Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजबकरीद पर लाल हुआ नाले का पानी, हिन्दुओं ने किया विरोध मुस्लिम भीड़ ने...

बकरीद पर लाल हुआ नाले का पानी, हिन्दुओं ने किया विरोध मुस्लिम भीड़ ने कर दिया हमला: पुलिस व मीडिया पर भी पत्थरबाजी, धारा-144 लागू

आरोप है कि इसी दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से पुलिस की मौजूदगी में ही प्रदर्शनकारियों पर पत्थर चलने लगे। कुछ ही देर में विवाद की सूचना पूरे इलाके में फ़ैल गई।

बकरीद पर ओडिशा के बालेश्वर इलाके में 2 समुदायों के बीच हिंसक झड़प की खबर है। इस दौरान पत्थरबाजी हुई जिसमें कई मीडियाकर्मी सहित पुलिस वाले भी घायल हुए हैं। विवाद की शुरुआत एक नाले के पाने का लाल रंग देख कर हुई। हिन्दू संगठनों ने इस कुर्बानी की वजह से बहा खून बताया और प्रदर्शन शुरू कर दिए। प्रदर्शनकारियों पर मुस्लिम भीड़ ने हमला कर दिया जिस से हालत तनावपूर्ण हो गए। इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है। प्रभावित क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस फ़ोर्स भेजी जा रही है। घटना सोमवार (17 जून 2024) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना बालेश्वर के सुनहट इलाके की है। यहाँ सोमवार की दोपहर में कुछ स्थानीय लोगों को आबादी के पास से बहने वाले नाले का पानी लाल रंग का दिखा। फ़ौरन ही मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने लाल रंग के पानी के सैम्पल उठाए और जाँच के लिए प्रयोगशाला भेज दिया। पानी को कुर्बानी का खून बताते हुए हिन्दू संगठन के सदस्यों ने मुख्य मार्ग पर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया। इसी दौरान वहाँ मुस्लिम पक्ष के कुछ लोग पहुँच गए। वो प्रदर्शनकारियों से बहस करने लगे।

आरोप है कि इसी दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से पुलिस की मौजूदगी में ही प्रदर्शनकारियों पर पत्थर चलने लगे। कुछ ही देर में विवाद की सूचना पूरे इलाके में फ़ैल गई। आसपास के लोग भी घटनास्थल पर पहुँचने लगे। पुलिस के तमाम प्रयासों के बावजूद पत्थरबाजी जारी रही। पथराव के चलते 1 दर्जन से अधिक दो व चार पहिया वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। हिंसा को काबू करने का प्रयास करते हुए 2 पुलिसकर्मी भी घायल हो गए हैं जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है। घटना को कवर कर रहे कुछ पत्रकारों के कैमरे और मोबाइल को तोड़ डाला गया है।

हालात काबू करने के लिए इलाके में अतिरिक्त पुलिस फ़ोर्स भेजी गई है। पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़ कर जैसे-तैसे हालात पर काबू पाया। इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है। हिंसा से हुए नुकसान का आधिकारिक आंकड़ा अभी तक जारी नहीं हुआ है। हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में बताए जा रहे हैं। फ़िलहाल किसी की गिरफ्तारी की पुष्टि पुलिस द्वारा नहीं की गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -