Saturday, May 25, 2024
Homeदेश-समाजजहाँगीरपुरी मस्जिद पहुँची फोरेंसिक टीम, सुप्रीम कोर्ट में दंगाइयों के बचाव में याचिका: अब...

जहाँगीरपुरी मस्जिद पहुँची फोरेंसिक टीम, सुप्रीम कोर्ट में दंगाइयों के बचाव में याचिका: अब तक 23 गिरफ्तारी, कई हिंदू भी

याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि ये दूसरी बार है जब अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है। उनके पत्र के अनुसार, पहले हनुमान जन्मोत्सव में शामिल कुछ लोग मस्जिद में घुसे, वहाँ झंडा लगाया और फिर दूसरे समुदाय की ओर से पत्थरबाजी शुरू हुई।

जहाँगीरपुरी हिंसा की जाँच में 23 लोगों की गिरफ्तारी होने के बाद अब यह मामला सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया है। कोर्ट में याचिका डाल कर हिंसा की जाँच के लिए कमेटी गठित करने की माँग की गई है। याचिकाकर्ता ने भारत के चीफ जस्टिस एनवी रमना को पत्र लिखकर मामले में स्वत: संज्ञान लेने को कहा। माँग है कि कोर्ट की निगरानी में केस की जाँच हो। 

वकील अमृतपाल सिंह खालसा ने अपनी याचिका में कहा कि पिछले साल ही दिल्ली पुलिस को दिल्ली दंगे मामले में फटकार लगी थी। उस दौरान दिल्ली पुलिस की छवि कमजोर हुई थी और लोगों का विश्वास भी उन पर कम हुआ था। याचिकाकर्ता ने याचिका में दिल्ली पुलिस पर पक्षपाती जाँच और दंगे करने वालों को सीधे तौर पर बचाने का आरोप लगाया।

इस याचिका में याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि ये दूसरी बार है जब अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है। उनके पत्र के अनुसार, पहले हनुमान जन्मोत्सव में शामिल कुछ लोग मस्जिद में घुसे, वहाँ झंडा लगाया और फिर दूसरे समुदाय की ओर से पत्थरबाजी शुरू हुई। जबकि शोभा यात्रा में शामिल पुलिसकर्मियों का कहना है कि उनकी गाड़ी शोभा यात्रा के साथ-साथ थी और किसी ने भी दूसरे समुदाय के लोगों को भड़काने का काम नहीं किया

जहाँगीरपुरी हिंसा में 21 लोग गिरफ्तार

गौरतलब है कि इस मामले में अब तक दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच 23लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। इनमें कई हिंदू भी हैं। आरोपितों में 2 नाबालिग हैं। हिंसा में 8 पुलिसकर्मी सहित नागरिकों के घायल होने की सूचना है। घटना के बाद पुलिस अपनी तरफ से हाई अलर्ट पर है। हर जगह की अफवाहों को खत्म करने का प्रयास हो रहा है। पड़ताल में पुलिस साजिशकर्ताओं के बारे में जानकारी जुटा रही है।  खबर है कि जाँच में तीन तलवारें और पाँच पिस्टल बरामद हुई हैं।

हिंदू त्योहारों पर हिंदुओं को बनाया जा रहा निशाना, NIA से जाँच की माँग

केस की जाँच एनआईए से कराने की माँग भी सामने आई है। इस संबंध में विनीत जिंदल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दी है। इसमें कहा गया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए और सात अलग-अलग राज्यों में देश भर में कई घटनाओं से पता चलता है कि देश भर में हिंदुओं को निशाना बनाने के लिए आइएस और अन्य राष्ट्र विरोधी और ताकतों के साथ आतंकी फंडिंग का लिंक है। याचिकाकर्ता ने इस बात पर दुख जताया कि हनुमान जन्मोत्सव और राम नवमी के शुभ अवसर देश के विभिन्न राज्यों में हिंसा की घटना सामने आई।

बता दें कि जहाँगीरपुरी हिंसा के बाद क्राइम ब्रांच की टीम घटनास्थल पर पहुँचकर सबूत जुटा रही है। क्राइम ब्रांच के अलावा फोरेंसिक की एक भी टीम भी जहाँगीरपुरी के सी ब्लॉक मस्जिद में जाँच के लिए पहुँची हैं।

मोहम्मद सोनू चिकना ने चलाई गोली, वीडियो में हुआ कैद

घटना के 100 से ज्यादा वीडियो व सीसीटीवी फुटेज सामने आए हैं। इन्हीं में से एक में हिंसा में गोली चलाने वाला मोहम्मद सोनू सामने आया है। उसकी गिरफ्तारी की पुष्टि अभी नहीं हो पाई है। वह हिस्ट्रीशीटर सलीम चिकना का भाई। वीडियो में दिख रहा है कि कैसे जब अन्य पत्थरबाज शोभायात्रा पर पत्थर बरसा रहे थे उसी बीच एक नीले कुर्ते और जालीदार टोपी में आकर गोली चलाता है। ये कोई और नहीं सोनू चिकना ही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

OBC आरक्षण में मुस्लिम घुसपैठ पर कलकत्ता हाई कोर्ट का फैसला देश की आँख खोलने वाला: PM मोदी ने कहा – मेहनती विपक्षी संसद...

पीएम मोदी ने कहा कि मेरे लिए मेरे देश की 140 करोड़ जनता साकार ईश्वर का रूप है। सरकार और राजनीति दलों को जनता प्रति उत्तरदायी होना चाहिए।

SFI के गुंडों के बीच अवैध संबंध, ड्रग्स बिजनेस… जिस महिला प्रिंसिपल ने उठाई आवाज, केरल सरकार ने उनका पैसा-पोस्ट सब छीना, हाई कोर्ट...

कागरगोड कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ रेमा एम ने कहा था कि उन्होंने छात्र-छात्राओं को शारीरिक संबंध बनाते देखा है और वो कैंपस में ड्रग्स भी इस्तेमाल करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -