को जब्त करने के लिए अदालत का रुख किया था।

ईडी के अधिकारियों ने अब सीजे हाउस को अपने कब्जे में ले लिया है। वर्तमान में ईडी के दो जोनल ऑफिस बैलार्ड एस्टेट में कैसर ए हिंद भवन (Kaiser E Hind) में स्थित हैं। ईडी ने इस मामले में मिर्ची के सहयोगियों और डीएचएफएल कपिल वधावन के प्रमोटरों सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया था। संयुक्त अरब अमीरात में रहने वाले मिर्ची के बेटे और बीवी हाजरा यूनाइटेड किंगडम में शिफ्ट हो गए थे और कई सम्मन के बावजूद जाँच एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए हैं।

बता दें कि मई 1986 में इकबाल मिर्ची पहली बार ठाणे के एक फार्म हाउस से 9 करोड़ रुपए कीमत की 600 किलो हेरोइन के साथ रेवेन्यू इंटेलिजेंस के हत्थे चढ़ा था, लेकिन वह इस मामले से बच गया था। इसके बाद उसे लंदन में अप्रैल 1995 में इंटरपोल ने गिरफ्तार किया था। हालाँकि, ब्रिटेन में ठोस सबूतों के अभाव में उसे बरी कर दिया गया था। वर्ष 2001 में उसे वहाँ रेजिडेंसी परमिट भी मिल गया था। बता दें कि इकबाल मिर्ची की वर्ष 2013 में लंदन में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाइडेन बाहर, कमला हैरिस पर संकट: अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में ओबामा ने चली चाल, समर्थन पर कहा – भविष्य में क्या होगा, कोई नहीं...

अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों की दौड़ से बाइडेन ने अपना नाम पीछे लिया तो बराक ओबामा ने उनकी तारीफ की और कमला हैरिस का समर्थन करने से बचते दिखे।

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -