Friday, January 21, 2022
Homeदेश-समाजफोन पर लगातार सम्पर्क में थे हाथरस पीड़िता का भाई और मुख्य आरोपित, कॉल...

फोन पर लगातार सम्पर्क में थे हाथरस पीड़िता का भाई और मुख्य आरोपित, कॉल विवरण में खुलासा- 104 बार हुई थी दोनों में बातचीत

कॉल रिकॉर्ड बताते हैं कि दो फोन नंबरों के बीच 62 आउटगोइंग कॉल और 42 इनकमिंग कॉल थे। कुल मिलाकर 104 कॉल किए गए थे। पुलिस के अनुसार, कॉल रिकॉर्ड से पता चलता है कि पीड़िता और मुख्य आरोपित संपर्क में थे।

हाथरस मामले को लेकर एक और खुलासा हुआ है। जाँच के दौरान पीड़िता के भाई की कॉल डिटेल (CDR) से खुलासा हुआ कि उसकी मुख्य आरोपित संदीप से फोन पर बात होती थी। कॉल डिटेल और लगातार बदलते बयानों के कारण हाथरस पीड़िता के परिवार पर सवाल उठ रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने हाथरस पीड़िता के भाई से पूछताछ की माँग की है। उन्होंने कहा है कि आरोपित और पीड़ित परिवार के बीच कई फोन कॉल हुए। टाइम्स नॉउ द्वारा एक्सेस किए गए कॉल रिकॉर्ड के अनुसार, अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 के बीच लड़की के भाई के नाम से रजिस्टर्ड फोन नंबर से 100 से अधिक फोन कॉल किए गए थे।

19 वर्षीय पीड़िता का भाई कथित तौर पर आरोपित के संपर्क में था। अमित मालवीय ने कहा कि यह मामला आपसी रंजिश का परिणाम हो सकता है।

समाचार चैनल ‘टाइम्स नॉउ’ से बात करते हुए मालवीय ने कहा कि क्या यह पीड़िता का भाई था या फिर कोई और था, जो यह बातें कर रहा था। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों की उचित जाँच के बाद ही बातचीत का स्वरूप सामने आ पाएगा। वो कहते हैं कि जो कुछ सामने दिख रहा है, उससे काफी कुछ ज्यादा है इस मामले में।

मीडिया चैनल ने बताया कि यह बातचीत पीड़िता के परिवार के एक सदस्य और मुख्य आरोपित संदीप के बीच हुई है। कुछ कॉल रिकॉर्ड बताते हैं कि यह बातचीत 15 मिनट तक चली।

हाथरस पीड़िता और मुख्य आरोपित के बीच 104 कॉल

वहीं इंडिया टुडे का कहना है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने पीड़ित के परिवार और मुख्य आरोपित के फोन की जाँच की है। उन्होंने पाया कि पीड़िता मुख्य आरोपित के साथ लगातार टेलीफोनिक संपर्क में थी। पुलिस के मुताबिक, जाँच में पता चला है कि संदीप को पीड़िता के भाई सत्येंद्र के नाम से एक नंबर से नियमित रूप से कॉल आए।

सत्येंद्र के नंबर 989xxxxx और संदीप के 76186xxxxx के बीच 13 अक्टूबर, 2019 से टेलीफोनिक बातचीत शुरू हुई। अधिकांश कॉल चंदपा क्षेत्र में स्थित और मोबाइल टॉवरों से किए गए थे, जो पीड़ित के गाँव बूलगढ़ी से मुश्किल से 2 किमी दूर है।

कॉल रिकॉर्ड बताते हैं कि दो फोन नंबरों के बीच 62 आउटगोइंग कॉल और 42 इनकमिंग कॉल थे। कुल मिलाकर 104 कॉल किए गए थे। पुलिस के अनुसार, कॉल रिकॉर्ड से पता चलता है कि पीड़िता और मुख्य आरोपित संपर्क में थे।

इससे पहले ‘Zee News’ में विशाल पांडेय की ग्राउंड रिपोर्ट में दावा किया था कि उसके पास वो कॉल रिकार्ड्स हैं, जिसके आधार पर पता चलता है कि आरोपित संदीप और पीड़ित परिवार के बीच घंटों बातचीत होती थी। खबर में कहा गया था कि उक्त नंबर पर अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 के बीच दोनों के बीच 5 घंटों की बातचीत हुई थी। वहीं पीड़िता के बड़े भाई ने परिवार के आरोपित संदीप से बातचीत होने की बात से इनकार किया था।

गौरतलब है कि यूपी सरकार ने मंगलवार (अक्टूबर 06, 2020) को सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर कर माँग की है कि उसे यूपी के हाथरस में लड़की से कथित बलात्कार और हमले की CBI जाँच का निर्देश देना चाहिए जिससे यह सुनिश्चित होगा कि कोई निहित स्वार्थ से गलत और झूठे विमर्श नहीं रच पाएगा। सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में यूपी सरकार की माँग है कि PIL पर सुनवाई की जगह अदालत को CBI जाँच की निगरानी करनी चाहिए।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सपा सरकार है और सीएम हमारी जेब मैं है, जो चाहेंगे वही होगा’: कॉन्ग्रेस को समर्थन का ऐलान करने वाले तौकीर रजा पर बहू...

निदा खान कॉन्ग्रेस के समर्थक मौलाना तौकीर रजा खान की बहू हैं। उन्हें उनके शौहर ने कहा था कि वो नहीं चाहते कि परिवार की महिलाएं पढ़े।

शहजाद अली के 6 दुकानों पर चला शिवराज सरकार का बुलडोजर, कार्रवाई के बाद सुराना गाँव के हिंदुओं ने हटाई मकान बेचने वाली सूचना

मध्य प्रदेश प्रशासन की कार्रवाई के बाद रतलाम में हिंदू समुदाय ने अपने घरों पर लिखी गई मकान बेचने की सूचना को मिटा दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,458FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe