Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजईद से पहले हैदराबाद-मुंबई में उमड़ी भीड़, कोरोना प्रोटोकॉल-सोशल डिस्टेंसिंग भूले: Video

ईद से पहले हैदराबाद-मुंबई में उमड़ी भीड़, कोरोना प्रोटोकॉल-सोशल डिस्टेंसिंग भूले: Video

लॉकडाउन की वजह से कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ी है। आशंका है कि ईद की ये भीड़ फिर इसे तेज कर सकती है।

देश भर में कोरोना वायरस संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। इसे देखते हुए कई राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियाँ लागू की गई हैं। लेकिन ईद के कारण इसकी जमकर धज्जियाँ उड़ाई जा रही है। खरीदारी करने के लिए लोग निकल रहे हैं जिससे बाजारों में भीड़ दिखाई दे रही है। कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियाँ उड़ाई जा रही है। सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल नहीं रखा जा रहा है। कई लोगों के चेहरे पर मास्क भी नहीं दिखाई दे रहा है।

ईद से पहले देश के कई शहरों से ऐसी तस्वीरें आई हैं जो भविष्य के लिए चिंताजनक हैं। हैदराबाद के चारमीनार इलाके में लॉकडाउन से पहले ईद की खरीदारी करने के लिए ऐसी भीड़ उमड़ी कि सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियाँ उड़ गई। दो गज की दूरी तो छोड़िए, दो कदम की दूरी भी बमुश्किल दिख रही है।

भीड़ में महिला, पुरुष, बच्चे सभी दिखे। कोरोना की जिस लहर से बचने के लिए डबल फेस मास्क की लगाने की सलाह दी जा रही है, वहीं यहाँ ज्यादातर महिलाएँ सिर्फ चुन्नी या हिज़ाब से नाक मुँह को ढँकी दिखीं। कई महिलाओं की चुन्नी भी नाक से नीचे है और कई लोगों का नाक-मुँह ना तो मास्क से कवर है, ना ही किसी कपड़े से। ऐसे में ज़रा सोचिए कि यहाँ कोरोना का कैसा विस्फोट हो सकता है? हालात काबू करने के लिए तेलंगाना में आज से अगले 10 दिनों के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। बता दें कि हैदराबाद के चारमीनार बाजार के पास 5 मई को भी कोविड प्रोटोकॉल्स की खुलेआम धज्जियाँ उड़ाई गई थी।

मुंबई में ईद की शॉपिंग करने पहुँचे हजारों

अब देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के हालात देखिए। भिंडी बाजार में ईद की शॉपिंग करने हजारों लोग पहुँचे। ये परवाह किए बगैर कि बाजार से घर लौटेंगे, तो अपने साथ कोरोना को भी घर ला सकते हैं। अपने साथ-साथ दूसरों की जान भी जोखिम में डाल सकते हैं, लेकिन त्योहार के आगे इन्हें कुछ सूझ नहीं रहा है। प्रदेश में लॉकडाउन लगा है। उसका भी ख्याल नहीं रहा। महाराष्ट्र में लॉकडाउन बढ़ाकर एक जून तक लागू कर दिया गया है।

यूपी में भी ईद की खरीदारी के लिए बड़ी संख्या में लोग बाजार में घूमते हुए दिखाई दे रहे हैं। फिरोजाबाद के मुस्लिम इलाकों में सुबह 10:30 बजे ही बाजार खुल गया। बाजार में ईद की खरीदारी के लिए भीड़ नजर आने लगी। सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियाँ तो उड़ी ही। कई लोग बिना मास्क के भी नजर आए। शायद लोग त्योहार के जश्न में लोग कोरोना का डर भी भूल रहे हैं और आंशिक लॉकडाउन के नियम-कायदे भी। ये वो लोग हैं जो कल कोरोना विस्फोट के जिम्मेदार हो सकते हैं। सरकार और सिस्टम कोराना को कंट्रोल करने में लगी है। आपको बता दें कि प्रदेश में 17 मई तक के लिए कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है।

दिल्ली के सीलमपुर बाजार में भी ईद की शॉपिंग के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। ईद-उल-फितर त्योहार के चलते कपड़े, जूते-चप्पल, किराना और यहाँ तक कि गिफ्ट सेंटरों पर भी लोगों की भीड़ रही। वहीं, सैलून की दुकानों पर भीड़ कम नहीं थी।गाइडलाइन तो दूर की बात एक-दूसरे से चिपक कर लोग बैठे हुए थे। लॉकडाउन की वजह से कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ी है। आशंका है कि ईद की ये भीड़ फिर इसे तेज कर सकती है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डीजल डाल कर जला दिया दलित लखबीर का शव, चेहरा तक नहीं देखने दिया परिजनों को: ग्रामीणों ने किया बहिष्कार

डीजल डाल कर मोबाइल की रोशनी में दलित लखबीर सिंह के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शव से पॉलीथिन नहीं हटाया गया। परिजन चेहरा तक न देख पाए।

पश्चिम बंगाल में दुर्गा विसर्जन से लौट रहे श्रद्धालुओं पर बम से हमला, कई घायल, पुलिस ने कहा – ‘हमलावरों की अभी तक पहचान...

हमलावर मौके से फरार हो गए। सूचना पाकर पहुँची पुलिस ने लोगों की भीड़ को हटाकर मामला शांत किया और घायलों को अस्पताल भेजा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe