Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजईदगाह में सुनाई पड़ी शिव मंदिर से आवाज तो भड़क गए नमाजी, माइक उतारने...

ईदगाह में सुनाई पड़ी शिव मंदिर से आवाज तो भड़क गए नमाजी, माइक उतारने जुटी भीड़: दरभंगा के जमालपुर में बकरीद के दिन बवाल, पुलिस ने मामला शांत कराया

बकरीद वाले दिन ईदगाह में तमाम मुस्लिम नमाज के लिए इकट्ठा हुए थे, उसी वक्त शिव मंदिर में शिव चर्चा के लिए भी लोग जमा हुए... इस दौरान मंदिर में थोड़ी देर के लिए माइक चेक करने को बजा तो इसकी आवाज से मुस्लिम भीड़ आहत हो गई और मंदिर में जाकर माइक हटाने लगी। इसी के बाद हिन्दुओं ने विरोध किया और मामला बढ़ा।

बिहार के दरभंगा जिले में बकरीद के दौरान साम्प्रदायिक तनाव की खबर है। यहाँ नमाज़ के दौरान शिव चर्चा का माइक बजने पर 2 पक्ष आमने-सामने आ गए। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे का सामान फेंकना शुरू कर दिया। मामले की जानकारी होती ही मौके पर पहुँची पुलिस ने विवाद को शांत करवाया। हालात तनावपूर्व देखते हुए गाँव में पुलिस तैनात कर दी गई है। घटना सोमवार (17 जून 2024) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला दरभंगा के जमालपुर इलाके का है। यहाँ के एक गाँव में बकरीद के अवसर पर मुस्लिम समुदाय के लोग ईदगाह में जुटकर नमाज़ पढ़ रहे थे। इसी दौरान गाँव के एक शिव मंदिर में शिव चर्चा के लिए हिन्दू समुदाय के लोग जमा हुए थे। इन्होंने शिव चर्चा के लिए माइक लगा रखा था जिसका साउंड टेस्ट करने के लिए थोड़े समय के लिए इसे ऑन किया था। मंदिर पर लगे माइक की आवाज सुनकर मुस्लिम समुदाय के तमाम लोग वहाँ जमा होने लगे।

स्थानीय ग्रामीण सुशील कुमार का आरोप है कि लगभग 50 की संख्या में आए मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मंदिर पर लगा माइक खोलना शुरू कर दिया जबकि तब तक माइक खुद से ही बंद करवा दिया गया था। इस दौरान हिन्दू पक्ष ने इस हरकत का विरोध किया तो हालात तनावपूर्ण हो गए। दोनों पक्षों ने एक दूसरे का सामान फेंकना शुरू कर दिया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। बिखरे सामानों के वीडियो वायरल हो रहे हैं। पुलिस ने गाँव में पहुँच कर दोनों पक्षों को समझा कर शांत किया।

इलाके में सुरक्षा के मद्देनजर फ़ोर्स तैनात कर दी गई है। कई अधिकारी मौके पर कैम्प कर रहे हैं। दरभंगा पुलिस की अधिकारी काम्या मिश्रा भी मौके पर पहुँची। उन्होंने बताया कि दोनों पक्षों को आमने-सामने बिठा कर मामले को शांत करवा दिया गया है। आगे से ऐसा न हो इसकी भी पुलिस की तरफ से सख्त हिदायत दी गई है। इस मामले की भी जाँच करवा कर दोषी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -