Thursday, April 25, 2024
Homeदेश-समाजहिन्दू बनकर रहना चाहती है फराह, नमन से मंदिर में की शादी; परिजनों से...

हिन्दू बनकर रहना चाहती है फराह, नमन से मंदिर में की शादी; परिजनों से जताया जान का खतरा

फराह से माही बनी मुस्लिम युवती ने अपने परिजनों से जान का खतरा बताया है। मेरठ के थाना नौचंदी इलाके में रहने वाले एक मुस्लिम युवक ने 13 दिसंबर को शास्त्री नगर के नमन मदान नाम के युवक पर उसकी बहन फराह को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था।

उत्तर प्रदेश में लव जिहाद से जुड़े मामलों के बीच धर्म परिवर्तन का एक अलग मामला सामने आया है। जहाँ फराह नाम की मुस्लिम युवती ने नमन मदान नाम के हिन्दू लड़के के साथ भागकर ऋषिकेश के एक मंदिर में शादी कर ली। यही नहीं फराह ने अपना नाम खुद से बदलकर अब माही रख लिया है।

फराह से माही बनी मुस्लिम युवती ने अपने परिजनों से जान का खतरा बताया है। रिपोर्ट के अनुसार, मेरठ के थाना नौचंदी इलाके में रहने वाले एक मुस्लिम युवक ने 13 दिसंबर को शास्त्री नगर के नमन मदान नाम के युवक पर उसकी बहन फराह को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। अलग-अलग धर्म से मामला जुड़े होने के कारण पुलिस तत्काल नमन और फराह की तलाश में जुट गई। सर्विलांस के जरिए पुलिस को दोनों की लोकेशन ऋषिकेश के एक होटल में मिली।

जिस पर तुरंत एक्शन लेते हुए पुलिस ने दोनों को बरामद कर लिया। पूछताछ के दौरान फरहा उर्फ माही ने नौचंदी पुलिस को बताया कि वह बालिग है और उसे किसी ने न ही फुसलाया और न ही उसका अपहरण किया गया। उसने अपनी मर्जी से अपने प्रेमी नमन के साथ भाग कर शादी की है। उसके परिवारवाले इस रिश्ते के खिलाफ थे। यदि परिजनों को बताती तो वे नमन और उसकी हत्या करा सकते थे।

युवती ने कहा कि वह वापस अपने घर नहीं जाना चाहती। बल्कि वह हिन्दू बन कर नमन के साथ अपनी जिंदगी बिताना चाहती है। वहीं, नमन मदान ने पुलिस से बताया कि उसके घरवालों को इस रिश्ते से कोई आपत्ति नहीं थी। वह फराह को राजीखुशी अपनाना चाहते है। परिजनों ने मेरा साथ दिया है।

पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया, जैदी फॉर्म निवासी 23 वर्षीय फरहा की शास्त्रीनगर एल ब्लॉक निवासी कन्फेक्शनरी व्यापारी के बेटे नमन मदान से करीब डेढ़ साल पहले दोस्ती हुई थी। दोनों का एक दूसरे के घर बिज़नेस के सिलसिले में आना जाना था। जिस दौरान उनका रिश्ता प्यार में बदल गया। लेकिन परिजनों के डर से उन्होंने भाग कर शादी की।

इंस्पेक्टर नौचंदी संजय वर्मा का कहना है कि युवती और युवक दोनों ही बालिग हैं। पुलिस ने युवती की मेडिकल रिपोर्ट के बाद कोर्ट में उसका बयान दर्ज करा लिया है। युवती को अपने घरवालों से जान का खतरा है। इसलिए कोर्ट के आदेश पर युवती को सही सलामत उसके ससुराल पहुँचा दिया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इंदिरा गाँधी की 100% प्रॉपर्टी अपने बच्चों को दिलवाने के लिए राजीव गाँधी सरकार ने खत्म करवाया था ‘विरासत कर’… वरना सरकारी खजाने में...

विरासत कर देश में तीन दशकों तक था... मगर जब इंदिरा गाँधी की संपत्ति का हिस्सा बँटने की बारी आई तो इसे राजीव गाँधी सरकार में खत्म कर दिया गया।

जिस जज ने सुनाया ज्ञानवापी में सर्वे करने का फैसला, उन्हें फिर से धमकियाँ आनी शुरू: इस बार विदेशी नंबरों से आ रही कॉल,...

ज्ञानवापी पर फैसला देने वाले जज को कुछ समय से विदेशों से कॉलें आ रही हैं। उन्होंने इस संबंध में एसएसपी को पत्र लिखकर कंप्लेन की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe