Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीति'हमारे इलाके में हार गई TMC, इसलिए पानी की आपूर्ति बंद की': बंगाल के...

‘हमारे इलाके में हार गई TMC, इसलिए पानी की आपूर्ति बंद की’: बंगाल के कुल्टी में जल संकट, ममता सरकार के खिलाफ प्रदर्शन

इस इलाके में लंबे समय से पानी का गंभीर संकट है। स्थानीय लोगों के अनुसार, सरकार ने चुनावों से पहले इलाके में पानी की कमी को घटाने के लिए कई पानी के टैंकर भेजे थे। यहाँ के निवासियों ने बताया कि चुनाव परिणामों के बाद कुल्टी में भेजे जाने वाले पानी के टैंकरों की संख्या में कमी कर दी गई है।

पश्चिम बंगाल के आसनसोल शहर के कुल्टी इलाके के निवासियों ने आरोप लगाया है कि सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) ने उनके इलाके में पानी की आपूर्ति बंद कर दी है। यह बंदी लोकसभा चुनाव 2024 के परिणाम आने के बाद की गई है। निवासियों का कहना है कि इस इलाके में लोकसभा चुनाव में भाजपा को बढ़त मिली थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस इलाके में लंबे समय से पानी का गंभीर संकट है। स्थानीय लोगों के अनुसार, सरकार ने चुनावों से पहले इलाके में पानी की कमी को घटाने के लिए कई पानी के टैंकर भेजे थे। यहाँ के निवासियों ने बताया कि चुनाव परिणामों के बाद कुल्टी में भेजे जाने वाले पानी के टैंकरों की संख्या में कमी कर दी गई है। इसके साथ ही, एक दिन में पाइप से होने वाली पानी की आपूर्ति 30 मिनट से घटाकर 15-20 मिनट कर दी गई है।

मजबूर होकर कुल्टी के निवासियों ने ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ अब आंदोलन शुरू कर दिया है। उन्होंने मांग की है कि इलाके में जल संकट का तत्काल समाधान किया जाए। इस जल संकट को सत्तारूढ़ पार्टी TMC ने और बढ़ा दिया है। समस्या हल ना किए जाने पर पानी की कमी से पीड़ित लोगों ने आसनसोल बराकर जीटी रोड पर पेड़ गिराकर जाम लगा दिया और बैरिकेड लगा दिए।

इस दौरान भाजपा विधायक (पश्चिम बर्धमान) अजय कुमार पोद्दार भी इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए। इस मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा, “जल ही जीवन है। इस इलाके के लोगों को पानी नहीं मिल रहा है…नतीजतन, लोग सड़कों पर उतरने को मजबूर हैं। यह विरोध किसी राजनीतिक पार्टी के इशारे पर नहीं किया जा रहा है। पहले रोजाना चार पानी के टैंकर आते थे, अब यह घटकर एक रह गया है।”

उन्होंने आगे कहा, “वे इन्फ्रास्ट्रक्चर नहीं बना पाए हैं। लोगों के घरों में पाइप लगे हैं, लेकिन पानी नहीं है। TMC इस क्षेत्र में हार गई और इसलिए उन्होंने हमारी पानी की आपूर्ति काट दी।” इस बीच, TMC ने इन आरोपों से इनकार किया है।

आसनसोल के मेयर बिधान उपाध्याय ने दावा किया, “भाजपा द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं। भाजपा ने आसनसोल दक्षिण में भी अच्छा प्रदर्शन किया। तब वहाँ भी पानी बंद हो जाता। असली कारण यह है कि तूफान और बारिश ने पानी की लाइनों में समस्याएँ पैदा की हैं। लेकिन सब ठीक हो जाएगा। हमारी सरकार और नगर पालिका किसी राजनीतिक मकसद से काम नहीं करती है। भाजपा चुनाव हारने के बाद बहाने बनाने के लिए जानी जाती है। यही उनका काम है।”

TMC ने भाजपा के पक्ष में मतदान करने पर हाउसिंग सोसाइटी के बाहर कूड़ा फेंका

हाल ही में, एक ट्विटर यूजर ने जानकारी दी कि कोलकाता में एक हाउसिंग सोसाइटी के लोगों को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के पक्ष में मतदान करने के लिए तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) सरकार द्वारा दंडित किया जा रहा है। यूजर ने बताया कि सेंट्रल कोलकाता के बेलेघाटा इलाके के ‘सनराइज हाइट्स’ के बाहर कूड़ा फेंका जा रहा है, क्योंकि हाउसिंग कॉम्प्लेक्स के 543 निवासियों ने TMC के खिलाफ मतदान किया था।

इसके तुरंत बाद, TMC के राज्य महासचिव नीलांजन दास ने ट्विटर पर इस घटनाक्रम की पुष्टि की। उन्होंने हाउसिंग सोसाइटी के बाहर कूड़ा फेंकने की कार्रवाई को ‘बदला लेने का अहिंसक तरीका’ करार दिया। भाजपा ने TMC की इस बेहूदी हरकत की कड़ी निंदा की है।

भाजपा ने इस मामले में कहा “TMC के राज्य महासचिव ने बेशर्मी से दावा किया कि उन्होंने कोलकाता हाउसिंग सोसायटी के सामने कूड़ा फेंक दिया, क्योंकि उन्होंने उनके खिलाफ वोट करने की हिम्मत की।” पार्टी ने कहा, “क्या यही ‘लोगों की सेवा’ करना है? शुद्ध धमकी।” सोशल मीडिया पर आक्रोश के बाद नीलांजन दास ने अपना विवादित ट्वीट हटा दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अर्पित त्रिपाठी
अर्पित त्रिपाठीhttps://hindi.opindia.com/
अवध से बाहर निकला यात्री...

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -