Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाज'जिहादियों 30 दिन में हिमाचल प्रदेश छोड़कर चले जाओ': चंबा में हिंदुओं का प्रदर्शन,...

‘जिहादियों 30 दिन में हिमाचल प्रदेश छोड़कर चले जाओ’: चंबा में हिंदुओं का प्रदर्शन, मुस्लिम लड़की से प्यार करने पर मनोहर के कर दिए थे 8 टुकड़े

"हिमाचल प्रदेश में घूम रहे जिहादी मानसिकता के लोगों को 30 दिन का समय देते हैं। तुम्हारे पास 30 दिन का समय है। 30 दिन में हिमाचल प्रदेश छोड़कर चले जाओ, नहीं तो उसके बाद जो होगा उसके जिम्मेदार तुम खुद होगे।"

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले के संघणी में हुई मनोहर लाल की जघन्य हत्या के विरोध में हिंदू एकजुट होकर न्याय की माँग कर रहे हैं। इसको लेकर गुरुवार (22 जून, 2023) को विभिन्न हिंदू संगठन के सदस्यों ने सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया। साथ ही जिहादियों को 30 दिन के भीतर प्रदेश छोड़ने का अल्टीमेटम भी दिया है।

इस विरोध प्रदर्शन में संघणी हत्याकांड संघर्ष समिति के बैनर तले बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद, हिंदू जागरण मंच, ब्राह्मण प्रतिनिधि सभा, सिप्पी कल्याण सभा, वाल्मिकी सभा, व्यापार मंडल चंबा के सदस्य शामिल रहे। प्रदर्शन में शामिल लोग मनोहर लाल की हत्या मामले की सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट के बनाने और आरोपितों को फाँसी की सजा देने की माँग कर रहे थे। लोगों ने पुलिस और प्रशासन के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की।

चंबा के चौहरा बाँध के पास पुलिस ने बैरिकेडिंग की थी। इसको हटाने को लेकर राष्ट्रीय देवभूमि पार्टी प्रमुख और कार्यकर्ताओं तथा पुलिस के बीच जमकर बहस हुई। पुलिस ने धारा 144 का हवाला देते हुए आक्रोशित लोगों को आगे जाने की अनुमति देने से इनकार कर दिया। इसके बाद भी संघणी जाने की जिद पकड़े हिंदू शाम 5 बजे तक छौहारा में ही डटे रहे।

विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे हिंदू संगठन के सदस्य कमल गौतम का कहना है कि मनोहर लाल की हत्या एक बेहद क्रूर घटना है। यह हिमाचल प्रदेश में हिंदू समुदाय पर सीधा हमला है। यह बर्दाश्त करने लायक नहीं है। उन्होंने कहा, “यह कोई सामान्य हत्या नहीं थी। इसलिए हम मनोहर लाल की हत्या के पीछे की साजिश को सामने लाने के लिए एनआईए या किसी अन्य केंद्रीय एजेंसी से जाँच की माँग करते हैं।”

बता दें कि गुरुवार (22 जून 2023) को राष्ट्रीय देवभूमि पार्टी के प्रमुख रुमित ठाकुर ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया था। इस पोस्ट में उन्होंने कहा था कि मनोहर लाल की हत्या करने वालों के नाम सार्वजनिक रूप से सामने नहीं आए हैं। इसलिए वह धारा 144 तोड़कर पीड़ित परिवार से मिलेंगे। इसके बाद उसी दिन सुबह करीब साढ़े 11 बजे वह अपने कार्यकर्ताओं के साथ तुन्नुहट्टी पहुँचे। लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया।

इस विरोध प्रदर्शन के कई वीडियो सामने आए हैं। इसमें से एक वीडियो में हिंदू संगठन के एक नेता ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा है, “ज इस ऐतिहासिक विरोध में मैं हिमाचल प्रदेश के संपूर्ण हिंदू समाज से आह्वान करने यहाँ आया हूँ। हिमाचल प्रदेश में घूम रहे जिहादी मानसिकता के लोगों को 30 दिन का समय देते हैं। तुम्हारे पास 30 दिन का समय है। 30 दिन में हिमाचल प्रदेश छोड़कर चले जाओ, नहीं तो उसके बाद जो होगा उसके जिम्मेदार तुम खुद होगे।” चंबा के डिप्टी कमिश्नर अपूर्व देवगन ने कहा है कि प्रदर्शनकारियों ने उन्हें एक ज्ञापन सौंपा है। प्रदर्शनकारी केंद्रीय एजेंसियों से जाँच की माँग कर रहे हैं।

क्या है मामला

21 वर्षीय मनोहर 6 जून 2023 को लापता हो गया था। उसका शव पुलिस ने 9 जून 2023 को चंबा के सलूनी इलाके के एक नाले से बरामद किया। शव के 8 टुकड़े किए गए थे। आरोप है कि रुखसाना नाम की लड़की से प्यार करने की वजह से मोहम्मद शरीफ और उसके साथियों ने पहले मनोहर को बेरहमी से पीटा और बाद में लाश को टुकड़ों में काटकर नाले में फेंक दिया। इस मामले में अभी तक कुल 11 गिरफ्तारियाँ की गईं हैं। घटना से नाराज लोगों ने आरोपितों के घर में आग भी लगा दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

SRH और KKR के मैच को दहलाने की थी साजिश… आतंकियों ने 38 बार की थी भारत की यात्रा, श्रीलंका में खाई फिदायीन हमले...

चेन्नई से ये चारों आतंकी इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट से आए थे। इन चारों के टिकट एक ही PNR पर थे। यात्रियों की लिस्ट चेक की गई तो...

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -