Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाज'सारी बहनें कैरेक्टरलेस हैं, ऐसे ही घूमती रहती हैं': कामरान-इमरान की मामी-दादी ने पीड़ित...

‘सारी बहनें कैरेक्टरलेस हैं, ऐसे ही घूमती रहती हैं’: कामरान-इमरान की मामी-दादी ने पीड़ित हिन्दू लड़की को ही बताया ‘बेशर्म’, अपहरण के बाद निकाह की थी तैयारी

इमरान के रिश्तेदार के तौर पर सीमा खातून मिलीं। हिजाब वाली सीमा खुद को इमरान की दूर के रिश्ते में मामी बता रहीं थीं। सीमा खातून ने दावा किया है कि आरोपित और पीड़िता का अफेयर था।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में 28 फरवरी, 2024 को पुलिस ने 13 साल की नाबालिग हिन्दू लड़की के अपहरण और रेप केस में इमरान और उसके भाई कामरान को गिरफ्तार किया था। अब आरोपित की रिश्तेदार मीडिया के सामने आई हैं जिन्होंने इमरान की करतूत को सही ठहराने की कोशिश की है। इमरान के रिश्तेदारों ने नाबालिग पीड़िता के साथ उसकी बहनों को भी चरित्रहीन साबित करने का प्रयास किया है। वहीं दूसरी तरफ पीड़िता के पिता को केस वापस न लेने पर जान से मार डालने की धमकी भी दी जा रही है।

‘ऑर्गेनाइजर’ की पत्रकार शुभी विश्वकर्मा ने बिलासपुर जा कर आरोपित और पीड़ित परिवारों से मुलाक़ात की। इमरान के रिश्तेदार के तौर पर सीमा खातून मिलीं। हिजाब वाली सीमा खुद को इमरान की दूर के रिश्ते में मामी बता रहीं थीं। सीमा खातून ने दावा किया है कि आरोपित और पीड़िता का अफेयर था। उन्होंने पीड़िता के साथ इमरान को भी नासमझ बता डाला। सीमा का यह भी दावा है कि इमरान उनके घर में रहा था लेकिन उनको दोनों के रिश्ते के बारे में कुछ नहीं पता था। बकौल सीमा, उन्हें ये सब पसंद नहीं है इसलिए अगर उनको पता होता तो वो एक्शन लेतीं।

सीमा खातून ने आगे कहा कि हिन्दू-मुस्लिम का मसला था इसलिए पता होता तो वो लोग विरोध करते। FIR में इमरान पर लगाए गए आरोपों को झूठा बताते हुए इमरान के रिश्तेदारों ने दावा किया कि लड़की के पापा और चाचा मिल कर आरोपित को फँसाने की साजिश रच रहे हैं। सीमा ने आगे कहा, “वो लड़कियाँ जितनी भी सारी बहनें हैं, सब कैरेक्टरलेस (चरित्रहीन) हैं। आज इस लड़के से, कल उस लड़के से।” सीमा ने दावा किया कि ये सब वो अपनी आँखों से देखती हैं। वहीं सीमा के साथ बैठी इमरान की दादी ने पीड़िता को ‘बेशर्म’ बताते हुए कहा, “अभी भी वो लड़की दिन-रात ऐसे ही घूमती-फिरती है”।

आरोपित के परिवार से मिलने के बाद शुभी पीड़िता के पिता से मिलीं। उन्होंने वो तमाम बातें एक बार फिर से दोहराया जो FIR में दर्ज है। उन्होंने बताया कि पुलिस में केस दर्ज करवाने के बाद आरोपित उनकी बेटी को स्टेशन पर छोड़ कर भाग निकला था। अपनी बेटी को नाबालिग और नासमझ बताते हुए पीड़िता के पिता का दावा है कि इमरान उनकी बेटी को बेचना चाहता था। पीड़िता के पिता का दावा है कि आरोपित के परिजनों द्वारा उनको केस वापस लेने के लिए कहा जा रहा है। ऐसा न करने पर पूरे परिवार को खत्म कर देने की धमकी भी दी जा रही है।

‘ऑर्गेनाइजर’ की ग्राउंड रिपोर्ट में यह बात भी निकल कर सामने आई कि जिस गाँव के आरोपित और पीड़ित हैं वहाँ मजारें बनी हुई हैं। कई अवैध निर्माण सरकारी सम्पत्तियों पर कर लिए गए हैं। इसके अलावा बाहर से आए कई लोगों ने मकानों पर भी कब्ज़ा जमा लिया है।

बताते चलें कि 12 फरवरी, 2024 को इमरान ने अपने भाई कामरान की मदद से बिलासपुर में 13 साल की नाबालिग पीड़िता का अपहरण किया था। इमरान एक मस्जिद में काम करता था। पीड़िता को उत्तर प्रदेश के हमीरपुर ला कर रेप किया गया। यहाँ पीड़िता को इस्लाम कबूल करवा के निकाह की भी तैयारी थी। हालाँकि, पुलिस के दबाव के चलते इमरान पीड़िता को वापस उसके घर जाने वाली ट्रेन पर बिठा कर फरार हो गया था। 28 फरवरी को इमरान और कामरान को पुलिस ने दबोच लिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -