Thursday, May 30, 2024
Homeदेश-समाजगुलबहार खान की शिकायत पर हरिद्वार में FIR, जितेंद्र त्यागी (वसीम रिजवी) ने बताया...

गुलबहार खान की शिकायत पर हरिद्वार में FIR, जितेंद्र त्यागी (वसीम रिजवी) ने बताया कट्टरपंथी मुल्लाओं की बौखलाहट; कहा- सत्य हेट स्पीच नहीं

"भारत के विभिन्न थानों में हेट स्पीच बता कर मेरे विरुद्ध जो मुकदमे दर्ज करवाए जा रहे हैं ये कट्टरपंथी मुल्लाओं की, मुस्लिम समाज के आतंकी लोगों की बौखलाहट है। क्योंकि वो समझ रहे हैं कि उनकी पोल खुल चुकी है। सच्चाई कहना हेट स्पीच नहीं है।"

हरिद्वार की धर्मसंसद में आपत्तिजनक भाषण देने के आरोप में जितेंद्र नारायण त्यागी (पूर्व वसीम रिज़वी) पर FIR दर्ज कर ली गई है। यह धर्मसंसद महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद द्वारा आयोजित की गई थी। इसी आयोजन का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस FIR में शिकायतकर्ता का नाम हरिद्वार निवासी गुलबहार खान है।

शिकायत में मुताबिक, “वसीम रिज़वी जो अब जितेंद्र नारायण त्यागी के नाम से जाने जाते हैं, ने कुछ अन्य लोगों के साथ मिल कर पैगम्बर मोहम्मद और उनके अनुयायियों के खिलाफ गलत बयानी की है। यह एक सोची-समझी साजिश है। आरोपितों ने इन बयानों को सोशल मीडिया पर भी शेयर किया है।”

FIR

यह धर्मसंसद उत्तरी हरिद्वार के भूपतवाला क्षेत्र में 17 से 19 दिसम्बर तक चली थी। इसमें देश भर के तमाम संतों और हिन्दू संगठनों के लोगों ने हिस्सा लिया था। पुलिस ने धारा 153 A के तहत केस दर्ज किया है।

इस पूरे घटनाक्रम पर जितेंद्र नारायण ने ऑपइंडिया को अपना वीडियो बयान भेज कर अपना पक्ष रखा है। इस बयान में उन्होंने कहा है, “मेरे विरुद्ध हरिद्वार में जो मुकदमा दर्ज करवाया गया है, इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद में भी मुकदमा दर्ज करवाया था। भारत के विभिन्न थानों में हेट स्पीच बता कर मेरे विरुद्ध जो मुकदमे दर्ज करवाए जा रहे हैं ये कट्टरपंथी मुल्लाओं की, मुस्लिम समाज के आतंकी लोगों की बौखलाहट है। क्योंकि वो समझ रहे हैं कि उनकी पोल खुल चुकी है। सच्चाई कहना हेट स्पीच नहीं है।”

जितेंद्र नारायण त्यागी ने आगे कहा, “हिन्दू संगठित हो रहा है। इससे मुस्लिम वोटों की राजनीति करने वाली सियासी पार्टियाँ घबराई हुई हैं। भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए जो हिन्दुओं में फूट डाली जाती है, उनको लग रहा है कि यह फूट अगर नहीं पड़ पाई तो उनका राजनीति से नामोनिशान मिट जाएगा। भारतीय जनता पार्टी को कमजोर करने के लिए हिदुत्व को कमजोर किया जा रहा है।”

उदासीन अखाड़े के महंत बजरंग मुनि उदासीन ने इस बयान को शेयर करते हुए लिखा है, “किसी भगवाधारी को हाथ लगाने से पहले उत्तराखंड पुलिस को ओवैसी, बुखारी, तौकीर और बरकाती जैसे तमाम नफरत के पुतलों को जेल भेजना होगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जो पुराना फोन आप यूज नहीं करते उसके बारे में मुझे बताइए… कहीं अपनी ‘दुकानदारी’ में आपकी गर्दन न नपवा दे न्यूजलॉन्ड्री वाला ‘झबरा’

अभिनंदन सेखरी ने बताया है कि वह फोन यहाँ बेघर लोगों को देने जा रहा है। ऐसे में फोन देने वाले को नहीं पता होगा कि फोन किसके पास जा रहा है।

कौन हैं पुणे के रईसजादे को बेल देने वाले एलएन दावड़े, अब मीडिया से रहे भाग: जिसने 2 को कुचल कर मार डाला उसे...

पुणे पोर्श कार के आरोपित को बेल देने वाले डॉक्टर एल एन दावड़े की एक वीडियो सामने आई है इसमें वो मीडिया से भाग रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -