Monday, April 22, 2024
Homeदेश-समाजCCTV में कैद हुए कमलेश तिवारी के संदिग्ध हत्यारे, सीने और ठोड़ी पर किए...

CCTV में कैद हुए कमलेश तिवारी के संदिग्ध हत्यारे, सीने और ठोड़ी पर किए 15 से ज़्यादा वार

सीसीटीवी फुटेज में कैद हुई तस्वीर में देखा जा सकता है कि दोनों आरोपित भगवा रंग का कुर्ता पहनकर कमलेश तिवारी के कार्यालय में गए। इसके बाद दोनों ने मौक़ा देखकर उनके सीने और ठोड़ी पर चाकू से 15 से ज्यादा वार किए।

उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ से हिन्दू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की निर्मम हत्या की खबर ने आज सबको झकझोर के रख दिया। दिन दहाड़े उनके कार्यालय में उनपर चाकू से हमला करके उनका गला रेतकर आरोपित फरार हो गए। जिसके बाद पुलिस ने हत्यारों की खोज करने के लिए सीसीटीवी खँगाले और हाथ लगा दोनों बदमाशों का हूलिया। अब पुलिस सामने आई इस फुटेज के आधार पर इनकी तलाश कर रही है।

सीसीटीवी फुटेज में कैद हुई तस्वीर में देखा जा सकता है कि दोनों आरोपित भगवा रंग का कुर्ता पहनकर कमलेश तिवारी के कार्यालय में गए। इसके बाद दोनों ने मौक़ा देखकर उनके सीने और ठोड़ी पर चाकू से 15 से ज्यादा वार किए। बाद में दोनों फरार हो गए।

यहाँ बता दें कि पहले खबर आ रही थी कमलेश तिवारी को गोली मारी गई, लेकिन डॉक्टरों ने साफ किया कि उनकी हत्या किसी धारधार हथियार से हुई। उधर पुलिस ने मौक़े से एक रिवॉल्वर भी बरामद की हैं। शुरुआती जाँच में कहा गया कि ये हत्या किसी परिचित द्वारा की गई है, लेकिन वास्तविकता हत्यारों के पकड़े जाने के बाद ही पता चलेगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने बताया है कि हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया है। मामले में सख्ती से जाँच जारी हैं।

लेकिन, फिलहाल कमलेश के समर्थकों ने बाग कालोनी में प्रदर्शन शुरू कर दिया है और स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए भारी संख्या में पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई हैं।

बता दें कि इस हमले के बाद कमलेश को ट्रॉमा सेंटर ले जाकर बचाने की खूब कोशिश हुई लेकिन इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

उल्लेखनीय है हिन्दू महासभा के अध्यक्ष रहे कमलेश तिवारी को पैगंबर मोहम्मद साहब के ख़िलाफ़ टिप्पणी करने के मामले में रासुका के तहत गिरफ्तार किया गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिमों के लिए आरक्षण माँग रही हैं माधवी लता’: News24 ने चलाई खबर, BJP प्रत्याशी ने खोली पोल तो डिलीट कर माँगी माफ़ी

"अरब, सैयद और शिया मुस्लिमों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। हम तो सभी मुस्लिमों के लिए रिजर्वेशन माँग रहे हैं।" - माधवी लता का बयान फर्जी, News24 ने डिलीट की फेक खबर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe