Thursday, April 18, 2024
Homeदेश-समाज'हिजाब पर मौलाना निर्णय लेंगे, जज नहीं': पूर्व CEC कुरैशी ने कहा- लव जिहाद...

‘हिजाब पर मौलाना निर्णय लेंगे, जज नहीं’: पूर्व CEC कुरैशी ने कहा- लव जिहाद नहीं, हिंदू लड़कियाँ मुस्लिम लड़कों को उड़ा ले जाती हैं

कुरैशी ने कहा कि सीएम योगी की जीत, सांप्रदायिकता की जीत है। पहला ध्रुवीकरण देश के बँटवारे के दौरान हुआ, दूसरा बाबरी मस्जिद के दौरान और तीसरा फेज आजकल चल रहा है।

भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त वाईएस कुरैशी (Former Chief Election Commissioner SY Quraishi) ने उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की जीत को सांप्रदायिकता की जीत बताया है। उन्होंने कहा कि लव जिहाद को प्रोपेगेंडा है। इससे मुस्लिम लड़कियाँ सबसे अधिक नुकसान में हैं, क्योंकि मुस्लिम लड़कियों की नजर से देखें तो कहा जा सकता है कि पढ़ी-लिखी हिंदू लड़कियाँ पढ़े-लिखे मुस्लिम लड़कों को उड़ा ले जाती हैं।

कुरैशी ने कहा कि भारत में मुस्लिमों की जनसंख्या तेजी से बढ़ने को लेकर कहा कि अगले 1000 सालों तक ऐसा नहीं हो सकता है। यह दिल्ली के गणित के प्रोफेसर दिनेश सिंह की एक मॉडल में साबित हो चुका है। उन्होंने कहा कि मुस्लिमों में परिवार नियोजन कम है, लेकिन इसका संबंध मजहब से नहीं है। मजाकिया अंदाज में उन्होंने कहा कि सोचा था कि देश में मुस्लिम आबादी बढ़ जाएगी तो प्रधानमंत्री बनेंगे, लेकिन हजार साल तक ऐसा नहीं होगा।

मुस्लिमों द्वारा चार शादियाँ करने के सवाल पर कुरैशी ने कहा कि भारत में 1000 पुरुषों पर 920-22 का रेश्यो है। ऐसे में हर मर्द को एक पत्नी मिलनी मुश्किल है, कोई चार शादी कैसे कर सकता है। कुरान का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि कुरान में भी सिर्फ एक आयत में बेवा और यतीम औरतों से निकाह करने की बात कही गई है। 

कुरैशी ने कहा कि यूपी में सीएम योगी की जीत सांप्रदायिकता की जीत है, क्योंकि देश में ध्रुवीकरण का युग चल रहा है। उन्होंने कहा कि पहला ध्रुवीकरण देश के बँटवारे के दौरान हुआ, दूसरा बाबरी मस्जिद के दौरान और तीसरा फेज आजकल चल रहा है। हिंदू को स्वभाव से सेक्युलर बताते हुए उन्होंने कहा कि देश की जनता को तेजी से सांप्रदायिक बनाया जा रहा है।

कर्नाटक से शुरू हुए हिजाब विवाद पर भी कुरैशी ने अपनी राय दी। उन्होंने कहा कि हिजाब कुरान का हिस्सा नहीं है, लेकिन शालीन कपड़े पहनने की बता कही गई है। उन्होंने कहा कि स्कूल यूनिफॉर्म में सिखों की पगड़ी और सिंदूर की इजाजत है तो फिर हिजाब से दिक्कत क्या है। हिजाब जरूरी है या नहीं, ये जज साहब नहीं, मौलाना बताएँगे। मौलाना IPC के फैसले देने लगें तो क्या ये सही होगा?

दैनिक भास्कर से बातचीत में कुरैशी ने EVM पर सवाल उठाने वालों को करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि ईवीएम हमेशा भरोसेमंद रहा है, जबकि बैलेट बीजेपी के पक्ष में जाता है। उन्होंने कहा कि अगर ईवीएम में गड़बड़ी होती तो भाजपा बंगाल चुनाव नहीं हारती।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘केवल अल्लाह हू अकबर बोलो’: हिंदू युवकों की ‘जय श्री राम’ बोलने पर पिटाई, भगवा लगे कार में सवार लोगों का सर फोड़ा-नाक तोड़ी

बेंगलुरु में तीन हिन्दू युवकों को जय श्री राम के नारे लगाने से रोक कर पिटाई की गई। मुस्लिम युवकों ने उनसे अल्लाह हू अकबर के नारे लगवाए।

छतों से पत्थरबाजी, फेंके बम, खून से लथपथ हिंदू श्रद्धालु: बंगाल के मुर्शिदाबाद में रामनवमी शोभायात्रा को बनाया निशाना, देखिए Videos

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में रामनवमी की शोभा यात्रा पर पत्थरबाजी की घटना सामने आई। इस दौरान कई श्रद्धालु गंभीर रूप से घायल भी हुए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe