Sunday, May 19, 2024
Homeदेश-समाज'मुहम्मद का गुलाम आएगा, मस्जिद को पाक करेगा और फिर अजान की आवाज गूँजेगी':...

‘मुहम्मद का गुलाम आएगा, मस्जिद को पाक करेगा और फिर अजान की आवाज गूँजेगी’: मुफ्ती अजहरी पर एक और FIR, ‘कुत्तों का वक्त’ पर हुआ था गिरफ्तार

"हमारा ये यकीन है कि तुमने अगर नापाक किया किसी मस्जिद को तो मुहम्मद-ए-अरबी का कोई गुलाम आएगा। कोई गुलाम आएगा और मस्जिद को पाक करेगा और फिर अजान की आवाज गूँजेगी। कुछ दिनों की खामोशी है, फिर शोर आएगा, आज कुत्तों का वक्त है कल हमारा दौर आएगा।"

गुजरात के जूनागढ़ में भड़काऊ भाषण देने वाले मुफ्ती सलमान अजहरी के खिलाफ एक और FIR दर्ज की गई है। बताया जा रहा है कि मुफ्ती ने कच्छ की एक सभा में भी भड़काऊ बयान दिया था। इसको लेकर ही यह FIR दर्ज की गई है।

जानकारी के अनुसार, कच्छ में मुफ्ती अजहरी की तकरीर के आयोजक मामद खान को भी आरोपित बनाया गया है। वह समखियारी का रहने वाला है और उसने ही ‘धार्मिक तकरीर’ नाम के आयोजन के लिए प्रशासन से अनुमति ली थी। यहीं मुफ्ती सलमान अजहरी ने भड़काऊ भाषण दिया था। पुलिस और गुजरात ATS इस मामले की जाँच कर रही है।

यहाँ से सामने आए वीडियो में सलमान अजहरी कहता है, “हमारा ये यकीन है कि तुमने अगर नापाक किया किसी मस्जिद को तो मुहम्मद-ए-अरबी का कोई गुलाम आएगा। कोई गुलाम आएगा और मस्जिद को पाक करेगा और फिर अजान की आवाज गूँजेगी। कुछ दिनों की खामोशी है, फिर शोर आएगा, आज कुत्तों का वक्त है कल हमारा दौर आएगा।” इसके बाद वहाँ मौजूद भीड़ नारा-ए-तकबीर और अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगाती है।

कच्छ (पूर्वी) के एसपी सागर बागमार ने बताया है कि दोनों आरोपितों पर धारा 153(B) और 505(2) लगाई गई है। उन्होंने कहा, “हमने इस भड़काऊ भाषण की वीडियो वायरल होने के बाद मामला दर्ज किया है। वर्तमान में मुफ्ती सलमान अजहरी जूनागढ़ पुलिस की गिरफ्त में हैं। हम उसको यहाँ लाने के लिए वारंट जारी करवाएँगे।”

मुफ्ती अजहरी के भड़काऊ भाषण के विरुद्ध कच्छ के स्थानीय लोगों में काफी गुस्सा है। अखिल भारतीय संत समिति के अध्यक्ष मोहनदास महाराज ने मुफ्ती अजहरी की तकरीर का विरोध किया है और कार्रवाई की माँग की है। गुजरात ATS और जूनागढ़ पुलिस इस मामले में सोशल मीडिया समेत तमाम स्रोत से मुफ्ती के कच्छ वाले बयान के विषय में जानकारी इकट्ठा कर रही है। उससे जुड़े हुए तीन ट्रस्ट – जामिया रियाजुल जन्नाह, अल अमन एजुकेशन एंड वेलफेयर ट्रस्ट और दारुल अमन ट्रस्ट भी जाँच के घेरे में हैं।

मुफ्ती सलमान अजहरी के कुछ कट्टरपंथी संगठनों के साथ लिंक भी सामने आए हैं, जिनकी जाँच हो रही है। गौरतलब है कि मुफ्ती अजहरी को जूनागढ़ में एक भड़काऊ भाषण देने के लिए मुंबई से गिरफ्तार किया गया था। उसे गुजरात ATS ने गिरफ्तार किया था। उसकी गिरफ्तारी के दौरान कट्टरपंथियों ने बवाल भी काटा था।

जूनागढ़ में भी मुफ्ती सलमान अजहरी ने उगला था जहर

ऑपइंडिया ने सबसे पहले इस मामले की रिपोर्ट की थी। 20-22 सेकंड के वायरल वीडियो को सर्च करने पर हमें मुफ्ती सलमान अजहरी का वो भाषण मिला था, जो 53 मिनट का था। वायरल वीडियो इसी भाषण का एक छोटा सा हिस्सा थी। इस भाषण में मुफ्ती ने कई जगह भड़काऊ बातें कही थीं।

वीडियो को इस्लामिक चैनल ने पोस्ट किया था। इसमें वक्ता के तौर पर मुफ्ती सलमान अजहरी मंच पर दिख रहा था। यह कार्यक्रम गुजरात के जूनागढ़ में 31 जनवरी को हुआ था, जबकि वीडियो 1 फरवरी 2024 को अपलोड किया गया था। मुफ्ती सलमान अजहरी ने अपने भाषण में कहा था, “मस्जिद में बुत रखने से मस्जिद बुतखाना नहीं बन जाती। तुमने एक रखा है, काबा में 360 रखे थे, फिर भी काबा तो काबा ही रहा, न तवाफ रुका, न हज रुका।”

अपने भाषण में मुफ्ती ने कहा, “इंकलाब आपके घर से होगा। उनमें मस्जिदों को बुतखाना बनाने की हिम्मत नहीं है। आपने मस्जिदों को वीरान छोड़ दिया है और हमारे यहाँ मुहावरा है कि जब मैदान खुला होता है तो कुत्तों का राज होता है। यदि तुम मैदान में घूमते रहोगे तो कोई कुत्ते नहीं होंगे।”

भाषण के अंत में उसने कहा था, ”मुसलमानों घबराओ मत, अभी खुदा की शान बाकी है। अभी इस्लाम जिंदा है, अभी कुरान बाकी है, ऐ जालिम काफिर क्या समझता है जो रोज हमसे उलझता है, अभी तो कर्बला का आखिरी मैदान बाकी है। कुछ देर की खामोशी है, किनारा आएगा… आज कुत्तों का वक्त है, कल हमारा दौर आएगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -