Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाजअब गुरुग्राम से आया रोटी पर थूकने का वीडियो, ढाबा संचालक और रसोइया पर...

अब गुरुग्राम से आया रोटी पर थूकने का वीडियो, ढाबा संचालक और रसोइया पर FIR

पिछले दो महीनों के अंदर कई ऐसे केस आए हैं जब समुदाय विशेष के लोग विभिन्न अवसरों पर खाना बनाते समय उसमें थूकते हुए पकड़े गए हैं।

अब हरियाणा के गुरुग्राम से खाने में थूकने का एक मामला सामने आया है। रिपोर्ट्स के अनुसार पुलिस ने सेक्टर 12 के एक ढाबे के मालिक और रसोइया के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर ली है। वायरल हुए वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि खाना बनाने वाला एक व्यक्ति तंदूरी रोटी बनाते समय उन पर थूक रहा है। इस घटना के सामने आते ही सेक्टर 14 की पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए केस दर्ज किया है। हालाँकि ढाबे के मालिक और खाना बनाने वाले का नाम सार्वजनिक नहीं किया गया है।

पिछले दो महीनों के अंदर कई ऐसे केस आए हैं जब समुदाय विशेष के लोग विभिन्न अवसरों पर खाना बनाते समय उसमें थूकते हुए पकड़े गए। मार्च 2021 में गाजियाबाद में मोहसिन नाम का एक व्यक्ति गिरफ्तार किया गया था जो रोटियों में थूक रहा था। पूछताछ में उसने बताया कि वह कई सालों से गैर-मुस्लिमों के कार्यक्रमों में खाना बनाते समय थूकता आया है।

इसके अलावा दिल्ली से मोहम्मद खालिक, मोहम्मद इब्राहिम और अनवर को खाने में थूकते हुए पाया गया। इब्राहिम और अनवर सीलमपुर के एक होटल में काम करते थे और रोटी बनाते समय उसमें थूकने का उनका वीडियो वायरल हुआ था।

20 फरवरी को मेरठ पुलिस ने नौशाद को गिरफ्तार किया था जो एक शादी समारोह में खाना बनाते समय उसमें थूक रहा था। 18 फरवरी को उसका वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह तंदूरी रोटी बनाते समय थूकता हुआ दिखाई दिया।

उत्तर प्रदेश के शामली में भी रोटी बनाते समय थूकने का मामला सामने आया था। इस घटना में आरोपित को गिरफ्तार तो किया गया था, लेकिन उसकी पहचान सार्वजनिक नहीं की गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

‘दविंदर सिंह के विरुद्ध जाँच की जरूरत नहीं…मोदी सरकार क्या छिपा रही’: सोशल मीडिया में किए जा रहे दावों में कितनी सच्चाई

केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ कई कॉन्ग्रेसियों, पत्रकारों, बुद्धिजीवियों ने सोशल मीडिया पर दावा किया। लेकिन इनमें से किसी ने एक बार भी नहीं सोचा कि अनुच्छेद 311 क्या है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,620FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe