मेरी मौत के जिम्मेदार गहलोत और पायलट: कर्ज में डूबे किसान सोहनलाल के अंतिम शब्द

"...मेरी मौत का मुकदमा अशोक गहलोत पर कर देना। मेरे गाँव ठाकरी के वासियों से भी विनती करता हूँ कि गाँव में एकता बनाए रखना। मेरा घर मेरा परिवार आप लोगों के भरोसे छोड़कर जा रहा हूँ। मेरे परिवार का ख्याल रखना... एक बात और अब की बार सरपंची गांव में रखना यह विनती है मेरी, आपका सोहन लाल कड़ेला।"

राजस्थान में जिला श्रीगंगानगर के एक गाँव ठीकरी में रविवार (जून 23, 2019) को एक किसान ने आत्महत्या कर ली। 45 वर्षीय किसान सोहनलाल ने कर्जमाफ़ी न होने के कारण जहर खाकर अपनी जान दे दी। सोहनलाल ने मरने से पहले एक वीडियो और दो पेज का सुसाइड नोट भी छोड़ा, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि गहलोत सरकार चुनाव से पहले किए अपने वादों को पूरा करने में असफल रही और उन्हीं के कारण वह आत्महत्या कर रहे हैं।

सोहनलाल ने अपना वीडियो रविवार (जून 23, 2019) की सुबह रिकॉर्ड किया था और जहर खाने से पहले उसे सोशल मीडिया पर अपलोड किया था। अपने सुसाइड नोट में सोहन लाल ने पायलट और गहलोत का नाम लेकर भावनात्मक संदेश लिखा था। उन्होंने इस नोट में बताया था कि उन्हें ये भयानक कदम सिर्फ़ राजस्थान की वर्तमान सरकार के कारण उठाना पड़ रहा है, जो अपने वादे को पूरा करने और किसानों की कर्जमाफ़ी करने में असफल रही।

एनडीटीवी की खबर अनुसार अपने सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा, “मैं आज अपनी जीवन लीला समाप्त करने जा रहा हूँ। इसमें किसी का कोई दोष नहीं है। इस मौत के जिम्मेदार गहलोत व सचिन पायलट हैं। उन्होंने बकायदा बयान दिया था कि हमारी सरकार आई तो 10 दिन में आप का कर्ज माफ कर देंगे। अब इनके वादे का क्या हुआ। सभी किसान भाइयों से विनती है कि मेरी लाश तब तक मत उठाना जब तक सभी किसानों का कर्ज माफ ना हो। आज सरकार को झुकाने का वक्त आ गया है। अब इनका मतलब निकल गया है।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

उन्होंने आगे लिखा, “सभी भाइयों से विनम्र निवेदन है कि सब किसान भाइयों के लिए मरने जा रहा हूँ। सबका भला होना चाहिए किसान की एकता को आज दिखाना है। मेरी मौत का मुकदमा अशोक गहलोत पर कर देना। मेरे गाँव ठाकरी के वासियों से भी विनती करता हूँ कि गाँव में एकता बनाए रखना। मेरा घर मेरा परिवार आप लोगों के भरोसे छोड़कर जा रहा हूँ। मेरे परिवार का ख्याल रखना… एक बात और अब की बार सरपंची गांव में रखना यह विनती है मेरी, आपका सोहन लाल कड़ेला ।”

जानकारी के मुताबिक वहाँ के कुछ लोगों ने बताया कि सोहनलाल पर ओरियंटल बैंक और सिंडीकेट बैंक का 3 लाख रुपए कर्ज बकाया था, जिसके लिए सोहन लगातार ब्याज देता था।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

गौरी लंकेश, कमलेश तिवारी
गौरी लंकेश की हत्या के बाद पूरे राइट विंग को गाली देने वाले नहीं बता रहे कि कमलेश तिवारी की हत्या का जश्न मना रहे किस मज़हब के हैं, किसके समर्थक हैं? कमलेश तिवारी की हत्या से ख़ुश लोगों के प्रोफाइल क्यों नहीं खंगाले जा रहे?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: