Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजझारखंड के पाकुड़ में बकरीद पर कुर्बानी के बाद पथराव-बमबारी, स्थानीय लोगों ने गोवंश...

झारखंड के पाकुड़ में बकरीद पर कुर्बानी के बाद पथराव-बमबारी, स्थानीय लोगों ने गोवंश काटने का लगाया आरोप: पुलिस ने दो गाँवों की लड़ाई बताई

मुफस्सिल थाना के पुलिस अधिकारी ने ऑपइंडिया को इस विषय में बताया है कि मामला दो गाँवों के बीच लड़ाई का है। एक गाँव झारखंड में जबकि दूसरा पश्चिम बंगाल में है, इसके बीच में नहर है। उनका कहना है कि दूसरे व्यक्ति की जमीन पर हत्या से पूरा विवाद चालू हुआ।

झारखंड के पाकुड़ में बकरीद पर गोवंश की हत्या आरोप ग्रामीणों ने लगाया है। यह हत्या खुलेआम एक व्यक्ति की जमीन पर की गई और मना किए जाने पर मारपीट और बमबाजी की गई। कुछ लोगों के घरों को तोड़े जाने की भी सूचना है। घटनास्थल पर अब सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पाकुड़ के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के गोपीनाथपुर इलाके में बकरीद (17 जून, 2024) को कुछ लोगों ने एक प्रतिबंधित पशु को दूसरे की जमीन पर काटना चालू कर दिया। जमीन के स्वामी ने जब इस बात को मना किया गया तो पशु काटने वाले हमलावर हो गए।

पशु काटने वालों ने पास के गाँव, जो कि पश्चिम बंगाल में आता है, से बड़ी संख्या में हमलावरों को बुला लिया। इन हमलावरों ने गाँव के लोगों को मारा पीटा और पथराव चालू कर दिया। इसके बाद इन लोगों ने गाँव में बमबाजी भी की। पश्चिम बंगाल से आए इन हमलावरों ने कई घरों को भी क्षतिग्रस्त किया।

विवाद की सूचना मिलने के बाद पश्चिम बंगाल और झारखंड की पुलिस यहाँ पहुँची। झारखंड के मुफस्सिल थाना क्षेत्र की पुलिस ने यहाँ पहुँच कर मामला शांत करवाया। गाँव में विवाद को रोकने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। यह अभी तनाव कम करने के लिए गाँव में डटे हुए हैं।

मुफस्सिल थाना के पुलिस अधिकारी ने ऑपइंडिया को इस विषय में बताया है कि मामला दो गाँवों के बीच लड़ाई का है। एक गाँव झारखंड में जबकि दूसरा पश्चिम बंगाल में है, इसके बीच में नहर है। उनका कहना है कि दूसरे व्यक्ति की जमीन पर हत्या से पूरा विवाद चालू हुआ। उन्होंने बताया दोनों गाँवों के बीच विवाद की सूचना के 20-25 मिनट के भीतर पुलिस मौके पर पहुँच गई थी।

उन्होंने बताया कि गाँव वालों ने यहाँ गौवंश काटने का आरोप मुस्लिम व्यक्तियों पर लगाया है लेकिन पुलिस को मौके पर मांस बरामद नहीं हुआ है। दूसरी तरफ झारखंड भाजपा अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने राज्य की कानून व्यवस्था धराशायी होने की बात कही है। उन्होंने राज्य की झामुमो कॉन्ग्रेस सरकार पर घुसपैठियों पर एक्शन ना लेने का आरोप लगाया है।

बाबूलाल मरांडी ने आरोप लगाया है इस इलाके में घुसपैठिए उत्पात मचा रहे हैं, आदिवासियों की जमीनें हड़प रहे हैं, बहन-बेटियों की इज्ज़त लूट रहे हैं और स्थानीय लोगों के संसाधनों पर हक़ जता रहे हैं, इसके बाद भी सरकार मूकदर्शक बनी हुई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -