Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजगैंगस्टर फिरोज अली की मौत, गाय को बचाने में UP पुलिस की गाड़ी पलटी:...

गैंगस्टर फिरोज अली की मौत, गाय को बचाने में UP पुलिस की गाड़ी पलटी: टोयोटा इनोवा से मुंबई से लखनऊ लाया जा रहा था

तेज रफ़्तार के कारण एक गाय को बचाने के चक्कर में यूपी पुलिस की गाड़ी सड़क के दूसरे लेन में घुस गई। गैंगस्टर फिरोज अली की मौत हो गई, जबकि उसके साढ़ू अफजल का हाथ टूट गया।

उत्तर प्रदेश में एक और गैंगस्टर को पकड़ कर लाती गाड़ी पलट गई है। यूपी पुलिस गैंगस्टर एक्ट के आरोपित फिरोज अली को पकड़ने मुंबई गई थी। वहाँ से उसे लाया जा रहा था, तभी मध्य प्रदेश में ग्वालियर-बैतूल राष्ट्रीय राजमार्ग-46 पर चांचौड़ा थाना क्षेत्र स्थित पाखरिया पुरा टोल के पास गाड़ी पलट गई। इसमें आरोपित फिरोज अली की मौत हो गई। इस घटना में 2 पुलिसकर्मियों सहित 4 लोग घायल भी हुए हैं।

सभी घायलों का इलाज राजगढ़ अस्पताल में चल रहा है। आरोपित फिरोज अली को मुंबई से लखनऊ लाने के लिए ठाकुरगंज थाने की पुलिस को भेजा गया था। एसीपी चौक आईपी सिंह ने जानकारी दी है कि मूल रूप से बहराइच के दरगाह शरीफ घंटाघर क्षेत्र का निवासी फिरोज अली उर्फ़ शमी कई दिनों से फरार चल रहा था और पुलिस को उसकी तलाश थी। दारोगा जगदीश प्रसाद पांडेय व सिपाही संजीव सिंह को उसे लाने मुंबई भेजा गया था।

ये पुलिसकर्मी निजी गाड़ी से गैंगस्टर को लाने मुंबई गए हुए थे। इस दौरान पुलिस के साथ फिरोज अली का साढ़ू भाई अफजल भी था। आरोपित के ठिकानों को तलाश करने और उसकी पहचान के लिए पुलिस उसे लेकर गई थी। लखनऊ निवासी सुलभ मिश्र नामक व्यक्ति गाड़ी चला रहा था। पुलिस ने नाला सोपारा के झुग्गी-झोपड़ियों में रह रहे फिरोज अली को गिरफ्तार करने में सफलता पाई। फिर उसे लखनऊ लाया जा रहा था।

‘दैनिक जागरण’ की खबर के अनुसार, रविवार (सितम्बर 27, 2020) सुबह लगभग साढ़े छह बजे पुलिस टीम की गाड़ी गुना जिले की पाखरिया पुरा टोल से ब्यावरा के पास पहुँची, जहाँ वो तेज़ रफ़्तार के कारण अनियंत्रित होकर पलट गई। तेज रफ़्तार होने के कारण गाड़ी सड़क के दूसरे लेन में घुस गई। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि गाड़ी के एक दरजवाजे से आरोपित सहित 3 लोग नीचे गिर गए। फिरोज की जहाँ मौत हो गई, वहीं अफजल का हाथ टूट गया।

दारोगा जगदीश, सिपाही संजीव और ड्राइवर सुलभ भी घायल हुए हैं। चांचौड़ा टीआइ राकेश गुप्ता ने उच्चाधिकारियों को जानकारी दी है कि सड़क पर एक गाय को बचाने के चक्कर में ये हादसा हुआ। एसपी राजेश कुमार सिंह ने घटनास्थल पर पहुँच कर मामले की छानबीन की। कुछ लोगों का ये भी कहना है कि ड्राइवर को झपकी आ गई थी, जिस कारण गाड़ी पलटी। वहीं दरोगा जगदीश ने गाय को बचाने के चक्कर में हादसा होने की बात कही।

गुना एसपी राजेश सिंह ने कहा है कि इस मामले की जाँच के लिए जिला एवं सत्र न्यायाधीश से निवेदन किया गया है। गैंगस्टर फिरोज अली के ऊपर चोरी और लूट समेत 6 मामले दर्ज थे। कोर्ट ने उसके खिलाफ गिरफ़्तारी वारंट जारी किया था। जिस गाड़ी से हादसा हुआ, वो टोयोटा की इनोवा कार थी। इस हादसे में गाड़ी के भी परखच्चे उड़ गए हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में नीलगाय के कारण हादसा होने की बात भी कही गई है।

इससे पहले जुलाई 2020 में जब 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपित खूँखार गुंडे विकास दुबे को जब यूपी एसटीएफ उज्जैन से गिरफ्तार कर के कानपुर ला रही थी, तब बारिश में गाड़ी के एक्सीडेंट होने के बाद गैंगस्टर ने एक पुलिसकर्मी का पिस्टल छीन कर भागना चाहा और एनकाउंटर में मारा गया। इसी तरह उसके गुर्गे प्रभात मिश्रा को भी फरीदाबाद से पुलिस ला रही थी लेकिन वो भी एनकाउंटर में मारा गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,341FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe