Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजग्लास कांड: ससुराल वालों ने दामाद के पिछवाड़े में डाल दिया ग्लास - बिहार...

ग्लास कांड: ससुराल वालों ने दामाद के पिछवाड़े में डाल दिया ग्लास – बिहार का वो केस, जो है सोशल मीडिया पर वायरल

दामाद पवन ने बताया कि उसके सास, ससुर और साले ने मार कर पहले उसे बेहोश कर दिया, फिर पीछे से ग्लास घुसेड़ दिया। ससुराल में जो कुछ भी हुआ, उसके बाद पवन अपने घर तक साईकिल पर बैठ कर चलाने के बजाए खड़ा हो कर आया था।

सोशल मीडिया पर बिहार का ग्लास कांड नाम से एक घटना वायरल हो रही है। इस घटना के पीड़ित का आरोप है कि उसके ससुराल वालों ने उसके मलद्वार में ग्लास घुसेड़ दिया था। पीड़ित अपनी पत्नी को वापस ले जाने के लिए ससुराल गया था, जहाँ हुई कहासुनी के बाद उसके साले ने यह हरकत की। घटना 1 जनवरी 2023 की है। फ़िलहाल पीड़ित की हालत गंभीर है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला बिहार के मुजफ्फरपुर जिले का है। पीड़ित का नाम पवन दास है, जो साहेबगंज क्षेत्र के गाँव रामपुर का रहने वाला है। वह हैदराबाद की एक कम्पनी में काम करता था। दिसंबर 2022 में वह छुट्टी पर अपने घर आया था। उसकी पत्नी काफी समय से मायके गई थी, जिसे अपने घर ले जाने के लिए पवन दास 1 जनवरी 2023 को अपनी ससुराल गया था। अगले दिन 2 जनवरी को वह अकेले ही वापस लौटा। आरोप है कि इसी दौरान उसके साले ने किसी बात पर हुए विवाद में पवन दास के मलद्वार में ग्लास घुसेड़ दिया था।

पीड़ित के भाई का आरोप है कि 2 जनवरी को ससुराल से लौट कर पवन दास ने अपने पेट में दर्द की शिकायत की। पूछने पर पवन ने ठीक से शौच न कर पाने की तकलीफ बताई। पवन को उनके परिवार द्वारा दवाएँ दीं गई लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ। बाद में पवन को मुजफ्फरपुर अस्पताल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टरों ने उसे टीबी की बीमारी बताते हुए मेडिकल कॉलेज ले जाने की सलाह दी। जब मेडिकल कॉलेज में पवन दास का एक्सरे हुआ, तब पता चला कि उसके मलद्वार में ग्लास फँसा है।

पवन ने अपने परिवार से बताया कि उसकी ससुराल में सास, ससुर और साले ने मार कर पहले उसे बेहोश कर दिया, फिर पीछे से ग्लास घुसेड़ दिया। जो ग्लास अंदर पाया गया, वह स्टील का छोटा सा ग्लास है जो चाय पीने के लिए प्रयोग होता है। दावा ये भी है कि ससुराल में जो कुछ भी हुआ, उसके बाद भी पवन घर तक साईकिल से बैठ कर चलाने के बजाए खड़ा हो कर आया था।

20 जनवरी 2023 को पवन दास का ऑपरेशन किया गया। पीड़ित के भाई के मुताबिक इस बीच लगभग 20 दिन पवन दास को खाना नहीं दिया गया और शौच के तौर पर काफी मुश्किल से थोड़ा-बहुत जोर लगा के कर पाते थे।

खुद पीड़ित पवन का आरोप है कि उनके मलद्वार में ग्लास डालने से पहले ससुराल वालों ने उन्हें इंजेक्शन देकर बेहोश कर दिया था। उन्होंने कहा कि शोर मचाने पर कोई सुन नहीं पाया क्योकि आस-पास के लोग किसी के अंतिम संस्कार में गए थे। पवन के मुताबिक जब उन्हें इंजेक्शन लगाया गया, तब उनका शरीर ठंडा होने लगा था। पवन ने अपने साथ हुई हरकत में अपने साढ़ू डुगडुगी दास और ससुर शम्भू दास को आरोपित किया है। हालाँकि पवन ने खुद को नौटंकीबाज होना भी स्वीकार किया।

आरोपितों ने खुद को निर्दोष बताया

इस पूरे मामले में आरोपित परिवार ने खुद को बेगुनाह बतया है। आरोपितों का कहना है कि उनका दामाद पवन झूठ बोल रहा है। आरोपित रीना का कहना है कि अगर पवन के साथ ऐसा हुआ होता तो वो ससुराल वाले गाँव से अपने गाँव गया कैसे? आस-पास के लोगों ने पवन को बहुरुपिया बताते हुए ये सारी हरकत आरोपितों के ही परिवार द्वारा किया जाना बताया।

इस पूरे मामले में अभी तक बिहार पुलिस द्वारा किसी की भी गिरफ़्तारी नहीं की गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -