Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजहाथों पर 'ॐ' गुदा-टूटी गर्दन, प्राइवेट पार्ट में वाइपर की पाइप... फरीदाबाद में मिली...

हाथों पर ‘ॐ’ गुदा-टूटी गर्दन, प्राइवेट पार्ट में वाइपर की पाइप… फरीदाबाद में मिली महिला की अर्धनग्न लाश, निर्भया जैसी दरिंदगी की हुई शिकार

मृतका के शरीर पर चोटों के निशान भी थे। मौत की वजह सिर पर चोट आना बताया जा रहा है। घटनास्थल पर काफी खून बहा था जो शव बरामदगी के समय सूख चुका था।

हरियाणा के फरीदाबाद में एक महिला दिल्ली की निर्भया जैसी दरिंदगी का शिकार हुई है। पुलिस ने महिला का अर्धनग्न शव बरामद किया है। उसके प्राइवेट पार्ट में वाइपर की पाइप डाल दी गई थी। गर्दन टूटी हुई थी। उसके दोनों हाथ पर ॐ लिखा हुआ था। मृतका की पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस ने केस दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है। शव 2 से 3 दिन पुराना बताया जा रहा है। पुलिस को मंगलवार (8 नवम्बर 2022) को मिला।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस को बल्लभगढ़ के सेक्टर 7- A में एक महिला की लाश पड़ी होने की सूचना मिली। लाश गुरूद्वारे के पीछे एक बंद पड़ी गली से बरामद हुई। महिला की उम्र लगभग 34 वर्ष बताई जा रही है। शुरूआती जाँच में पता चल रहा है कि पीड़िता के साथ पहले रेप हुआ है। बाद में महिला के प्राइवेट पार्ट में वाइपर की पाइप डाल गर्दन को तोड़ दिया गया। लाश का पोस्टमार्टम करवाकर पहचान के लिए उसे मोर्चरी में रखवा दिया गया है।

पार्क के बगल में कपड़े प्रेस करने वाली एक महिला के बेटे ने सबसे पहले शव को देखा और पुलिस को सूचना दी। बताया जा रहा है कि मृतका की दोनों हथेलियों पर ॐ के साथ दाएँ हाथ पर आरएम स्टार लिखा हुआ है। बताया जा रहा है कि लाश को घसीटा गया था। सेक्टर 7 थाना पुलिस ने आसपास के CCTV फुटेज निकाल कर जाँच शुरू कर दी है। स्थानीय लोगों से भी जानकारी जुटाई जा रही है। जिस जगह ये शव मिला है, वहाँ एक ऐसा पार्क है जिसमें लोगों का आना-जाना कम होता है।

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार महिला ने सूट पहन रखा था। नीचे के कपड़े गायब थे। मृतका के शरीर पर चोटों के निशान भी थे। मौत की वजह सिर पर चोट आना बताया जा रहा है। घटनास्थल पर काफी खून बहा था जो शव बरामदगी के समय सूख चुका था। इस बात की भी आशंका जताई जा रही है कि मृतका को कहीं और मार कर वहाँ फेंका गया था। पुलिस ने IPC की धारा 376 (रेप) और 302 (हत्या) के तहत FIR दर्ज कर ली है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -