Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजगाजियाबाद गैंगरेप निकला फेक: प्रॉपर्टी विवाद की वजह से 5 लोगों को फँसाया, झूठी...

गाजियाबाद गैंगरेप निकला फेक: प्रॉपर्टी विवाद की वजह से 5 लोगों को फँसाया, झूठी कहानी गढ़ने में महिला के मददगार थे आजाद और उसके साथी

आजाद ने गैंगरेप की गढ़ी हुई कहानी को पब्लिसिटी दिलाने के लिए पेटीएम के जरिए एक शख्स को पैसे भी दिए थे। उसने कई आधार कार्ड भी बनवा रखे हैं।

गाजियाबाद के कथित गैंगरेप मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। जाँच में सामने आया है कि खुद को पीड़िता बताने वाली महिला ने संपत्ति विवाद के चलते शाहरुख, शाहरुख के भाई जावेद, औरंगजेब, जहीर उर्फ ढोला और दीनू को फँसाने की साजिश रची थी। पुलिस ने गुरुवार (20 अक्टूबर 2022) को फर्जी गैंगरेप मामले में 5 लोगों को फँसाने वाली महिला के साथ साजिश करने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

गुरुवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस ने बताया कि गाजियाबाद में महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म नहीं हुआ है, बल्कि संपत्ति विवाद में महिला ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर यह साजिश रची। इस मामले में पुलिस ने महिला के दोस्त आजाद और उसके दो दोस्तों गौरव और अफजल को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने कहा है कि गिरफ्तार किए गए लोगों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

मेरठ रेंज के आईजी प्रवीण कुमार ने इस घटना का खुलासा करते हुए मीडियाकर्मियों को बताया, “इन लोगों ने मिलकर षड्यंत्र रचा था। पुलिस जाँच में इन लोगों ने अपना जुर्म कबूल किया है। उनके कबूलनामे के अलावा इस घटना से संबंधित फोरेंसिक और वैज्ञानिक साक्ष्य मिलने के बाद चीजें स्पष्ट हो गई हैं।”

उन्होंने कहा, “आजाद नाम के शख्स के रिकॉर्ड की जाँच करने पर पता चला कि उसने कई आधार कार्ड बनाए हैं। उसने महिला के पति के नाम से भी आधार कार्ड बनवाया है। इसको लेकर अलग से मामला दर्ज किया गया है। पहले से चल रहे एक कानूनी केस में बाधा डालने के लिए यह साजिश रची गई थी। उस पर भी अलग से एक मामला दर्ज किया गया है। हम साक्ष्यों के आधार पर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।”

पुलिस द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए आईजी प्रवीण कुमार ने कहा, “पूरी टीम ने इस मामले में बहुत अच्छा काम किया है। खासतौर पर मैं क्राइम ब्रांच के एसपी का उल्लेख करना चाहूँगा, जिन्होंने बुधवार (19 अक्टूबर 2022) को इस मामले को पूरा समय दिया और अस्पताल गए। गुरुवार सुबह उन्होंने सभी मेडिकल रिपोर्ट्स को समझने की कोशिश की। इस मामले की सभी एंगल से जाँच करने के बाद हमने अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों द्वारा इस्तेमाल की गई कार के साथ कुछ और चीजें भी बरामद की गई हैं। इस मामले में आगे की जाँच जारी है।”

उन्होंने आगे कहा, “इस मामले को लेकर तरह-तरह की भ्रामक जानकारियाँ फैलाई जा रही थी। जब जाँच चल रही होती है तो हम बीच में प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं कर सकते। लेकिन इस मामले को लेकर भ्रम फैलाया जा रहा था। इसलिए हमने सभी तथ्यों को प्रेस के सामने रखना जरूरी समझा।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, आजाद ने रेप केस को और ज्यादा पब्लिसिटी देने के लिए पेटीएम के जरिए एक शख्स को पैसे भी दिए थे। इसके सबूत भी मिले हैं। महिला के लापता होने के बाद आजाद का मोबाइल भी स्विच ऑफ था और जब ऑन किया गया तो उसकी लोकेशन वही थी, जहाँ महिला पड़ी मिली थी। आजाद महिला को अपने दोस्तों के साथ ले गया था और वह 2 दिन उनके साथ रही। आजाद के खिलाफ पहले से ही तीन आपराधिक मामले दर्ज हैं।

पुलिस के मुताबिक, महिला को पहले गाजियाबाद के एक सरकारी अस्पताल में मेडिकल जाँच के लिए ले जाया गया और फिर मेरठ जाने को कहा गया, लेकिन उसने दोनों जगहों पर मेडिकल जाँच कराने से इनकार कर दिया। उसके जिद करने पर उसे दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जाँच में पता चला कि पीड़िता ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर 5 लोगों को फँसाने की साजिश रची थी, जिनके खिलाफ वह पहले से ही जमीनी विवाद का केस लड़ रही है।

बता दें कि 18 अक्टूबर की सुबह करीब साढ़े तीन बजे नंदग्राम थाने को सूचना मिली कि आश्रम रोड पर एक महिला पड़ी है। पुलिस तुरंत मौके पर पहुँची और महिला को अस्पताल ले गई। महिला ने दावा किया था कि उसे 5 लोगों ने अगवा किया और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया, जिन्हें वह जानती है। इस मामले में पुलिस ने शाहरुख, शाहरुख के भाई जावेद, औरंगजेब, जहीर उर्फ ढोला और दीनू के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज किया था। उसके बयान के आधार पर पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार भी किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जगन्नाथ मंदिर में फेंका गया था गाय का सिर, वहाँ हजारों की भीड़ ने जुट कर की महा-आरती: पूछा – खुलेआम कैसे घूम...

रतलाम के जिस मंदिर में 4 मुस्लिमों ने गाय का सिर काट कर फेंका था वहाँ हजारों हिन्दुओं ने महाआरती कर के असल साजिशकर्ता को पकड़ने की माँग उठाई।

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -