Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजगुजरात की 17 जेलों में 1700 पुलिसवालों का छापा, अतीक अहमद की जेल में...

गुजरात की 17 जेलों में 1700 पुलिसवालों का छापा, अतीक अहमद की जेल में 300 पहुँचे: चप्पे-चप्पे का लाइव टेलीकास्ट, 39 घातक हथियार बरामद

गुजरात पुलिस की तरफ से राज्य के अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, बड़ौदा, बनासकाठा, भावनगर, जामनगर, महेसाणा समेत 17 जेलों का औचक निरीक्षण किया गया। छापेमारी का लाइव टेलीकास्ट भी किया जा रहा था जिसे गाँधीनगर स्टेट कंट्रोल रूम में देखा जा रहा था।

गुजरात पुलिस की तरफ से शुक्रवार (24 मार्च 2023) की रात राज्य के 17 जेलों में बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन चलाया गया। इस ऑपरेशन की मॉनिटरिंग राज्य के गृहमंत्री हर्ष संघवी ने खुद की। अहमदाबाद के साबरमती जेल में लगभग 300 पुलिसकर्मियों ने सर्च ऑपरेशन चलाया। इसी जेल में माफिया अतीक अहमद भी कैद है। छापेमारी के दौरान कई मोबाइल फोन और मादक पदार्थ मिलने की बात कही जा रही है।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक राज्य भर की 17 प्रमुख जेलों में एक साथ मेगा सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया। ऑपरेशन में कुल 1700 पुलिसकर्मियों की मदद ली गई। टीम में एसओजी और लोकल क्राइम ब्राँच के ऑफिसर भी शामिल थे। बॉडी वियर कैमरों से लैश पुलिसकर्मियों ने जेल का चप्पा-चप्पा खंगाला। रात भर चले इस तलाशी अभियान की मॉनिटरिंग राज्य के गृहमंत्री हर्ष संघवी ने की। मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने भी सीएम डेशबोर्ड से रेड पर नजर रखी।

गुजरात पुलिस की तरफ से राज्य के अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, बड़ौदा, बनासकाठा, भावनगर, जामनगर, महेसाणा समेत 17 जेलों का औचक निरीक्षण किया गया। छापेमारी का लाइव टेलीकास्ट भी किया जा रहा था जिसे गाँधीनगर स्टेट कंट्रोल रूम में देखा जा रहा था।

बड़ा होने के कारण साबरमती जेल में 300 पुलिसकर्मियों ने छापेमारी की। माफिया अतीक अहमद भी इसी जेल में बंद है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक छापेमारी की खबर से उसकी नींद उड़ गई। कुछ दिन पहले खबरें आई थी कि अतीक अहमद जेल में मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहा था।

गुजरात में चलाए गए मेगा सर्च ऑपरेशन के दौरान 16 मोबाइल फोन, 10 इलेक्टॉनिक सामान, 39 घातक हथियार और 500 से अधिक नशीले पदार्थ पाए गए। पुलिस सुत्रों की मानें तो छापेमारी का मकसद जेल में अवैध गतिविधियों का पता लगाना और कैदियों को दी जा रही सुविधाओं का जायजा लेना था। बताया जा रहा है कि ऑपरेशन के दौरान पुलिस टीमों द्वारा कैदियों से बातचीत की गई और उनकी काउंसलिंग भी की गई।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

व्यभिचारी वैष्णव आचार्य, पत्रकार ने खोली पोल, अंग्रेजों के कोर्ट में मुकदमा… आमिर खान के बेटे को लेकर YRF-Netflix की बनाई फिल्म बहस का...

माँ भवानी का अपमान करने वाले को जवाब देने कारण हकीकत राय नामक बच्चे का खुलेआम सिर कलम कर दिया गया था। इस पर फिल्म बनाएगा बॉलीवुड? या सिर्फ वही 'वास्तविक कहानियाँ' चुनी जाती हैं जिनमें गुंडा कोई साधु-संत हो?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -