Sunday, May 19, 2024
Homeदेश-समाजजहाँगीरपुरी में मोहम्मद सोनू को पकड़ने गई पुलिस पर पत्थरबाजी, वीडियो में गोली चलाते...

जहाँगीरपुरी में मोहम्मद सोनू को पकड़ने गई पुलिस पर पत्थरबाजी, वीडियो में गोली चलाते दिखा था: बीवी हिरासत में

हालाँकि, दिल्ली पुलिस ने पत्थरबाजी की इस घटना को तूल न देने का आग्रह करते हुए कहा है कि इसे बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया जा रहा है। दिल्ली पुलिस ने इसे छोटी और एक छिटपुट किस्म की घटना करार दिया। एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।

दिल्ली के जहाँगीरपुरी इलाके में पुलिस की टीम पर एक बार फिर पथराव की घटना सामने आई है। पुलिस इस इलाके में सोमवार (18 अप्रैल, 2022) को हिंसा में शामिल कुछ लोगों से पूछताछ करने के लिए गई थी। इसी बीच जब वह एक महिला से पूछताछ कर रहे थे, तभी कुछ लोगों ने अपने घरों से पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, दिल्ली के जहाँगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव पर हुई हिंसा (Delhi Jahangirpuri Riot) के बाद से भारी पुलिस बल तैनात है। पुलिस लोगों से शांति बनाए रखने की अपील कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पथराव के बावजूद पुलिस की टीम महिला को अपने ले गई। मोहम्मद सोनू, जो कि वीडियो में गोली चलाता दिख रहा है, वह महिला उसकी बीवी है। पुलिस ने इस मामले में पूछताछ करने के लिए उसे पकड़ा है। जहाँगीरपुरी हिंसा के 100 से ज्यादा वीडियो व सीसीटीवी फुटेज सामने आए हैं। इन्हीं में से एक वीडियो में मोहम्मद सोनू हिंसा में गोली चलाते हुए दिख रहा है। वह हिस्ट्रीशीटर सलीम चिकना का भाई है। वीडियो में देखा जा सकता है कि जब अन्य पत्थरबाज शोभा यात्रा पर पत्थर बरसा रहे थे, उसी बीच एक नीले रंग का कुर्ता और जालीदार टोपी पहना हुआ सोनू चिकना गोली चला रहा था।

हालाँकि, दिल्ली पुलिस ने पत्थरबाजी की इस घटना को तूल न देने का आग्रह करते हुए कहा है कि इसे बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया जा रहा है। दिल्ली पुलिस ने इसे छोटी और एक छिटपुट किस्म की घटना करार दिया। एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।

उत्तर-पश्चिम जिले के डीसीपी ने एएनआई को बताया, ”17 अप्रैल को सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक व्यक्ति (नीले कुर्ते में) जहाँगीरपुरी में हुई हिंसा के दौरान गोलियाँ चला रहा था। पुलिस की टीम सीडी पार्क रोड स्थित उसके घर पर तलाशी लेने और उसके परिवार वालों से पूछताछ करने के लिए गई थी।” उन्होंने बताया कि जब पुलिस उस शख्स के घरवालों से पूछताछ कर रही थी, तभी उसके परिवालों ने उन पर पथराव कर दिया। इस मामले में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है और उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल स्थिति अभी पूरी तरह से नियंत्रण में है।

वहीं, दिल्ली के पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना (Rakesh Asthana) ने जनता से अफवाहों के ऊपर ध्यान नहीं देने को कहा है। उन्होंने कहा कि क्राइम ब्रांच ने 14 टीमें बनाई हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से कुछ लोग माहौल बिगाड़ रहे हैं, जो लोग गलत सूचना फैला रहे हैं उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।

जहाँगीरपुरी में रहने वाले लोगों के मुताबिक, यहाँ हिन्दू महिलाओं का रेप और पुलिस से मारपीट आम बात है। स्थानीय निवासी दिनेश ने ऑपइंडिया से बताया, “ऐसे पीड़ितों की मदद भी कैसे की जा सकती है, जो डर और प्रताड़ना के कारण जगह छोड़ कर ही चले गए हैं।” उन्होंने बताया कि 4-5000 रुपए छीने जाने के एक मामले में आरोपित ने पुलिस पर ही पिस्तौल तान दी थी, ये 5-6 महीने पहले की बात है। उन्होंने याद दिलाया कि जहाँगीरपुरी में कभी मुहर्रम पर कोई खतरे की बात सामने नहीं आई, जबकि वहाँ हर साल इसके जुलूस निकलते हैं, क्योंकि हिन्दू लोगों ने कभी कोई दिक्कत नहीं की।

बता दें कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच इस मामले में अब तक 21 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, जिनमें कई हिंदू भी हैं। इसके अलावा आरोपितों में 2 नाबालिग भी हैं। हिंसा में 8 पुलिसकर्मी सहित नागरिकों के घायल होने की सूचना भी है। जहाँगीरपुरी हिंसा के बाद क्राइम ब्रांच की टीम घटनास्थल पर पहुँचकर सबूत जुटा रही है। क्राइम ब्रांच के अलावा फोरेंसिक की एक भी टीम भी जहाँगीरपुरी के सी ब्लॉक मस्जिद में जाँच के लिए पहुँची है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘गिरफ्तारी से आजादी’ अपने घोषणापत्र में लिखने वाली कॉन्ग्रेस ने गिरफ्तार करवाया एक आम नागरिक को… ‘न्याय’ सिर्फ एक परिवार तक सीमित होगा?

भिकू म्हात्रे ने 'कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम शब्द के इस्तेमाल' की बात जोर देकर कही, जिसे खुद कॉन्ग्रेस समर्थक नकार रहे थे।

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भिकू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भिकू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -