Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजमिश्रा भाइयों पर फैजल ने 8 साथियों के साथ बोला हमला, चाकू लेकर आए...

मिश्रा भाइयों पर फैजल ने 8 साथियों के साथ बोला हमला, चाकू लेकर आए थे: लात-घूसों से पीटा, अश्लील गाली-गलौज

पीड़ितों की शिकायत पर बिलासपुर की थाना कोनी पुलिस ने धारा 147, 148, 307, 294 और 323 के तहत केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने नामजद फैज़ल को और उसके 8 साथियों को अज्ञात में आरोपित बनाया है।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में 2 छात्रों पर हमला हुआ है। पीड़ितों के नाम ओमकुमार मिश्रा और जयकुमार मिश्रा हैं। दोनों घायलों का इलाज चल रहा है। मुख्य आरोपित फैज़ल है जिस पर बाइक सवार 8 साथियों के साथ हमले का आरोप है। पुलिस ने FIR दर्ज कर के आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है। घटना 3 जुलाई 2022 (रविवार) की है।

घटना की FIR पीड़ित जयकुमार मिश्रा ने दर्ज करवाई है। जयकुमार के मुताबिक, “मैं कोनी शासकीय इजीनियरिंग कालेज गेट पास रह कर गुरु घासीदास विश्‍वविद्यालय (GGU) में BSC प्रथम वर्ष की पढाई कर रहा हूँ। 3 जुलाई की शाम लगभग 7 बजे मैं अपने भाई ओम कुमार मिश्रा के साथ पैदल बाजार जा रहा था। तभी 3 बाइक से 8 लड़के आए। उसमें से एक का नाम फैज़ल है। हमलावरों में से एक के हाथ में चाकू था। वो हमसे गाली-गलौज करने लगे।”

शिकायत की कॉपी

शिकायत में आगे लिखा गया, “कुछ देर बाद हमलावर मुझे और मेरे भाई को लात-घूसों से पीटने लगे। इस बीच मेरे भाई ओमकुमार के सिर पर चाकू से वार किया गया। मेरे भाई ओमकुमार मिश्र के बाएँ हाथ और दाएँ कँधे पर भी चोट लगी है। मौके पर मौजूद आस-पास के कई लोगों ने इस घटना को देखा है।”

FIR

पीड़ितों की शिकायत पर बिलासपुर की थाना कोनी पुलिस ने धारा 147, 148, 307, 294 और 323 के तहत केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने नामजद फैज़ल को और उसके 8 साथियों को अज्ञात में आरोपित बनाया है। ऑपइंडिया ने इस मामले में SHO कोनी से बात की। उन्होंने बताया, “अभी इस मामले में पुलिस की जाँच चल रही है। कोई नया अपडेट जाँच के बाद ही बता पाएँगे।” घटना में अब तक किसी की गिरफ्तारी के सवाल को उन्होंने टाल दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

वे नहीं रहे… क्योंकि वे हिन्दू थे: अपनी नवजात बेटी को भी नहीं देख पाए गौ प्रेमी किशन भरवाड

27 वर्षीय हिंदू युवक किशन भरवाड़ को कट्टरपंथी मुस्लिमों ने 25 जनवरी 2022 को केवल हिंदू होने के कारण मार डाला था। वजह वही क्योंकि वे हिन्दू थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe